googlenews
महिला स्वास्थ्य

इस साल हमारी सेहत से जरूरी हमें कुछ नहीं लगा है। अत: हम अपने स्वास्थ्य को लेकर पहले से कई गुणा ज्यादा सचेत हो चुके हैं। अब हम अपने स्वास्थ्य के मामले में कोई लापरवाही नहीं बरतना चाहते हैं। अत: यदि हमें थोड़ी सी भी स्वास्थ्य में कोई समस्या हो जाती है तो हमें बहुत अधिक चिंता होने लगती है, जिनमें से बहुत सी समस्याएं साधारण भी होती हैं। आपका अपने स्वास्थ्य के प्रति इतना सचेत होना तो बनता भी है। यदि आपको कुछ साधारण समस्याएं हैं, जिन्हें आप घर पर भी ठीक कर सकते हैं। उनके इलाज आप कुछ घरेलू उपायों से भी कर सकते हैं। 

सांसों से गंदी बदबू आना

ऑयल पुल्लिंग को करें ट्राई : यदि आपके साथ काम करने वाले आपसे दूर-दूर भागते हैं और इसका कारण आपकी सांसों से आने वाली गंदी बदबू है तो आप ऑयल पुल्लिंग ट्राई कर सकते हैं। दिन में 2 बार ब्रश करें परन्तु ब्रश करने से पहले 20 मिनट के लिए नारियल के तेल से ऑयल पुल्लिंग करें। 

सर्दी व जुखाम

ट्राई करें गहरे व हरे पत्ते : यदि आपको सर्दी या जुखाम हो जाता है तो आपको विटामिन-सी व हरे पत्तों से युक्त चीजें खानी चाहिए। इनसे आप जल्द ही बीमार नहीं होंगे। यह चीजें आपकी इम्यूनिटी को भी मजबूत बनाएंगी। 

पीएमएस

मैग्नेशियम ट्राई करें : पीएमएस की समस्या से बहुत सी महिलाओं को गुजरना पड़ता है। यदि आप भी उनमें से एक हैं तो मैग्नेशियम से भरपूर चीजें जैसे पालक, ब्रोकली आदि खाएं। 

पाचन मे दिक्कत

पुदीना खाएं : यदि आपको भी कोई चीज पचाने में दिक्कत महसूस हो रही है तो आप पुदीने का तेल इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे उल्टी व पेट दर्द भी ठीक हो जाता है। 

कमजोर नाखून

नारियल के तेल से करें मसाज : यदि आपके नाखून बहुत कमजोर हैं और जल्दी टूट जाते हैं तो कृत्रिम मॉइश्चराइजर की जगह नारियल के तेल से मसाज करें।

चिंता होना

मेडिटेशन ट्राई करें: यदि आप भी दिन भर चिंता व स्ट्रेस से परेशान रहते हैं तो आपको ध्यान केंद्रित करना व योगा जैसी चीजों का सहारा लेना चाहिए। 

रूखी त्वचा

शहद ट्राई करें : यदि आपकी स्किन बहुत रूखी और फटी हुई है और खास कर सर्दियों में ऐसा होता है तो शहद का प्रयोग करें।

सिर दर्द के लिए

करें एक्युपंचर का इस्तेमाल : यदि आपको हर दिन बहुत तेज सिर दर्द होता है और आप दवाइयां आदि नहीं खाना चाहते हैं तो एक्युपंचर का प्रयोग कर सकते हैं।

पुदीने के तेल का प्रयोग करें : यदि सिर के दर्द से छुटकारा पाना चाहते हैं तो अपनी स्किन पर पिपरमेंट तेल का प्रयोग कर सकते हैं। 

वजन से सम्बन्धित समस्या

अच्छे फैट्स का प्रयोग करें : यदि आप वजन बढ़ाने की सोच रहे हैं तो आपको अच्छे फैट्स खाने की आवश्यकता है। याद रखें की शुगर व खराब फैट्स न खाएं। 

महिला स्वास्थ्य

पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द

विटामिन डी प्रयोग करें : यदि आपको भी अपनी मेंस्ट्रूअल साइकिल के दौरान बहुत दर्द होता है तो आपको विटामिन डी से युक्त चीजें खानी चाहिए। 

लोअर बैक में दर्द

पिलेट्स ट्राई करें : यदि आप भी कमर दर्द से बहुत परेशान रहते हैं और अपनी कमर की हड्डी को मजबूत बनाना चाहते हैं तो पिलेट्स एक्सरसाइज को ट्राई करें।

