googlenews
गुल्ज़ार

 

निर्देशक– राकेश ओमप्रकाश मेहरा

कलाकार– हर्षवर्धन कपूर, सैय्यामी खेर, अनुज चौधरी, अंजली पाटिल, ओम पुरी।

क्या है खासियत

  1. राकेश ओमप्रकाश मेहरा निर्देशित फिल्म मिर्ज़या एक लिरिकल लव स्टोरी है और इसमें बहुत कुछ है जो आपको अच्छा लगेगा जैसे वीएफएकस का इस्तेमाल, गाने, लोकेशन्स, फिल्म की भव्यता और फिल्म के प्रस्तुत करने का अंदाज।
  2. गुल्ज़ार के लिरिक्स- गुल्ज़ार के फैन्स इस फिल्म में उनकी लिखी कविताओं को पर्दे पर जीवंत होतो देख सकते हैं। बता दें कि फिल्म का स्क्रीनप्ले भी गुल्ज़ार ने ही लिखा है।
  3. शंकर-एहसान-लॉय का म्यूज़िक- कई जगहों पर म्यूज़िक आपके दिल को छू सकता है।
  4. कहानी- फिल्म की कहानी पंजाब की लोक-कथा मिर्जा-साहिबा की प्रेम कहानी पर आधारित है और जो लोग लोक कथाओं से जुड़ाव महसूस करते हैं, उन्हें ये फिल्म आकर्षित करेगी। फिल्म में मोनिश और सुचित्रा राजस्थान के रहने वाले हैं और इनके बीच बचपन से ही गहरा भावनात्मक जुड़ाव होता है।
  5. कलाकार- नवोदित कलाकारों के रूप में सैय्यामी और हर्षवर्धन की एक्टिंग अच्छी है। अन्य सभी कलाकारों ने भी फिल्म की कहानी के अनुसार अच्छा काम किया है।

जानिए खेल के मैदान से फिल्म ‘मिर्ज़या’ में कैसे पहुंच गई ये हीरोइन 

कहां-कहां रह गई कमियां

  1. निर्देशन- निर्देशक ने फिल्म को अपनी हिट फिल्म रंग दे बसंती के तर्ज पर प्रस्तुत किया है। जैसे उसमें कहानी दो अलग-अलग सदियों में साथ-साथ बढ़ते दिखाई गई थी, इस फिल्म को भी उन्होंने वही ट्रीटमेंट देने की कोशिश की है। एक तरफ मोनिश (हर्षवर्धन कपूर) और सुचित्रा की राजस्थान में लव स्टोरी है, वहीं हर कट में लोककथा मिर्जा-साहिबा की कहानियों के सीन हैं। ये भी बता दें कि कई फिल्म के कई सीन्स बेहद खूबसूरत है।
  2. फिल्म में गुल्ज़ार के पंजाबी गीतों के अत्यधिक इस्लोमाल की वजह से कई जगह बातें समझ में नहीं आती।
  3. फिल्म में सैय्यामी और हर्षवर्धन अच्छे लगते हैं, लेकिन वो आपके दिलों तक नहीं पहुंच पाते हैं।
  4. संगीत, लोकेशन, संवाद अच्छे होते हुए भी, फिल्म में ऐसा कुछ नहीं है जो आपको लंबे समय तक याद रह जाए।
  5. सय्यामी का साहिबा लुक पांजाबी लोककथा के अनुरूप नहीं लगता।

फाइनल डिसिज़न –

यदी आप गुल्ज़ार के फैन हैं या एसिहासिक लोककथाओं का शौक रखते हैं, तो ये फिल्म आप देख सकते हैं। हमें लगता है ये फिल्म हर किसी को पसंद नहीं आएगी।

रेटिंग- 3/5

 

ये भी पढ़े-

आलिया जैसा काम करना चाहती है सैय्यामी खेर

शिल्पा के ठुमकों, मिर्ज़या के ट्रेलर से हुआ आईफा का आगाज़

एक्टर के पहले लेखक बनना चाहते थे हर्षवर्धन कपूर