एक बच्चे को पैदा करने के बाद महिलाओं में काफी बदलाव होते हैं, ये बदलाव मानसिक स्थिति के साथ-साथ शारीरिक स्थिति में भी होते हैं। ऐसे में बच्चे के बाद सेक्स करना पूरी तरह अलग ही श्रेणी में आ जाता है। बच्चे के जन्म के बाद महिलाओं के शरीर की बनावट, थकावट का स्तर, मूड में बदलाव काफी असहज हो सकता है। यहां तक की भयानक और दर्दनाक भी। ऐसे में पुरुषों के दिमाग में भी कई तरह सवाल चलते रहते हैं। आज हम इस लेख के जरिये आपको बताएंगे कि वास्तव में एक बच्चे के बाद महिला के साथ सेक्स करने के बारे में पुरुष क्या सोचते हैं? महिलाओं के जीवन में पुरुषों को बच्चे के जन्म के बाद सेक्स के बारे में कैसा महसूस होता है? तो फिर इन्तजार किस बात का। आइये शुरू करते हैं।

क्या सोचते हैं पुरुष

1.महिला की मंजूरी भी जरूरी– बच्चे को जन्म देने के बाद एक को कई तरह के बदलाव को झेलना पड़ता है। अक्सर पुरुष बच्चे के जन्म के 6 महीने बाद डॉक्टर की सलाह से सेक्स के लिए महिला से अपेक्षा करने लगते हैं। लेकिन यहां उन्हें पता होना चाहिए कि इस मामले में डॉक्टर की सलाह तब तक काम नहीं आती जब तक महिला की मंजूरी ना हो। अगर इसके बाद भी पुरुष महिला से सेक्स करते हैं तो महिलाओं का जल्दी थकना और मूड में बदलाव आना स्वाभाविक है। इसलिए पुरुष अगर ये सोचते हैं कि प्रसव के बाद महिला सेक्स के लिए खुद को तैयार कर सकती हैं, तो वो गलत भी हो सकते हैं।

2.महिला को तैयार करें– बच्चे के जन्म के बाद महिलाओं का सारा समय बच्चे की देख-रेख में ही निकलता है। स्तनपान के दौरान महिलाओं को काफी एनर्जी की जरूरत होती है। ऐसे में सेक्स करना कुछ हद तक सही नहीं होगा। एक बच्चे को जन्म देने के बाद पुरुष ये सोचते हैं कि वो अपनी पार्टनर से कभी भी सेक्स करने के लिए उसे तैयार कर सकते हैं, लेकिन वास्तव में ऐसा करना मुश्किल होता है। क्योंकि महिलाओं की योनी में चिकनाहट जल्दी नहीं आती और सेक्स उनके लिए दर्दनाक हो सकता है।

3.डरावना हो सकता है सेक्स– बच्चे को जन्म देने के बाद महिलाओं की योनि में डॉक्टर्स द्वारा टांके लगाये जाते हैं। समय बीत जाने के बाद भी पुरुषों को ये लगता है कि ऐसे में सेक्स करना काफी डरावना हो सकता है। महिलाएं उससे आहत हो सकती हैं, टांके खुल सकते हैं। और अगर टांके खुले तो ये काफी हद तक खराब हो सकता है। ऐसे में पुरुषों को महिलाओं से राय लेनी चाहिए कि वो कैसा महसूस कर रही हैं, क्या सही मायनों में वो सेक्स के लिए तैयार हैं भी या नहीं?

4.योनि में ढीलापन– बच्चे को जन्म देने के बाद महिलाओं की योनी स्वाभिविक तौर पर ढीली हो जाती है। ऐसे में कई पुरुष ऐसे भी होते हैं जिनकी  मानें तो उन्हें अपनी पार्टनर के साथ सेक्स करने में आनंद नहीं आता। क्योंकि योनि में ढीलेपन से उनको कुछ भी महसूस नहीं होता। लेकिन इसके विपरीत  कुछ पुरुषों को लगता है कि उनकी पार्टनर की योनि पहले के मुकाबले अधिक संवेदनशील हो गई है इसलिए वह सेक्स का ज्यादा आनंद उठा सकते हैं। वो हमेशा की तरह ही खुद को महसूस करते हैं। 

5.जब हो जाए बे-परवाह– कई पुरुषों की मानें तो उन्हें बच्चे के जन्म के बाद महिला से सेक्स करने में सोचना नहीं पड़ता। वो बेपरवाह होते हैं कि उनकी पार्टनर कैसा महसूस कर रही है। ऐसा करना किसी भी महिला के लिए दर्दनाक हो सकता है।