एग्जिमा के लिए

मैग्नेशियम बाथ लें : मैग्नेशियम बाथ एग्जिमा की समस्या को ठीक करने के लिए सहायक माना जाता है।

महिला स्वास्थ्य

स्ट्रेस के लिए

अवॉइड करें कैफीन : यदि आपको हर समय स्ट्रेस रहती है और आप कभी खुश नहीं रहते हैं तो आप को कैफीन का सेवन छोड़ देना चाहिए।

कमजोर मसल्स के लिए

आइस थेरेपी का प्रयोग करें : यदि आप अपनी मसल्स को मजबूत बनाना चाहते हैं तो आइस थेरेपी का सहारा ले सकते हैं।

 गठिया के लिए

हल्दी का प्रयोग करें : हल्दी आपके गठिया व जोड़ों के दर्द को ठीक करने में बहुत सहायक मानी जाती है। यह सूजन उतारने में भी मदद करती है।

यूटीआई के लिए

करें लीवर डिटॉक्सीफाई : यूटीआई में दवाइयों के साथ-साथ आपको अपने लीवर को भी डिटॉक्सीफाई कर लेना चाहिए ताकि अंदर से सारा गंद निकल जाए।

क्रैनबेरी जूस का प्रयोग : दवाइयों व डिटॉक्सीफाई करने के साथ-साथ आप यूटीआई के दौरान क्रैनबेरी जूस भी पीना चालू कर सकते हैं।

हैंगोवर के लिए

नारियल पानी पिएं : यदि आपको अपना हैंगोवर करना है तो नारियल का पानी पीना बहुत सहायक सिद्ध हो सकता है।

सिर का चक्कर

बसिल का प्रयोग करें : यदि आपको भी चक्कर आते हैं तो बासिल की पत्तियों को पानी में उबाल कर उनकी भाप लेनी चाहिए।

धूम्रपान करने की लत

एक्सरसाइज करें : यदि आप धूम्रपान करना छोड़ना चाहते हैं और आपका मन कर रहा है तो रोज एक्सरसाइज करें।

महिला स्वास्थ्य

जी मिचलाना

प्रयोग करें अदरक का : यदि आपका सफर में या घर पर ही जी मिचलाता है तो अदरक का प्रयोग कर सकते हैं। 

हिचकियों को रोकने के लिए

एप्पल साइडर विनेगर का प्रयोग करें : यदि आपको हिचकियां बहुत देर से काफी परेशान कर रही हैं तो उनको रोकने के लिए एप्पल साइडर विनेगर का प्रयोग कर सकते हैं। 

यदि एनेमिक हैं तो

हरी सब्जियां खाएं : यदि आपको एनीमिया की शिकायत है तो हरी सब्जियां व रेड मीट का प्रयोग कर सकते हैं।

नाखूनों की स्किन ड्राई

शहद या एलो वेरा का प्रयोग करें : यदि आपके क्यूटिकल्स बहुत ड्राई रहते हैं तो उनको ठीक करने के लिए वहां एलो वेरा जेल या शहद से मसाज करें।

पसलियों में दर्द

मैग्नेशियम ट्राई करें : यदि आपकी मसल्स कमजोर हैं और आप बहुत जल्दी थक जाते हैं तो मैग्नेशियम से युक्त चीजे खाएं।

शरीर से स्मेल आना

लिक्वड क्लोरोफिल का प्रयोग करें : यदि आप के शरीर से बहुत गंदी बदबू आती है तो आप क्लोरोफिल से युक्त चीजें पीना शुरू कर सकते हैं।  

महिला स्वास्थ्य

पिंपल्स के लिए

एप्पल साइडर विनेगर का प्रयोग करें : यदि आपको एक्ने व पिंपल्स की दिक्कत है तो एप्पल साइडर विनेगर ट्राई करें।

अस्थमा के लिए

फिश ऑयल व विटामिन सी का प्रयोग : यदि आप भी अस्थमा के मरीज हैं तो विटामिन सी से युक्त चीजें खाना चालू करें व फिश ऑयल का भी प्रयोग करें।

पसीना आने पर

ट्राई करें आलू : यदि आपके शरीर में बहुत अधिक पसीना आता है तो वहां पर आलू से मसाज करना शुरू करें।

