googlenews
Vineeta Singh

Vineeta Singh, एक ऐसा नाम जिसने न सिर्फ बिजनेस की दुनिया में अपनी पहचान बनाई है बल्कि लाखों लड़कियों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत भी हैं। सोनी टीवी पर आने वाले शो ‘शार्क टैंक इंडिया’ में विनीता जज की भूमिका में नजर आने वाली हैं। उन्हें इस मुकाम तक पहुंचाने में उनके स्टार्टअप ‘शुगर कॉस्मेटिक्स’ की सफलता को श्रेय जाता है। विनीता शुरूआती दौर से ही अपने सपनों के प्रति सजग रही हैं, उनमें न सिर्फ कुछ कर दिखाने का जज्बा रहा है बल्कि सफलता के शिखर तक पहुंचने को ही उन्होंने अपना लक्ष्य माना है। यह एक बड़ा कारण था कि सालाना एक करोड़ मिलने वाली नौकरी को दरकिनार कर उन्होंने स्टार्टअप की राह चुनी। इसी के चलते विनीता 2007 में द वीक के कवर पर आई थीं।

एक के बाद एक तीन स्टार्टअप

continues 3 start ups - vineeta singh
Vineeta Singh: शुगर कॉस्मेटिक्स से चढ़ी सफलता की सीढ़ियां 5

विनीता सिंह ने साल 2005 में आईआईटी मद्रास से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में बी.टेक. की डिग्री हासिल की। अपना बिजनेस शुरू करने की इच्छा थी तो आईआईएम अहमदाबाद से एमबीए किया। बड़ी कंपनी में नौकरी की लेकिन अपना खुद का स्टार्टअप करने की इच्छा मन में बनी रही। इसी के चलते जब उन्होंने सालाना एक करोड़ की नौकरी ठुकराई तो हर तरफ इसकी चर्चा शुरू हो गई।

विनीता ने एक एचआर सर्विस कंपनी और ब्यूटी सब्सक्रिप्शन स्टार्टअप शुरू किया लेकिन ये दोनों स्टार्टअप उतने सफल नहीं हुए जितना विनीता ने सोचा था। एचआर सर्विस कंपनी में अपने 5 साल देने के बाद उन्होंने 2012 में अपना दूसरा स्टार्टअप फैबबैग शुरू किया था। विनीता ने साल 2015 में आईआईएम के पूर्व छात्र और पति कौशिक मुखर्जी के साथ शुगर कॉस्मेटिक्स कंपनी शुरू किया। अपने एक इंटरव्यू में खुद विनीता ने बताया, “मैं हमेशा से ऐसा कुछ शुरू करना चाहती थी जिसमें महिलाएं मुख्य ग्राहक हों, जब मेरा फर्स्ट स्टार्टअप उतना सफल नहीं हुआ तो मैंने अपने को-फाउंडर कौशिक के साथ 2012 में एक ब्यूटी सब्सक्रिप्शन कंपनी खोलने का फैसला किया। वे 2,00,000 महिलाएं जिन्होंने अपनी सौन्दर्य चुनाव की जानकारी हमसे साझा की, वही शुगर कॉस्मेटिक्स का मुख्य भाग हैं, जिसके चलते 2015 में ये डायरेक्ट मेकअप ब्रांड लांच हुआ।”

स्टार्टअप शुरू करने को लेकर विनीता कहती हैं, “इंटरप्रेन्योर बनने को लेकर मैं बहुत पैशनेट थी, साथ ही इस बात से बेखबर थी कि आखिर मैं करना क्या चाहती हूं। मैं खुश हूं कि मैंने ये खतरा उसी समय उठाया क्योंकि इंटरप्रेन्योरशिप एक ऐसी चीज है जिसमें किसी भी तरह की सफलता पाने से पहले आप कई बार लड़खड़ाते हैं, फेल भी होते हैं। अगर मैं देर में भी शुरू करती तब भी वो गलतिययां करने में उतना ही समय लगाती, और मुझे नहीं लगता कि इस प्रोसेस से बचने का कोई भी तरीका है।”  

माता-पिता का रहा प्रभाव

parent's support - vineeta singh
Vineeta Singh: शुगर कॉस्मेटिक्स से चढ़ी सफलता की सीढ़ियां 6

