जानिए विद्यार्थियों को ये 3 तीन फिल्में क्यों देखनी चाहिए: Inspirational Movies
Inspirational Movies

Inspirational Movies: हर विद्यार्थी का सपना होता है कि वो अपने जीवन में अपना लक्ष्य हासिल कर सके। इसी तरह यू पी एस सी हो या आई आई टी विद्यार्थियों के लिए एक ख्वाब है जिसे पूरा करने के लिए वो निरंतर प्रयास करते रहते हैं। युवाओं के इस जुनून को देखते हुए अब इस मुद्दे पर फिल्में बनने लगी हैं। फिलहाल मेकर्स के लिए ये विषय सबसे पसंदीदा विषय बन गया है। ऐसा हो भी क्यों न सिविल सर्विसेस के प्रति विद्यार्थियों का जुनून मेकर्स को इस विषय पर काम करने के लिए मजबूर करता है। बीते कुछ सालों में विद्यार्थियों की समस्याओं और परिश्रम पर केंद्रित ये फिल्में काफी पसंद की जा रही है। आइये जानते हैं इन फिल्मों के बारे में जो कि विद्यार्थियों को ज़रूर देखनी चाहिए।

एस्पिरेंट्स

Aspirants

एस्पिरेंट्स ऐसी वेब सीरीज है जिसने सभी को प्रभावित किया। इसमें जिस तरह प्रतियोगियों के जीवन को दर्शाया गया है वो अपनी ओर आकर्षित करता है। अभिलाष थपलियाल , नवीन कस्तूरिया , शिवांकित सिंह परिहार, सनी हिंदुजा और नमिता दुबे जैसे दिग्गज कलाकारों ने अपने अभिनय का कायल बना लिया है, यही कारण है कि सीरीज इतनी पसंद की गयी थी। प्रतियोगियों के संघर्ष उनके इस सफर में आने वाली सभी परेशानियों को सीरीज में दर्शाया गया है। इसे एक बार ज़रूर देखना चाहिए।

कोटा फैक्ट्री

Kota Factory
Kota Factory

कोटा फैक्ट्री के जीतू भैया जिस तरह बच्चों को इंस्पायर करते हैं वो लाजवाब है, ऐसा लगता है आप खुद ही किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने लग जाएं। विद्यार्थियों के जीवन के उतार चढ़ाव को इस सीरीज में जैसे दिखाया गया है वो वाक़ई आपको सोचने पर मजबूर कर देता है कि समाज के प्रेशर को झेलते हुए अपने लक्ष्य को पाना कितना मुश्किल है। विद्यार्थियों को ये सीरीज सिर्फ इसलिए नहीं देखनी चाहिए कि वो कोटा से सम्बन्ध रखते हों बल्कि उन्हें इसलिए देखनी चाहिए क्योंकि हर विद्यार्थी को एक समय में अपने मन पर बोझ महसूस होता ही है। वो इससे कैसे निपटे ये यहां सीखने को मिलता है।

अब दिल्ली दूर नहीं

Ab Dilli Dur Nahin
Ab Dilli Dur Nahin

फिल्म अब दिल्ली दूर नहीं काफी प्रेरणादायक फिल्म है। फिल्म में आई एस बनने के संघर्ष को दिखाया गया है। अभिनय के दृष्टि से भी फिल्म काफी अच्छी है। फिल्म में प्रतियोगी के जीवन में अपनी समस्याओं से निपटते हुए अपने लक्ष्य को प्राप्त करने की लगन को दिखया गया है। फिल्म का निर्देशन कमल चंद्रा ने किया है।

इन फिल्म और सीरीज को हर विद्यार्थी को देखना ही चाहिए सिर्फ प्रेरित होने के लिए नहीं बल्कि इसलिए भी कि एक विद्यार्थी कैसे अपने जीवन में नियंत्रण हासिल कर सके। परिश्रम कैसे करें और असफल न होने पर कैसे दोबारा महनत कर सकें और सबसे ज़रूरी बात कि अपने मन को कैसे स्थिर रखा जाए ये सीरीज हमें सिखाती है।