पैरों से बदबू आना

बेकिंग सोड़ा व नींबू का प्रयोग करें : यदि आपके पैरों से भी बहुत गंदी बदबू आती है और आप वहां से बैक्टीरिया आदि को खत्म करना चाहते हैं तो नींबू व बेकिंग सोडा के मिश्रण में पैर को डुबाए रखें।

पेट फूलना

ट्राई करें एक्टिवेटेड चारकोल : यदि आपके पेट में भी गैस बनती है या पेट फूल जाता है तो एक्टिवेटेड चारकोल का प्रयोग डिटॉक्स करने के लिए कर सकते हैं।

हिप पेन के लिए

मिनरल्स का प्रयोग : यदि आपके हिप्स में भी दर्द है तो मिनरल्स आदि को अपनी डायट मे शामिल करें।

एडी फटना

ट्राई करें हाइड्रोजनटेड वेजिटेबल ऑयल का: यदि आपकी एड़ियां फट जाती हैं तो आप इस तेल से उनकी मालिश करें। 

रोसेसआ के लिए

एंटी इन्फ्लेमेटरी हर्ब्स ट्राई करें : यह समस्या आप को मुख्य तौर से असाधारण इम्यून के द्वारा होती है। इसे ठीक करने के लिए कुछ एंटी इन्फ्लेमेटरी हर्ब्स का प्रयोग करें।

पाचन तंत्र से सम्बन्धित समस्या

करें नींबू पानी व प्रोबायोटिक्स का प्रयोग : यदि आपके पाचन तंत्र में कोई समस्या महसूस हो रही है तो हलका गर्म नींबू पानी पिएं व प्रोबायोटिक्स का भी प्रयोग करें।

इंफेक्टेड कट के लिए

प्रयोग करें शहद : शहद में एंटी बैक्टेरियल गुण होते हैं जो आपके घाव को भरने में मदद कर सकते हैं।

रूखे बालों के लिए

सिलिका व जि़ंक का प्रयोग करें : यदि आप चाहते हैं कि आपके बाल बहुत ज्यादा ड्राई न रहें तो आप सिलिका व जि़ंक से युक्त चीजों को अपनी डायट में एड कर सकते हैं।

बाउल सिंड्रोम के लिए

पुदीना ट्राई करें : यदि आपको भी आईबीएस की समस्या है तो आप पुदीना की चाय का प्रयोग कर सकते हैं।

नाक बहना

नमक के पानी के गरारे करें : यदि आपका नाक बहुत अधिक बह रहा है तो नमक के पानी से गरारे करने से आपको बहुत मदद मिलेगी।

इनसोम्निया

चेरी जूस पीएं : यदि आप इनसोम्निया से छुटकारा पाना चाहते हैं तो आप रोजाना चेरी जूस पी सकते हैं।

डैंड्रफ

बेकिंग सोडा इस्तेमाल करें : यदि आप भी हैं डैंड्रफ से परेशान तो अपने बालों में कर सकते हैं बेकिंग सोड़ा का प्रयोग।

कब्ज

आलूबुखारा खाएं : यदि आप भी कब्ज की समस्या से परेशान हैं तो आप सूखा आलूबुखारा खाएं। इससे आपको अवश्य ही मदद मिलेगी।

सूखी खांसी

ड्राई लिकोरिस चाय का सेवन : सर्दियों में अक्सर सूखी खांसी हो जाती है। इसे ठीक करने के लिए ड्राई लिकोरिस चाय का सेवन करें।

स्किन में खुजली होना

क्ले मास्क का करें प्रयोग : यदि आपकी स्किन पर रेशे हैं या वहां बहुत खुजली होती है तो क्ले मास्क का प्रयोग करें।

क्रोनिक एक्ने

डेयरी उत्पाद का प्रयोग बंद करें : यदि आपके एक्ने बहुत लम्बे समय से हैं तो आप डेयरी उत्पादों व शुगर से युक्त चीजों को अपनी डायट से हटा दें। 

बाल झड़ना

साल्मन फिश खाएं : यदि आपके बाल बहुत अधिक झड़ते हैं तो साल्मन फिश खाएं।

थकान होना

जिंसेंग का प्रयोग करें : यदि आप भी काम से आते वक्त बहुत थक जाते हैं तो एक बहुत पुराने इलाज जिंसेंग का प्रयोग करें।

पैर के नाखून में फंगस होना

टी ट्री ऑयल से मालिश : यदि आपके पैर के नाखून में फंगस लग जाती है तो उसके लिए वहां पर टी ट्री ऑयल से मालिश करें।

