सेल्फी लाना आज के समय में एक ट्रेन्ड बनता जा रहा है। चाहे मौका कोई भी हो, हम सेल्फी लेने से नहीं चूकते। इतना ही नहीं, सेल्फी क्लिक करने के साथ तुरंत ही इसे अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपलोड कर देते हैं। कुछ हद तक ऐसा करने में कोई बुराई नहीं है, लेकिन अगर आपको सेल्फी लेने की लत है। तो यह आपके लिए हानिकारक हो सकता है। हमने ऐसे कई किस्से सुने हैं, जब लोगों ने एक अलग एंगल से सेल्फी लेने के चक्कर में खुद को चोटिल किया हो, यहां तक कि कई लोगों को तो अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ता है। इसलिए सोच-समझकर सेल्फी लेनी चाहिए। लेकिन क्या आपको इस बात की जानकारी है कि यह सेल्फी लेने की आदत आपके रिश्ते पर भी विपरीत प्रभाव डाल सकती हैं। कभी-कभी तो इस सेल्फी की लत के कारण रिश्ता टूटने की कगार तक पहुंच जाता है। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको बता रहे हैं कि सेल्फी लेने की आदत किस तरह आपके रिश्ते को प्रभावित कर सकती है-

सोशल रिव्यू रिश्ते को करता है डैमेज यह सेल्फी ऑब्सेशन का एक सबसे बड़ा नेगेटिव प्वाइंट है, जो आपके रिश्ते को प्रभावित कर सकता है। अमूमन ऐसा होता है कि जब हम अपने पार्टनर के साथ सेल्फी क्लिक करके उसे सोशल मीडिया पर अपलोड करती हैं तो ऐसे में अलग-अलग लोगों से कई तरह के कमेंट मिलते हैं और हर बार यह कमेंट पॉजिटिव ही हों, यह जरूरी नहीं है। हो सकता है कि आपका पार्टनर चबी हो या फिर उसका रंग सांवला हो, लेकिन वह आपसे बेहद प्यार करता हो और आप भी यह बात जानती हों। हालांकि, जब आप सोशल मीडिया पर लोगों के कमेंट को पढ़ती हैं तो इससे आपको अपने पार्टनर में कमियां नजर आने लगती हैं। इस स्थिति में अक्सर हम अपने पार्टनर की सिर्फ और सिर्फ कमियों पर फोकस करते हैं और ऐसे में रिश्ते में कड़वाहट घुलने लग जाती है। 

गृहलक्ष्मी टिप- हमेशा इस बात का ख्याल रखें कि दुनिया में कोई भी इंसान कभी भी परफेक्ट नहीं हो सकता। हम सभी में कुछ कमियां होती हैं, इसलिए आप लोगों की बात को अनसुना करके अपने पार्टनर की क्वालिटी पर फोकस करें।

नहीं रहते निजी पल  हर कपल्स के कुछ निजी पल होते हैं, जो वे सिर्फ एक-दूसरे के साथ बिताते हैं और यह सिर्फ और सिर्फ उनके लिए ही होते हैं। फिर चाहे बात पार्टनर के हाथों में हाथ डालकर वॉक करना हो या फिर साथ में आइसक्रीम खाना। हालांकि, जिन लोगों को सेल्फी लेने की आदत होती है, वह इन पलों को क्लिक करने से भी नहीं चूकते। ऐसे में उनके रिश्ते में ऐसा कुछ नहीं बचता, जो सिर्फ उनके लिए हो और उन्हें याद करके कपल्स अपने चेहरे पर एक मुस्कुराहट ला सकें।

गृहलक्ष्मी टिप- अगर आपको सेल्फी लेने की आदत भी है और अगर आप इन पलों की तस्वीर क्लिक कर भी रही हैं तो भी उन्हें केवल अपने फोन तक ही सीमित रखें। उसे सोशल मीडिया पर अपलोड करने से बचें।

क्वालिटी टाइम की कमी आज के समय में कपल्स के साथ एक सबसे बड़ी समस्या यह होती है कि दोनों ही पार्टनर काफी बिजी रहते हैं और इसलिए वह एक-दूसरे को बेहद कम समय दे पाते हैं। अगर इनमें भी किसी एक पार्टनर को सेल्फी ऑब्सेशन है तो इससे वह कभी भी क्वालिटी टाइम नहीं बिता पाते।  दरअसल, ऐसे में पार्टनर का ध्यान सेल्फी खींचने पर अधिक होता है, जिसके कारण वह उन पलों का आनंद ही नहीं ले पाता और ना ही इससे रिश्ते पोषित हो पाते हैं।

गृहलक्ष्मी टिप-अगर आपको सेल्फी ऑब्सेशन है और आपके पास इतना समय नहीं होता कि आप दोनों एक-दूसरे को पर्याप्त समय दे सकें। तो ऐसे में सबसे अच्छा उपाय है कि जब आप अपने पार्टनर के साथ हों तो अपने फोन को स्विच ऑफ कर दें या फिर उसे अपने पार्टनर को दे दें। जब आपके पास फोन होगा ही नहीं, तो आपका ध्यान सेल्फी पर नहीं, बल्कि अपने पार्टनर पर होगा।

रिश्ते में एकाकीपन यह एक ऐसा नकारात्मक प्रभाव है, जो सेल्फी ऑब्सेशन के कारण रिश्तों पर देखने को मिलता है। ऐसे में जहां एक पार्टनर सेल्फी क्लिक करने में बिजी होता है, वहीं दूसरा पार्टनर खुद को अकेला महसूस करता है। भले ही आप वीकेंड पर घूमने गए हों या फिर डिनर का प्लॉन बनाया हो। ऐसे में एक पार्टनर फिजिकली तो उस स्थान पर मौजूद होता है, लेकिन मेंटली या फिर भावनात्मक रूप से वह होता ही नहीं है। जरा सोचिए, आप अपने पार्टनर के साथ बाहर हैं और वह केवल सेल्फी ही क्लिक कर रहा है तो ऐसे में आपको  कैसा अहसास होगा। यकीनन आपको लगेगा कि आपका पार्टनर होकर भी नहीं है। वास्तविकता में ऐसा ही होता है।

गृहलक्ष्मी टिप-अगर आपको चाहकर भी अपने सेल्फी ऑब्सेशन से निजात नहीं मिल रहा है तो ऐसे में सबसे अच्छा उपाय है कि आप इसके लिए एक प्रोफेशनल की मदद लें। वह आपको इस लत को दूर करने के कुछ कारगर उपाय बताएंगे। साथ ही आप एक रिलेशनशिप एक्सपर्ट से भी अवश्य मिलें, ताकि अपने कमजोर हो चुके रिश्ते में प्यार के पौधे को दोबारा पनपने का मौका मिल सके।

यह भी पढ़ें- पति के साथ इस तरह बांटें जिम्मेदारी, दोनों में से किसी को नहीं होगी परेशानी

रिलेशनशिप संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही रिलेशनशिप से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें –editor@grehlakshmi.com