पति की एक आदत आपको आजकल हलकान किए हुए है। ये आदत है उनका अक्सर ही घर पर पार्टी रख लेना। आपको मेहमान बुरे नहीं लगते हैं। लेकिन रोज-रोज या हफ्ते में 4 दिन पार्टी करना किसी को भी थका सकता है। हालांकि कई बार खाना बाहर से ही आ जाता है। तब भी क्या खातिरदारी परेशान नहीं करती होगी। घर को पार्टी के लिए तैयार करते हुए अक्सर आप थक जाती होंगी। इस थकावट को पति नहीं समझते। वो नहीं समझते कि पार्टी में सिर्फ खाना ही नहीं होता है बल्कि कई दूसरे काम भी होते हैं, जिनको भुला दें तो पार्टी बेकार ही हो जाएगी। इसलिए जरूरी है कि पति को अक्सर पार्टी क करने से रोका जाए। कैसे समझाएंगी उन्हें ये बात जान लीजिए-

पार्टी नहीं साथ है जरूरी

पार्टी करना अच्छा लगता है लेकिन साथ होना ज्यादा जरूरी है। ये बात सबको याद रखनी चाहिए किसी का साथ पार्टी के हो हल्ले से कहीं ज्यादा अहम है। ये बात आपको अपने पति को भी समझनी होगी। उन्हें बताइए कि पार्टी के चलते आप दोनों साथ में समय गुजार ही नहीं पाते हैं। इसके चलते बहुत सी बातें अधूरी रह जाती हैं। आप दोनों का ज्यादा समय तो पार्टी करने या पार्टी की तैयारी करने में निकल जाता है। ऐसे में साथ बैठने का समय मिलता ही नहीं है। 

ये कैसी दोस्ती

आपके पति को पार्टी के सहारे पक्की होती इस दोस्ती की असलियत भी समझनी होगी। वो दोस्त जो पार्टी करते हैं और इसको ही दोस्ती कहते हैं वो दोस्त बिलकुल नहीं हैं। पति को इस दोस्ती की असलियत जरूर बताइए। उन्हें बताइए कि ये दोस्ती है ही नहीं। जो दोस्त सिर्फ पार्टी के लिए आपके साथ हैं, उन्हें टाटा-बाय करने में ही समझदारी है। ऐसे लोग किसी के दोस्त नहीं हो सकते हैं। ऐसे लोगों की असलियत से पति को वाकिफ होना ही पड़ेगा। उनसे कहिए कि दोस्ती के असल माने समझें। 

आपको पसंद नहीं

अब जब इतनी बातें बताने के बाद भी आपके पति को पार्टी की बात समझ नहीं आ रही है तो उन्हें सामने से सच्चाई बता दीजिए। उन्हें बताइए कि आप हर दूसरे दिन होती पार्टी के साथ सहज बिलकुल नहीं हैं। आपको अपने लिए घर के लिए समय नहीं मिल पाता क्योंकि कभी आप खातिरदारी में तो कभी पार्टी के इंतजाम करने में व्यस्त रहती हैं। ऐसे में आको भी इन पार्टी की दिक्कत से छुटकारा चाहिए। आप ऐसे और दिन हैंडल नहीं कर पाएंगी। 

बिगड़ता बजट

भले ही आपके पति की कमाई अच्छी हो लेकिन उन्हें पैसों की वैल्यू समझनी होगी। उन्हें बहुत बड़ी रकम पार्टी पर खर्चने से बचना होगा। वो मेहनत की कमाई को यूंही आए दिन होने वाली पार्टी पर खर्च नहीं कर सकते हैं। इन पैसों से कई जरूरी कामों जैसे बच्चों के भविष्य की सुरक्षा पर लगाया जा सकता है। 

 

रिलेशनशिपसंबंधी यह लेख आपको कैसा लगा?अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ईमेल करें editor@grehlakshmi.com

ये भी पढ़ें-

बॉलीवुड हसीनाओं के घर ऐसे कि नजर ना हटे