यह भी पढ़ें – रोजाना पानी पीने के आसान तरीके

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें-editor@grehlakshmi.com

इस साल हमारी सेहत से जरूरी हमें कुछ नहीं लगा है। अत: हम अपने स्वास्थ्य को लेकर पहले से कई गुणा ज्यादा सचेत हो 

      चुके हैं। अब हम अपने स्वास्थ्य के मामले में कोई लापरवाही नहीं बरतना चाहते हैं। अत: यदि हमें थोड़ी सी भी स्वास्थ्य में कोई समस्या हो जाती है तो हमें बहुत अधिक चिंता होने लगती है, जिनमें से बहुत सी समस्याएं साधारण भी होती हैं। आपका अपने स्वास्थ्य के प्रति इतना सचेत होना तो बनता भी है। यदि आपको कुछ साधारण समस्याएं हैं, जिन्हें आप घर पर भी ठीक कर सकते हैं। उनके इलाज आप कुछ घरेलू उपायों से भी कर सकते हैं। 

सांसों से गंदी बदबू आना

ऑयल पुल्लिंग को करें ट्राई : यदि आपके साथ काम करने वाले आपसे दूर-दूर भागते हैं और इसका कारण आपकी सांसों से आने वाली गंदी बदबू है तो आप ऑयल पुल्लिंग ट्राई कर सकते हैं। दिन में 2 बार ब्रश करें परन्तु ब्रश करने से पहले 20 मिनट के लिए नारियल के तेल से ऑयल पुल्लिंग करें। 

सर्दी व जुखाम

ट्राई करें गहरे व हरे पत्ते : यदि आपको सर्दी या जुखाम हो जाता है तो आपको विटामिन-सी व हरे पत्तों से युक्त चीजें खानी चाहिए। इनसे आप जल्द ही बीमार नहीं होंगे। यह चीजें आपकी इम्यूनिटी को भी मजबूत बनाएंगी। 

पीएमएस

मैग्नेशियम ट्राई करें : पीएमएस की समस्या से बहुत सी महिलाओं को गुजरना पड़ता है। यदि आप भी उनमें से एक हैं तो मैग्नेशियम से भरपूर चीजें जैसे पालक, ब्रोकली आदि खाएं। 

पाचन मे दिक्कत

पुदीना खाएं : यदि आपको भी कोई चीज पचाने में दिक्कत महसूस हो रही है तो आप पुदीने का तेल इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे उल्टी व पेट दर्द भी ठीक हो जाता है। 

कमजोर नाखून

नारियल के तेल से करें मसाज : यदि आपके नाखून बहुत कमजोर हैं और जल्दी टूट जाते हैं तो कृत्रिम मॉइश्चराइजर की जगह नारियल के तेल से मसाज करें।

चिंता होना

मेडिटेशन ट्राई करें : यदि आप भी दिन भर चिंता व स्ट्रेस से परेशान रहते हैं तो आपको ध्यान केंद्रित करना व योगा जैसी चीजों का सहारा लेना चाहिए। 

रूखी त्वचा

शहद ट्राई करें : यदि आपकी स्किन बहुत रूखी और फटी हुई है और खास कर सर्दियों में ऐसा होता है तो शहद का प्रयोग करें।

सिर दर्द के लिए

करें एक्युपंचर का इस्तेमाल : यदि आपको हर दिन बहुत तेज सिर दर्द होता है और आप दवाइयां आदि नहीं खाना चाहते हैं तो एक्युपंचर का प्रयोग कर सकते हैं।

पुदीने के तेल का प्रयोग करें : यदि सिर के दर्द से छुटकारा पाना चाहते हैं तो अपनी स्किन पर पिपरमेंट तेल का प्रयोग कर सकते हैं। 

वजन से सम्बन्धित समस्या

अच्छे फैट्स का प्रयोग करें : यदि आप वजन बढ़ाने की सोच रहे हैं तो आपको अच्छे फैट्स खाने की आवश्यकता है। याद रखें की शुगर व खराब फैट्स न खाएं। 

पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द

विटामिन डी प्रयोग करें : यदि आपको भी अपनी मेंस्ट्रूअल साइकिल के दौरान बहुत दर्द होता है तो आपको विटामिन डी से युक्त चीजें खानी चाहिए। 