क्या अनुभव है महिलाओं का

1.जन्म देने के बाद आपकी यौन भावनाएँ-जन्म देने के बाद, कुछ महिलाएं महसूस करते हैं कि वह अब दोबारा उसी तरह से सेक्स नहीं कर पाएंगी। कई महिलाओं के लिए, यह भावनायें बच्चे के जन्म के 1-3 महीनों के भीतर होती हैं। लेकिन ऐसा नहीं है कुछ समय बाद सब कुछ सामान्य हो जाता है।

2.स्तनपान के दौरान सेक्स की इच्छा-कुछ माओं में अपने बच्चे को स्तनपान कराते समय कामुक और सेक्स की इच्छा महसूस होती है। यह आंशिक रूप से हार्मोन ऑक्सीटोसिन के कारण होता है, जो दूध निकलने और यौन उत्तेजना में शामिल है। यह पूरी तरह से सामान्य है।

3.कम सेक्स की इच्छा- स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए भी यह सामान्य है कि वे स्तनपान करते समय सेक्स में कम रुचि लें। बच्चे के जन्म के बाद हारमोंस में बहुत से बदलाव आते हैं।हम सभी को मालूम है कि एक बच्चे को जन्म देना किसी रोलर कॉस्टर से कम नहीं। जहां पर आपके इमोशंस और हारमोंस में उतार-चढ़ाव साफ देखा जा सकता है और यही एक वजह है सेक्स में अनिच्छा की। लेकिन इसके अलावा भी एक और कारण है वह है योनि की ड्राइनेस इस वजह से भी सेक्स की इच्छा कम होने लगती है। क्योंकि सेक्स के दौरान दर्द घाव आपको सेक्स दूर ले जाते हैं।

बच्चे को जन्म देने के बाद महिलाओं के शरीर में जितना बदलाव होता है उससे कहीं ज्यादा सेक्स की चाहत भी पुरुषों के दिमाग में होती है। ऐसे में महिलाओं से सेक्स को लेकर पुरुष भी कई तरह की बातों को महसूस करते हैं। जिसमें कभी वो सहज होते हैं तो अभी असहज। पुरुषों को इस मामले में एक अच्छी गाइडेंस की जरूरत होती है।जो इस प्रकार हैं।

गर्भावस्था के बाद सेक्स को फिर से शुरू करने के टिप्स

1.एक बार जब नई माँ पूरी तरह से ठीक हो जाती है और नए माता-पिता अपनी नई दिनचर्या में वापिस आ जाते हैं, तो आप सेक्स को फिर से शुरू करने के लिए तैयार हो सकते हैं। 

2. सेक्स के दौरान लुब्रिकेशन और गर्भनिरोधक के बारे में आपस में बात करें। स्तनपान करने से योनि सूख जाती है और सेक्स को कम सुखद और दर्दनाक भी बना सकती है। वैसे भी आप पहले गर्भधारण के बीच एक अंतर रखना चाहते हैं, इसलिए गर्भनिरोधक का उपयोग करना महत्वपूर्ण है।

3. कभी भी कहीं भी के बजाय, सेक्स के लिए एक समय और स्थान निर्धारित करें। आप घर में किसी भी नए बच्चे के आगमन के साथ इस तरह से सहज महौल या जगह नहीं पा सकते हैं, इसलिए सेक्स के लिए दिन या डेट निश्चित करें ताकि परेशानी न हो।

4. प्राकृतिक रूप से चिकनाई बढ़ाने के लिए फोरप्ले करें। सेक्स से पहले आपसी हस्तमैथुन और अन्य कामुक गतिविधियों की कोशिश करें।

सेक्स के बाद बात करें, क्योंकि यह गर्भावस्था से पहले जैसी स्थिति नहीं रही है और आपको अपने सेक्स जीवन में आए बदलाव को स्वीकार करने की और उस पर बात करने की बहुत जरूरत है। देखिए इन सारे टिप्स को अपनाने के बाद आप दोनों पति-पत्नी पहले की तरह से ही अपनी सेक्स लाइफ इंजॉय करेंगे।

यह भी पढ़ें-

महिलाओं और पुरुषों में सेक्स और वर्जिनिटी की धारणा को बदलने की जरूरत है

हर समय थकान और सुस्ती महसूस करने के कहीं यह 9 कारण तो नहीं

अगर पहली बार हो रही हैं अपने पार्टनर के करीब तो इन 15 बातों का रखें विशेष ध्यान