पति का किसी से अफेयर चल रहा है तो आप क्या करेंगी?इतनी गुस्से में आ जाएंगी कि सबको बता देंगी?या उनके पेरेंट्स को बता कर अपना गुस्सा निकालेंगी?क्या करना सही रहेगा?इन सभी सवालों के जवाब आप भी तलाश रही हैं तो जवाब हमसे जान लीजिए। पति का अफेयर परिवार को तो तोड़ता ही है ये आपको भी अंदर से तोड़ देता है। इसके कई और प्रभाव भी होते हैं। कोई भी कदम बढ़ाने से पहले इन प्रभावों के बारे में सोचना जरूरी हो जाता है। इसलिए पति के पेरेंट्स को बताना एक बड़ा कदम साबित होता है। मगर इस वक्त खुद के मन को काबू रखना भी एक जरूरी काम होता है। इस वक्त खुले दिमाग से दिक्कत को समझना भी जरूरी है। क्या करना चाहिए आपको जान लीजिए-

पहले खुद हैंडल करें- देखिए ये ऐसा मामला है जिसे आप सबसे बताने से पहले कई बार सोचती हैं। क्योंकि मामला सिर्फ व्यक्तिगत नहीं बल्कि सामाजिक हो जाता है। इस मामले को सबसे बताना भी सही नहीं रहता है। क्योंकि इसको सामाजिक तौर पर अच्छा तो नहीं समझा जाता है। इसलिए पहले पहल इसे खुद हैंडल करके ही देखिए। पति को समझाइए,हो सकता है उन्हें तुरंत ही अपनी गलती का अहसास हो जाए। उन्हें बच्चों के बारे में बताइए। उन्हें बच्चों पर होने वाले असर के बारे में भी बताइए। आपके लिए न सही वो बच्चों के लिए जरूर अपने एक्सट्रा मेरिटल अफेयर को पीछे छोड़ देंगे।

जब नहीं समझें तब- एक समय ऐसा आएगा जब आप ये समझ लेंगी कि वो आपकी बात बिलकुल नहीं समझने वाले हैं। तब बारी आएगी लोगों की मदद लेने की। इस वक्त सबसे पहले उनके पेरेंट्स को नहीं बताना है। उन्हें इस बात का धक्का लग सकता है। इसलिए इस काम में आपकी मदद करेंगे पति के बेस्ट फ्रेंड। याद रखिए पुरुष दोस्तों से अपनी ऐसी व्यक्तिगत बातें जरूर ही बताते हैं। इसलिए इस वक्त उनसे मदद लेना बेहद कारगर साबित होगा। आप उनसे अपनी दिक्कत बताइए और कहिए कि आपको सीक्रेट तौर पर मदद करें। वो निश्चित ही इस मामले में आपकी मदद करेंगे।

 अब पेरेंट्स की बारी- अब ये समय पति के पेरेंट्स से मदद लेने का समय है। अब आप अपने सास-ससुर से बात कीजिए,क्योंकि इसके अलावा कोई रास्ता भी नहीं बचा है। उनसे कहिए कि उनके बेटे ने एक ऐसा काम किया है जो व्यक्तिगत और सामाजिक दोनों ही तरह से रिश्ते को खराब कर रहा है। और अब उनकी जिम्मेदारी है कि वो अपने बेटे को सुधारने की कोशिश करें। अगर वो ऐसा नहीं करेंगे तो घर टूटने से कोई नहीं रोक पाएगा। वो पहले पहल इस बात से घबराएंगे लेकिन आपकी बात समझेंगे जरूर।

पेरेंट्स सबसे ऊपर-  पति का अगर शादी से बाहर अफेयर है तो उन पर पेरेंट्स की बात का बहुत असर पड़ेगा ये याद रखिए। क्योंकि पेरेंट्स को उनका ये राज पता चल गया है ये जानकार ही वो शर्मिंदा महसूस करेंगे। फिर ऐसे में जब पेरेंट्स उनसे सामने से बात करेंगे तो इसका उन पर फर्क पड़ेगा ये तो निश्चित है। पति कभी भी खुद की वजह से अपने पेरेंट्स को शर्मिंदा होते हुए नहीं देख सकते हैं। इसलिए भी वो उनकी बात को महत्व जरूर देंगे।

 किसी का महत्व नहीं- अब जब आपकी,दोस्तों की और पेरेंट्स की बात का भी कोई असर नहीं हो रहा है तो समझ लीजिए कि पति की जिंदगी में अब किसी का कोई भी महत्व नहीं है। उनके लिए सिर्फ उनकी फिलिंग्स की अहमियत है। अब ऐसे में इस बात को जल्दी स्वीकार कर लेना ही सही रहेगा।

उनका रास्ता अलग है- अब आपको ये स्वीकार कर लेना चाहिए कि पति ने अपनी जिंदगी का अलग रास्ता चुन लिया है और वो नहीं रुकने वाले हैं। आपको इस बात को जिंदगी में उतार लेना होगा। इस वक्त बच्चों और अपने लिए समर्थ्य होने की कोशिश कीजिए। कोशिश ये कि आपको कम से कम आर्थिक तौर पर पति पर निर्भर नहीं होना चाहिए। उन्होंने अपना रास्ता चुन लिया है तो आप भी अलग चल दीजिए। अब अपनी और बच्चों की जिंदगी बनाइए।

मिले आपको उनके पेरेंट्स का साथ- ऐसे समय पर अगर पति के पेरेंट्स थोड़े भी दिल वाले होते हैं तो वो बहू का साथ जरूर देते हैं। इसलिए बिना संकोच किए ही उनसे मदद जरूर मांगिए। कहिए कि पति साथ नहीं दे रहे हैं तो उनको साथ देना चाहिए। यकीन मानिए आपको साथ मिलेगा। इस साथ का इस्तेमाल खुद को ग्रो करने में कीजिए। याद रखिए वो आपको भले सहयोग न करें लेकिन बच्चों को जरूर सपोर्ट करेंगे।

आपको भी दिखाना होगा प्यार- इस वक्त आपको खुद की सीमाओं को थोड़ा तोड़ना होगा। क्योंकि ऐसा अक्सर होता है कि लड़कियां ससुराल वालों के साथ सहयोग नहीं करती हैं। लेकिन अब जब आपके पति साथ छोड़ गए हैं और ससुराल वाले आपका साथ दे रहे हैं तब ये जरूरी है कि आप भी अपना 100 प्रतिशत दें। आप उन्हें अपने माता-पिता की तरह ही प्यार दें।

रिलेशनशिप संबंधी हमारे सुझाव आपको कैसे लगे?अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेेजें। आपरिलेशनशिपसंबंधी टिप्स व ट्रेंड्स भी हमें ईमेल कर सकते हैंeditor@grehlakshmi.com

 ये भी पढ़ें- बोल्ड आंखें,बोल्ड लिप्स