लोअर बैक में दर्द

पिलेट्स ट्राई करें : यदि आप भी कमर दर्द से बहुत परेशान रहते हैं और अपनी कमर की हड्डी को मजबूत बनाना चाहते हैं तो पिलेट्स एक्सरसाइज को ट्राई करें।

एग्जिमा के लिए

मैग्नेशियम बाथ लें : मैग्नेशियम बाथ एग्जिमा की समस्या को ठीक करने के लिए सहायक माना जाता है।

स्ट्रेस के लिए

अवॉइड करें कै$फीन : यदि आपको हर समय स्ट्रेस रहती है और आप कभी खुश नहीं रहते हैं तो आप को कै$फीन का सेवन छोड़ देना चाहिए।

कमजोर मसल्स के लिए

आइस थेरेपी का प्रयोग करें : यदि आप अपनी मसल्स को मजबूत बनाना चाहते हैं तो आइस थेरेपी का सहारा ले सकते हैं।

                      गठिया के लिए

हल्दी का प्रयोग करें : हल्दी आपके गठिया व जोड़ों के दर्द को ठीक करने में बहुत सहायक मानी जाती है। यह सूजन उतारने में भी मदद करती है।

यूटीआई के लिए

करें लीवर डिटॉक्सीफाई : यूटीआई में दवाइयों के साथ-साथ आपको अपने लीवर को भी डिटॉक्सीफाई कर लेना चाहिए ताकि अंदर से सारा गंद 

निकल जाए।

क्रैनबेरी जूस का प्रयोग : दवाइयों व डिटॉक्सीफाई करने के साथ-साथ आप यूटीआई के दौरान क्रैनबेरी जूस भी पीना चालू कर सकते हैं।

हैंगोवर के लिए

नारियल पानी पिएं : यदि आपको अपना हैंगोवर करना है तो नारियल का पानी पीना बहुत सहायक सिद्ध हो सकता है।

सिर का चक्कर

बसिल का प्रयोग करें : यदि आपको भी चक्कर आते हैं तो बासिल की पत्तियों को पानी में उबाल कर उनकी भाप लेनी चाहिए।

धूम्रपान करने की लत

एक्सरसाइज करें : यदि आप धूम्रपान करना छोड़ना चाहते हैं और आपका मन कर रहा है तो रोज एक्सरसाइज करें।

जी मिचलाना

प्रयोग करें अदरक का : यदि आपका स$फर में या घर पर ही जी मिचलाता है तो अदरक का प्रयोग कर सकते हैं। 

हिचकियों को रोकने के लिए

एप्पल साइडर विनेगर का प्रयोग करें : यदि आपको हिचकियां बहुत देर से काफी परेशान कर रही हैं तो उनको रोकने के लिए एप्पल साइडर विनेगर का प्रयोग कर सकते हैं। 

यदि एनेमिक हैं तो

हरी सब्जियां खाएं : यदि आपको एनीमिया की शिकायत है तो हरी सब्जियां व रेड मीट का प्रयोग कर सकते हैं।

नाखूनों की स्किन ड्राई

शहद या एलो वेरा का प्रयोग करें : यदि आपके क्यूटिकल्स बहुत ड्राई रहते हैं तो उनको ठीक करने के लिए वहां एलो वेरा जेल या शहद से मसाज करें।

पसलियों में दर्द

मैग्नेशियम ट्राई करें : यदि आपकी मसल्स कमजोर हैं और आप बहुत जल्दी थक जाते हैं तो मैग्नेशियम से युक्त चीजे खाएं।

शरीर से स्मेल आना

लिक्वड क्लोरोफिल का प्रयोग करें : यदि आप के शरीर से बहुत गंदी बदबू आती है तो आप क्लोरोफिल से युक्त चीजें पीना शुरू कर सकते हैं। 

अस्थमा के लिए

फिश ऑयल व विटामिन सी का प्रयोग : यदि आप भी अस्थमा के मरीज हैं तो विटामिन सी से युक्त चीजें खाना चालू करें व फिश ऑयल का भी प्रयोग करें।

पसीना आने पर

ट्राई करें आलू : यदि आपके शरीर में बहुत अधिक पसीना आता है तो वहां पर आलू से मसाज करना शुरू करें।

पैरों से बदबू आना

बेकिंग सोड़ा व नींबू का प्रयोग करें : यदि आपके पैरों से भी बहुत गंदी बदबू आती है और आप वहां से बैक्टीरिया आदि को खत्म करना चाहते हैं तो नींबू व बेकिंग सोडा के मिश्रण में पैर को डुबाए रखें।

