वक्त बदल रहा है और वक्त के साथ रिश्ते भी बदल रहे हैं। एक वो वक्त था, जब कहीं बाहर जाने का मतलब परिवार के साथ जाना होता था। मगर अब परिवार की जगह दोस्तों ने ले ली है। जो रिश्तों को अंदर ही अंदर खोखला कर रहा है। परिवार एक ऐसी अनमोल पूंजी है, जिसके सदस्य हर वक्त हमारे साथ एक स्ंतभ भी तरह खड़े रहते हैं। ऐसे में हमें परिवार को खुशहाल रखने के लिए कई प्रकार के प्रयास करने चाहिए, ताकि एकजुटता बनी रहे और रिश्तों में ताज़गी का एहसास हर समय रहे। तो आइए जानते हैं, कुछ उपाय

एक साथ बैठकर खाना खांए

घर के सभी सदस्यों का टेस्ट भले ही अलग हो, मगर खाना खाने का वक्त एक हो सकता है। आप जो भी खाएं, लेकिन अगर एक साथ बैठकर खाएं, तो इससे रिश्तों में मिठास और ताज़गी हर वक्त बरकरार रहती है। रात को डिनर के वक्त घर में अन्य लोगों से बातचीत और उनसे दिन का हाल जान सकते है। लेकिन अगर आप अलग अलग खाना खाएंगे और अलग अलग कमरों में बैठेगे, तो इससे घर का माहौल बिगड़ने लगेगा और घर के सदस्य साथ रहकर भी दूरी महसूस करेंगे।

गिले शिकवे दूर करें

कई बार हमें परिवार के किसी सदस्य की कोई बात बेहद परेशान कर जाती है, जिसके चलते हम सालों तक एक दूसरे से बात नहीं करते और एक दूसरे से दूरी बना लेते हैं। अगर आप भी किसी ऐसी ही समस्या से दो चार हो रहे हैं, तो ऐसे में आप खुद पहल करें और मन मुटाव दूर करने का प्रयास करें। कोशिश करें कि परिवार के सदस्यों से प्रेम भावना सदैव बनी रहे।

 

हर त्योहार मिलकर मनाएं

आजकल के दौर में लोग कोई त्योहार हो यां फिर बर्थडे पार्टी] हर मौका वे अपने दोस्तों के साथ एंजाय करना चाहते है। मगर इससे पारिवारिक एकता पर आंच आ सकती है। ऐसे में आप दोस्तों से पहले परिवार के सदस्यों को अपने हर फंक्शन में शामिल करें और उनके साथ ही हर त्योहार का आनंद उठाए। अगर आप चाहें तो दोस्तों के साथ अलग पार्टी प्लान करें, मगर परिवार के सदस्यों को प्राथमिकता दें, क्यों कि हर सुख दुख में केवल आपका परिवार ही फौलादी से आपके साथ खड़ा होगा।  

 

एक साथ घूमने का प्लान बनाएं

घूमने फिरने के लिए हमें परिवार के सदस्यों के साथ योजना बनानी चाहिए। हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि छोटे से लेकर बड़े बुजुर्गों तक सभी को एक साथ लेकर चलें, ताकि वे भी घूमने का लुत्फ उठा सकें। परिवार के बड़े बुजुर्ग अक्सर घरों में कैद रहते हैं, ऐसे में उन्हें बाहर  लेकर जाना हमारी जिम्मेदारी हैं। वे बाहर जाकर न सिर्फ मौल मस्ती कर सकते है बल्कि अलग अलग क्यूजीन्स का स्वाद भी चख सकते है, जो उनके अंदर एक नई उर्जा को भर देगा।

आजकल के दौर में लोग कोई त्योहार हो यां फिर बर्थडे पार्टी] हर मौका वे अपने दोस्तों के साथ एंजाय करना चाहते है। मगर इससे पारिवारिक एकता पर आंच आ सकती है। ऐसे में आप दोस्तों से पहले परिवार के सदस्यों को अपने हर फंक्शन में शामिल करें और उनके साथ ही हर त्योहार का आनंद उठाए। अगर आप चाहें तो दोस्तों के साथ अलग पार्टी प्लान करें, मगर परिवार के सदस्यों को प्राथमिकता दें, क्यों कि हर सुख दुख में केवल आपका परिवार ही फौलादी से आपके साथ खड़ा होगा।

रिलेशनशिप संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही रिलेशनशिप से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें –editor@grehlakshmi.com

यह भी पढे  उम्र में बड़े पुरुष के साथ रिलेशनशिप में हैं, तो जान लें ये बातें