नितिन और वर्षा की किसी बात पर बहस शुरू हुई और बातों- बातों में नितिन ने वर्षा पर हाथ उठा दिया। बात शायद थोड़ी देर बाद सुलझ भी जाती लेकिन घर में आयी वर्षा की बहन ने दूसरे रिश्तेदारों को ये बात बता दी और रिश्तेदारों ने बात का बतंगड़ बना लिया। उसकी हिम्मत कैसे हुई वर्षा पर हाथ उठाने की , ऐसा कोई कर भी कैसे सकता है , वर्षा ऐसे आदमी के साथ नहीं रह सकती जैसी बातें और नतीजा तलाक………परिवार या रिश्तेदारों की दखलअंदाज़ी,पार्टनर से बढ़ती उम्मीदें, एक दूसरे के विचारों में असहमति जैसी कई वजहें हैं जिनकी वजह से रिश्ता टूटने की कगार पर आ जाता है। आइए बात करते हैं कुछ ऐसे ही कारणों के बारे में जिनकी वजह से शादी के रिश्ते में तलाक की नौबत आ जाती है।
 
दहेज़ के लिए प्रताड़ना 
आज के बदलते परिवेश में जब लड़की और लड़के में कोई अंतर नहीं रह गया है तब भी दहेज़ जैसी बातें आती हैं। लड़की के ससुराल वाले लड़की को दहेज़ के लिए प्रतारणा देते हैं जो कि तलाक की बहुत बड़ी वजह है। 
 
परिवार के लोगों और रिश्तेदारों का हस्तक्षेप 
जब एक जोड़ा शादी के बंधन में बांध जाता है तो कई नए रिश्ते भी जुड़ते हैं। लड़की नए घर में प्रवेश करती है जिससे नयी जिम्मेदारियों में उलझ जाती है। ऐसे में कई बार ऐसा होता है कि लड़की की मां या कोई और रिश्तेदार लड़की को नकारात्मक शिक्षा देकर परिवार से अलग कर देती है जैसे वो लड़की को समझाती है की ज्यादा काम न करके अपने काम से ही मतलब रखे। ऐसी ही दखलअंदाज़ी तलाक का कारण तक बन जाती है। 
 
 
एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर
 
शादी के बाद पति या पत्नी में से किसी एक का यदि एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर है तो दूसरा इस बात को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं कर पाता और रिश्ते में पड़ने वाली ये दरार तलाक तक पहुंच जाती है। 
 
मर्ज़ी के खिलाफ शादी होना
 
कई बार किसी दबाव में आकर लड़का और लड़की शादी कर लेते हैं जबकि वो किसी और को प्यार करते  हैं। ऐसे में मर्ज़ी के खिलाफ करवाई गई शादी भी तलाक की एक वजह बन सकती है ।
 
दोनों का  स्टेटस मैच न करना 
 
पति-पत्नी दोनों में से अगर कोई एक ज़्यादा अमीर है और कम अमीर तो भी इस रिश्ते की डोर कमज़ोर हो जाती है।  कई बार लड़की ज़्यादा अमीर घर से आयी होती है और वो अपने पति को बात-बात पर नीचे दिखती है और तलाक की नौबत आ जाती है। 
प्यार की कमी
 
एक दूसरे के लिए प्यार कम  होने से भी पति-पत्नी के रिश्ते में दरार पड़ जाती है। कभी-कभी दूसरों से तुलना करके जैसे कि उसकी पत्नी ज़्यादा सुंदर है, उसके पति की हाइट कितनी अच्छी है जैसी बातें प्यार काम कर देती हैं और बात तलाक तक पहुंच जाती है। ऐसा भी होता है कि  काम की व्यस्तता में भी दोनों एक दूसरे को टाइम नहीं दे पाते हैं और लड़ाइयां बढ़कर तलाक के कटघरे तक पहुंचा देती हैं। 
 
सेक्स में संतुष्टि न होना 
 
पति-पत्नी यदि  सेक्सुअली एक-दूसरे के साथ संतुष्ट नहीं है तो ये भी तलाक की एक वजह बन सकती है। 
 
 
एक-दूसरे पर शक करना 
पति-पत्नी का रिश्ता विश्वास पर टिका होता है। लेकिन बहुत बार ऐसा होता है कि  दोनों किसी बात को लेकर एक दूसरे पर शक करने लगते हैं जिससे प्यार और विश्वास कम हो जाता है और यही तलाक की वजह बन जाता है। 
 
ये भी पढ़े-
 
 आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकती हैं।