Posted inकथा-कहानी

गृहलक्ष्मी की कहानियां – क्योंकि सास भी कभी बहू थी

गृहलक्ष्मी की कहानियां – हां, विवाह के पिछले सीजन में मैं भी सास बन गई हूं। वैसे देखने में तो अपने चौबीस वर्षीय पुत्र की बड़ी बहिन ही लगती हूं, पर हां, मेरा पद अवश्य बढ़ गया है। अब बारी आ गई है, मेरे वो सभी कर्जे चुकाने की जो बहू बनने के बाद से […]