शादी करके नए घर जाना और वहां जाकर नए लोगों से रिश्ता बनाना कठिन होता है लेकिन इससे भी कठिन काम है ससुराल के रिश्तेदारों से रिश्ते बनाना। ससुराल वाले तो साथ ही रहते हैं कुछ बातें अच्छी लगेंगी तो कुछ बुरी भी लग सकती हैं। लेकिन कभी-कभी जिंदगी में दस्तक देने वाले रिश्तेदारों से रिश्ता बनाना थोड़ा कठिन हो जाता है। कुछ घंटों की मुलाकात में किसी को खुश करना या अपनी अच्छाइयां दिखा देना आसान भी नहीं होता है। और अच्छाइयां दिखाए बिना किसी के करीब आना भी कठिन होता है। ऐसे में जरूरी है कि कुछ खास तरीके आजमाए जाएं ताकि ससुरली रिश्तेदार भी आपको खूब पसंद करने लगें-

क्वालिटी टाइम है जरूरी–   ससुराली रिश्तेदार आपके घर कभी-कभी आते हैं। कई तो इतना कभी आते हैं कि आप उनका स्वभाव और तौर-तरीका भी भूल जाती हैं। लेकिन ये कितने भी दिन बाद क्यों न आएं, आपको इनके साथ क्वालिटी टाइम ही बिताना है। आपको उनके साथ ऐसे समय गुज़ारना है कि वो आपको भूल ही न पाएं। वो जितनी भी देर आपके साथ गुजारें, उतनी देर लगे कि आप सिर्फ उनके बारे में ही सोच रही हैं। उनके आराम का ध्यान रखिए, सेहत के बारे में पूछिए, उनको वो खिलाइए, जो उनको पसंद है। 

समस्या रहे समस्या– कई बार परिवारों में होता है कि कोई किसी से नाराज हो जाता है। ऐसा आपके उन रिश्तेदार के साथ भी हो सकता है। अगर ऐसा हुआ है तो उनसे रिश्ते वापस से मजबूत करने की जिम्मेदारी भी आपकी ही है। इससे आपके व्यक्तिगत रिश्ते भी मजबूत होंगे। ऐसा करने के लिए जब भी आप इन रिश्तेदारों से मिलें तो इन मसलों के पॉजिटिव साइड को उन्हें बताइए। उन्हें बताइए कि आपके परिवार ने ऐसा किन कारणों से किया और ऐसा करना जरूरी था। ऐसा न किया जाता तो स्थिति और खराब हो जाती। दो परिवारों में दोस्ती कराने से अच्छा क्या ही होगा। आप ऐसा करके अपने ससुराल की नजरों में तो अच्छी बनेंगी ही रिश्तेदारों के सामने भी आपकी छवि अच्छी हो जाएगी।

कम्युनिकेशन है जरूरी– किसी भी रिश्ते को अपटू डेट रखने के लिए जरूरी है कि उसमें कम्युनिकेशन भरपूर हो। उसमें समय-समय पर एक दूसरे को याद किया जाता रहे। ससुराल से जुड़े रिशतेदारों के साथ भी यही होता है। उनसे रिश्ते बनाकर रखने हैं तो सिर्फ खास मौकों पर मिलने से अच्छा है कि उन्हें समय-समय पर फोन किया जाए। या फिर त्योहारों आदि पर उनसे मिलने घर जाएं या उन्हें बुला लें। 

सम्मान के बिना कुछ नहीं– कई बार ऐसा होता है कि आपके घर मेहमान आते हैं, पर कभी व्यक्तिगत कारणों से तो कभी व्यस्तता के चलते आप उनके साथ समय नहीं बिता पातीं। लेकिन इस बात का खेद जताते हुए सम्मान के साथ अपनी बात रखना इस रिश्ते को मजबूत करेगा। ऐसे ही किसी मौके पर सम्मान के साथ ससुराली रिश्तेदारों का सम्मान करना आपकी छवि बेहतर से बेहतर करेगा। 

 

ये भी पढ़ें-  विंटर में होम मेकओवर के ये आइडिया बदलेंगे आपके आशियाने का कलेवर