विनीता दो बच्चों की मां हैं और उनके पति कौशिक मुखर्जी शुगर कॉस्मेटिक्स के को-फाउंडर भी हैं। उनके जीवन पर उनके माता-पिता का अत्यधिक प्रभाव रहा है। उनके पिता तेज सिंह एम्स में साइंटिस्ट थे। अपने पिता के विषय में सिंह कहती हैं, “वे साल के 365 दिन काम करते थे, रविवार को भी। जब मैं बच्ची थी तो उन्हें डिनर करके वापस लैब जाते देखती थी। उनके जीवन का लक्ष्य 600 प्रोटीन स्ट्रक्चर की खोज करना था।

मुझे उनका ये जूनून कभी समझ नहीं आया। मैं उनसे बहस किया करती थी कि कितना अजीब है 600 के बारे में सोचना जब आप सालभर में सिर्फ 15 ढूंढ पा रहे हों। लेकिन, उन्होंने आखिरकार 30 साल बाद अपना टारगेट पूरा कर लिया। मैंने उनसे सवाल किया कि अपना लक्ष्य पाकर कैसा लगता है? अब पीछे हटेंगे? अब रिटायर होना है? नहीं, बल्कि उन्होंने कहा कि अभी तो बहुत कुछ करना है और खोज करनी है, वे उतने ही उत्सुक थे जितने पहले दिन थे। मैं अब उनको समझ रही हूं, क्योंकि मैं भी शुगर के लिए वही महसूस करती हूं।”

यह कम ही लोग जानते हैं कि विनीता सिंह एक एथलीट भी रह चुकी हैं। वे तीसरी भारतीय महिला रही हैं जिन्होंने 89 किमी कॉमरेड्स अल्ट्रा मेराथोन को लगातार दो साल पूरा किया है। वे बताती हैं, “उस सब भागदौड़ ने मुझे मेरे करियर के प्रति और अधिक दृण बनाया है। मेरी इस हॉबी या कहूं पैशन ने मुझे अपने करियर की तरफ और अधिक दृण निश्चयी किया है क्योंकि एक अल्ट्रा मेराथोनर होने के लिए आपको बाकि सबसे कुछ अधिक दृण होना पड़ता है।” अपने दौड़ने और माता पिता के उसपर पड़े असर पर विनीता कहती हैं, “मेरे  माता-पिता का इसपर बहुत प्रभाव रहा है। वे दोनों ही पीएचडी किए हुए हैं और उन्होंने अपने और मेडिकल रिसर्च के लिए बहुत कुछ किया है। वे मुझे बुरे ग्रेड्स के साथ कभी घर नहीं आने देते थे। बड़े होते-होते 23 साल की उम्र तक मेरे पास कोई ऑप्शन नहीं था सिवाय इसके कि शैक्षिक तौर पर अच्छा करूं। ये मेहनत और दृणता मुझे अपनी परवरिश से ही मिली है।”

शुगर कॉस्मेटिक्स की सफलता

विनीता सिंह की कंपनी शुगर कॉस्मेटिक्स ने वित्तीय वर्ष 2019-20 में 100 करोड़ रूपए का रेवेन्यु किया था। अपने शुरूआती दिनों में जहां कंपनी महीने में 2 करोड़ रुपये की बिक्री कर रही थी वहीं, अब एक दिन में 2 करोड़ रूपए कमा रही है। यह कीमत सिंह को मिलने वाली सालाना एक करोड़ की नौकरी से भी ज्यादा है।

विनीता कहती हैं, “मैं सिर्फ 23 साल की थी जब मैंने उस नौकरी के ऑफर को ठुकराया था। मैं सचमुच निश्चित नहीं थी कि क्या करने जा रही हूं, मेरी बहुत सी आशंकाएं भी थीं, लेकिन जीवन में मेरी एक फिलोसफी रही है कि मैं कभी भी अफसोस के साथ नहीं जीना चाहती। मैं इंटरप्रेन्योर बनने को लेकर भी बहुत पैशनेट थी। मैं बस यह बात जानती थी कि अगर मैंने अभी ये नहीं किया तो मुझे उम्रभर इसका पछतावा रहेगा। मैं बस अपने सपनों को पाने निकल गई।”

Leave a comment