इंडिया रनवे फैशन वीक
 
‘प्यार का पंचनामा’, ‘लव सेक्स और धोखा’, ‘कल किसने देखा’ जैसी फिल्में कर चुकी नुसरत भरूचा को असल पहचान उनकी फिल्म ‘सोनू के टीटू की स्वीटी’ से मिली है और यही वजह है की अब वो हर फैशन डिज़ाइनर की भी पहली चॉइस बनती जा रही हैं। हाल ही में नुसरत ने नई दिल्ली के साकेत स्थित डीएलएफ माॅल में आयोजित इंडिया रनवे फैशन वीक के 10वें सीजन के लिए डिजाइनर कविता अग्रवाल के लिए रैंप पर कैटवाॅक कर लोगों को झुमा दिया। उनकी मौजूदगी भर ने माहौल को ग्लैमरस बना दिया था । डिजाइनर कविता के आउफिट में नुसरत किसी हूर से कम नहीं लग रही थीं।
 
इंडिया रनवे फैशन वीक

कविता अग्रवाल का यह नया कलेक्शन प्राचीन सजावटी कला पिएट्रा डुरा का अनोखा रूप है, जिसे अक्सर ‘पत्थर में चित्रों’ के रूप में जाना जाता है। पिएट्रा डुरा को रोमन और मुगलों के रूप में समय और स्थान के हिसाब से अपने राज्यों से इतर भी काफी बढ़ावा दिया गया था। पिएट्रा डुरा की जीवंतता और समय्र के पुराने प्रारूप के लिए उसका यह ब्राइडल कलेक्शन एक मनोरम योगदान है।

कविता के एसेंबल्स में एंब्रायडरी की कढ़ाई पिएट्रा डुरा की एक अनूठी प्रतिकृति है, क्योंकि उसके सौंदर्यशास्त्र में इतनी ज्यादा तकनीक का प्रयेाग नहीं है।