पेट फूलना

ट्राई करें एक्टिवेटेड चारकोल : यदि आपके पेट में भी गैस बनती है या पेट फूल जाता है तो एक्टिवेटेड चारकोल का प्रयोग डिटॉक्स करने के लिए कर सकते हैं।

हिप पेन के लिए

मिनरल्स का प्रयोग : यदि आपके हिप्स में भी दर्द है तो मिनरल्स आदि को अपनी डायट मे शामिल करें।

एडी फटना

ट्राई करें हाइड्रोजनटेड वेजिटेबल ऑयल का : यदि आपकी एड़ियां फट जाती हैं तो आप इस तेल से उनकी मालिश करें। 

रोसेसआ के लिए

एंटी इन्फ्लेमेटरी हर्ब्स ट्राई करें : यह समस्या आप को मुख्य तौर से असाधारण इम्यून के द्वारा होती है। इसे ठीक करने के लिए कुछ एंटी इन्फ्लेमेटरी हर्ब्स का प्रयोग करें।

पाचन तंत्र से सम्बन्धित समस्या

करें नींबू पानी व प्रोबायोटिक्स का प्रयोग : यदि आपके पाचन तंत्र में कोई समस्या महसूस हो रही है तो हलका गर्म नींबू पानी पिएं व प्रोबायोटिक्स का भी प्रयोग करें।

इंफेक्टेड कट के लिए

प्रयोग करें शहद : शहद में एंटी बैक्टेरियल गुण होते हैं जो आपके घाव को भरने में मदद कर सकते हैं।

रूखे बालों के लिए

सिलिका व जि़ंक का प्रयोग करें : यदि आप चाहते हैं कि आपके बाल बहुत ज्यादा ड्राई न रहें तो आप सिलिका व जि़ंक से युक्त चीजों को अपनी डायट में एड कर सकते हैं।

बाउल सिंड्रोम के लिए

पुदीना ट्राई करें : यदि आपको भी आईबीएस की समस्या है तो आप पुदीना की चाय का प्रयोग कर सकते हैं।

नाक बहना

नमक के पानी के गरारे करें : यदि आपका नाक बहुत अधिक बह रहा है तो नमक के पानी से गरारे करने से आपको बहुत मदद मिलेगी।

इनसोम्निया

चेरी जूस पीएं : यदि आप इनसोम्निया से छुटकारा पाना चाहते हैं तो आप रोजाना चेरी जूस पी सकते हैं।

डैंड्रफ

बेकिंग सोडा इस्तेमाल करें : यदि आप भी हैं डैंड्रफ से परेशान तो अपने बालों में कर सकते हैं बेकिंग सोड़ा का प्रयोग।

कब्ज

आलूबुखारा खाएं : यदि आप भी कब्ज की समस्या से परेशान हैं तो आप सूखा आलूबुखारा खाएं। इससे आपको अवश्य ही मदद मिलेगी।

सूखी खांसी

ड्राई लिकोरिस चाय का सेवन : सर्दियों में अक्सर सूखी खांसी हो जाती है। इसे ठीक करने के लिए ड्राई लिकोरिस चाय का सेवन करें।

स्किन में खुजली होना

क्ले मास्क का करें प्रयोग : यदि आपकी स्किन पर रेशे हैं या वहां बहुत खुजली होती है तो क्ले मास्क का प्रयोग करें।

क्रोनिक एक्ने

डेयरी उत्पाद का प्रयोग बंद करें : यदि आपके एक्ने बहुत लम्बे समय से हैं तो आप डेयरी उत्पादों व शुगर से युक्त चीजों को अपनी डायट से हटा दें। 

बाल झड़ना

साल्मन फिश खाएं : यदि आपके बाल बहुत अधिक झड़ते हैं तो साल्मन फिश खाएं।

थकान होना

जिंसेंग का प्रयोग करें : यदि आप भी काम से आते वक्त बहुत थक जाते हैं तो एक बहुत पुराने इलाज जिंसेंग का प्रयोग करें।

पैर के नाखून में फंगस होना

टी ट्री ऑयल से मालिश : यदि आपके पैर के नाखून में फंगस लग जाती है तो उसके लिए वहां पर टी ट्री ऑयल से मालिश करें।

यह भी पढ़ें –

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com