योनि में सूखेपन के कारण कई तरह की परेशानियां जैसे कि खुजली, सेक्स के दौरान असुविधा और सूखेपन के कारण बेचैनी हो सकती है। योनि में सूखापन का घरेलू और प्राकृतिक इलाज किया जा सकता है। आज हम आपको योनि में सूखेपन का कारण और इलाज के बारें में बताने जा रहे है।सेक्स के दौरान,बेजाइनाल ड्राईनेस ,कई महिलाओं की समस्या होती हैं.ज़्यादातर महिलाएँ  इसके बारे में खुलकर बात नहीं करतीं जिससे उनका सैक़्स जीवन प्रभावित होता है.योनि में सूखेपन के कारण अलग अलग हो सकते हैं.प्रस्तुत हैं मुख्य कारण,जिसकी वजह से योनि में सूखापन हो सकता है-

1-उत्तेजना की कमी

सेक्स प्रक्रिया के दौरान उत्तेजना की कमी योनि में सूखेपन का कारण होती है.सेक्स करने से पहले काम उत्तेजना का अनुभव(फ़ोर प्ले) योनि में प्राकृतिक चिकनापन उत्पन्न करता है,जिससे योनि का सूखापन दूर होता है.लेकिन यदि सेक्स करते समय उत्तेजना की कमी होती है तो योनि में सूखापन बना रहता है जो कि यौन क्रिया में बाधक होता है.

2-गर्भनिरोधक गोलियाँ

विभिन्न प्रकार की गर्भनिरोधक गोलियों के कारण भी योनि में सूखापन हो सकता है,हालाँकि यह अभी तक पूर्णतया साबित नहीं हुआ है.

3-तनाव

तनाव किसी भी प्रकार से शरीर को प्रभावित कर सकता है और यह योनि में सूखेपन का कारण भी बन सकता है.क्योंकि तनाव के कारण आपके शरीर में उत्पन्न एस्ट्रोजन हॉर्मोन की मात्रा प्रभावित होती है,जिससे योनि में सूखापन उत्पन्न होता है.

4-स्तनपान और प्रसव

महिलाओं में प्रसव के बाद या स्तन पान के दौरान एस्ट्रोजन हॉर्मोन में कमी देखी जाती है,साथ ही साथ अंडाशय को हटा देने के कारण भी एस्ट्रोजन में कमी आने लगती है जिसकी वजह से योनि में सूखापन बढ़ जाता है.

5-डीहाईड्रेशन

जो महिलाएँ पानी कम पीती हैं उन्हें भी योनि में सूखेपन का सामना करना पड़ सकता है.पानी की उच्च मात्रा जहाँ आपके शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने का काम करता है वहीं योनि की श्लेष्मा झिल्ली को भी नमी प्रदान करने में मदद करता है

6-योनि में साबुन का इस्तेमाल

योनि में लोशन,और ख़ुशबूदार इत्र साबुन का इस्तेमाल करने से योनि में सूखेपन की समस्या बढ़ जाती है.धूम्रपान और अल्कोहल जैसी बुरी आदतों से बचकर भी योनि के सूखेपन की समस्या से बचा जा सकता है.

7-हॉर्मोन की कमी

महिलाओं में हॉर्मोन की कमी योनि में सूखेपन का मुख्य कारण होती है,इसमें पर्याप्त मात्रा में हॉर्मोन ना निकलने  के कारण,योनि में प्राकृतिक चिकनाहट उत्पन्न नहीं होती. मेनापॉज़,प्रीमेनोपॉज़,कीमोथेरपी,रेडीएशन आदि से हॉर्मोन ,मुख्यतः एस्ट्रोजन की मात्रा प्रभावित होती है

8-पोषक तत्वों की कमी

जिन महिलाओं में प्रोटीन,कैलशियम,फ़ोलिक ऐसिड जैसे पोषक तत्वों की कमी होती है उन्हें भी संभोग के समय योनि में सूखेपन की समस्या रहती है,अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए दूध,दही,सोयाबीन से बने उत्पादों का सेवन अपने आहार में शामिल करना निहायत ज़रूरी होता है.

9-कंडोम का  इस्तेमाल

कंडोम का अत्यधिक इस्तेमाल करने पर भी योनि में सूखेपन और अन्य समस्याएँ का उत्पन्न हो सकती हैं.

यह भी पढ़ें- 

सेक्स के तुरंत बाद महिलाओं को इन्फेक्शन से बचने के लिए बरतनी चाहिए ये 4 सावधानियां

हेल्‍दी सेक्‍स लाइफ के लिए  रखें इन जरूरी बातों का  ध्‍यान