googlenews

कार्ड नॉट्स  टैंगल्स

यह क्या हैकई बार गर्भ नाल में गांठ पड़ जाती है या वह शिशु के आसपास लिपट जाती है। कुछ गांठें डिलीवरी के दौरान या फिर गर्भावस्था में शिशु के हिलने से पड़ती हैं। यदि यह गांठ ढीली है तो कोई दिक्कत नहीं होती लेकिन इसके कसने पर शिशु को रक्त प्रवाह व ऑक्सीजन मिलने में बाधा आती है ऐसा बहुत कम होता है लेकिन तभी होता है जब शिशु बर्थ कैनाल से नीचे आ रहा हो।

यह कितना सामान्य हैहर 100 में से 1 मामले में ऐसा होता है लेकिन गांठ ढीली होती है। कोई 2000 में से 1 मामला ऐसा होता है जब गांठ कसने की वजह से परेशानी खड़ी हो जाती है। इससे शिशु को कोई खतरा नहीं होता।जो शिशु अपनी गैस्टेशनल आयु से अधिक होते हैं या जिनकी गर्भ नाल बड़ी होती है,उनके लिए इसका खतरा ज्यादा होता है।शोधकर्ताओं ने पता लगाया है कि पर्याप्त पोषक की कमी, मादक द्रव्यों से, जुड़वां शिशु होने आदि से यह खतरा काफी बढ़ जाता है।

इसके संकेत  लक्षण क्या हैं37वें सप्ताह के बाद शिशु की हलचल घटना ही इसका सबसे बड़ा लक्षण है। यदि ऐसा प्रसव के दौरान होगा तो शिशु के मॉनीटर पर अनियंत्रित हृदयगति का पता चलने लग जाएगा।

आप  आपके डॉक्टर क्या कर सकते हैं? यदि आप शिशु की गतिविधियों पर नजर रखें तो बेहतर होगा। यदि डिलीवरी के दौरान ऐसी गांठ पड़ जाए तो डॉक्टर शिशु की सुरक्षित डिलीवरी के लिए कोई न कोई कदम उठाएँगे।कई बार सी-सैक्शन ही सबसे बेहतर उपाय होता है।

टूवैसल कॉर्ड

यह क्या हैएक सामान्य गर्भ नाल में तीन रक्त नलिकाएं होती हैं पहली, जो शिशु तक ऑक्सीजन व पोषण पहुँचाती हैं तथा बाकी दो,व्यर्थ पदार्थ को माँ के रक्तप्रवाह व प्लेसेंटातक पहुँचाती है कुछ मामलों में एक वेन तथा एक आर्टरी ही होती है।

यह कितना सामान्य है1 प्रतिशत सिंगल व 5 प्रतिशत मल्टीपल प्रेगनेंसी के मामलों में ऐसा होता है। यदि माँ की उम्र 40 से ज्यादा हो या उसे मधुमेह हो तो खतरा और भी बढ़ जाता है। इसके संकेत व लक्षण क्या हैं? इसके कोई संकेत या लक्षण नहीं होते। केवल अल्ट्रासाउंड जांच से ही इसका पता चलता है।

आप  आपके डॉक्टर क्या कर सकते हैं? ऐसा होने पर भी गर्भावस्था सामान्य रहती है तथा शिशु को कुछ नहीं होता अतः चिंता न करें। केवल आपकी गर्भावस्था व शिशु की बढ़त पर थोड़ा ज्यादा ध्यान दिया जाता है।

यह भी पढ़ें –शिशु को पर्याप्त पोषण न मिलने पर बन सकती है आई.यू.जी.आर की स्थिति