मिस यूनिवर्स रह चुकी मॉडल और बॉलीवुड अदाकारा सुष्मिता सेन भले ही फिल्मों में लंबे समय से नहीं दिखी हैं, लेकिन ग्लैमरजगत में उनकी मौजूदगी हमेशा से रही है। वो हर ईवेंट का हिस्सा बनती हैं और सोशल जगत खासतौर से ट्विटर और इंस्टाग्राम पर अपने फैन्स के साथ खूब कनेक्ट भी करती हैं। सुष्मिता सेन भले ही सिंगल मदर हैं, लेकिन उनके पैरेन्टिंग स्टाइल में ऐसा बहुत कुछ है जो हर पैरेन्ट को समझना और जानना चाहिए। पढ़िए- 
 
1. बच्चों को देती हैं क्वालिटी टाइम
सुष्मिता के इंस्टाग्राम को ध्यान से देखने पर जो बात हमें सबसे अच्छी लगी वो ये है कि वो अपने बच्चों के साथ काफी क्वालिटी टाइम बिताती हैं। वो अपनी दोनों बेटियों के साथ हॉलिडे ट्रिप्स पर जाती हैं, अनके साथ खूब डांस करती हैं और उनकी कंपनी एंजॉय करती हैं। हाल ही में सुष्मिता ने अपनी छोटी बेटी अलिषा के साथ एड शीरन के सॉन्ग ‘शेप ऑफ यू’ पर डांस करते हुए वीडियो पोस्ट किया था जिसे लोगों ने खूब पसंद किया। 



 
2. रेनी के साथ सुष्मिता रही ईमानदार
 
बच्चों के सवालों का आप जितनी ईमानदारी से सामना करेंगे, आपके लिए और बच्चों के लिए उतना ही अच्छा होगा। सुष्मिता ने अपने एक इंटरव्यू में कहा था कि ‘एक दिन जब रेनी स्कूल से वापस आई तो उसने अपने पिता के बारे में पूछा। मैंने मुस्कुरा कर उसे शिवलिंग की ओर दिखाया और कहा कि वही तुम्हारे पिता हैं।’ 
 

A post shared by Sushmita Sen (@sushmitasen47) on



 
रेनी के जन्मदिन पर लिखे खत में सुष्मिता ने लिखा था कि भगवान ने तुम्हें गढ़ा है और तुम अपनी मम्मी के दिल से जन्म ली हो।
 
3. बच्चों के साथ सुष्मिता खूब करती हैं एंजॉय
सुष्मिता ने अपनी बेटियों के साथ कोई वीडियो पोस्ट किया है। सुष्मिता समय-समय पर रेनी और अलिषा के साथ अपने वीडियो और फोटो इंस्टाग्राम पर पोस्ट करती आई हैं और इन्हें देखकर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि ये तीनो आपस में कितना एंजॉय करते हैं।
 

And this is when the mother joins them!!!!! #mehendinight #familywedding #kolkata P.S. God loves me!!!!

A post shared by Sushmita Sen (@sushmitasen47) on



 
4. ओवर प्रोटेक्टिव नहीं हैं सुष्मिता
17 वर्षीय रेनी के बारे में बात करते हुए सुष्मिता सेन ने अपने इंटरव्यू में कहा कि जब रेनी बोर्डिंग स्कूल में गई और वहां उसके विदेशी दोस्त बनें तो शुरआत में मैं थोड़ा ओवर-प्रोटेक्टिव हो गई। लेकिन मुझे एहसास हुआ कि उसे कुछ बातें खुद ही सीखनी चाहिए। और मैं खुश हूं कि वो न सिरफ मेरी तरह इंडीपेंडेंट है, बल्कि एक अच्छी इंसान भी बन रही है।
 
5. बच्चों के सपनों को उड़ान देती हैं सुष्मिता
सुष्मिता ने रेनी को लिखे खत में खासतौर से ये लिखा था कि अपने सपनों को कभी मत भूलना और हर रोज़ एक ऐसा काम करना जिससे तुम्हें डर लगता हो। 



 
 
ये भी पढ़े-