एक समय था जब महिलाएं घर की चार दीवारी में कैद रहकर सिर्फ घर के ही काम करती थीं और पुरुष घर के लिए रोजी -रोटी कमाने बाहर जाता था। धीरे-धीरे समय के साथ समाज की सोच भी बदली और महिलाऐं पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने लगीं। इसके अलावा समय ने एक नया मोड़ तब लिया जब महिलाओं की भूमिका बदल गयी। मतलब एक कांसेप्ट डेवलप हुआ वर्किंग विमेंस का जिसमे महिलाऐं भी ऑफिस में या फिर किसी और जगह काम के लिए बाहर जाने लगीं और पुरुषों के किरदार में भी बदलाव आया।  आइए आपको बताते हैं कुछ ऐसे ट्रिक्स जिनसे वर्किंग कपल्स अपने बिजी लाइफस्टाइल को बखूबी मैनेज कर सकते हैं।  
 
घर के कामों में एक दूसरे की  मदद करें  
 
दोनों पार्टनर्स को समझना चाहिए कि लड़का होने का मतलब यह नहीं कि आप घर के काम नहीं कर सकते और आप महिला होने के नाते आप बाहर का काम नहीं कर सकती। दोनो को आपस में सामंजस्य  बना कर रखना चाहिए। जैसे पत्नी अगर मार्केट से सब्जी खरीद कर लाती है तो पति को चाहिए कि  कभी -कभी सब्जी या कोई और डिश बनाकर पत्नी को सरप्राइज दे।  
 
पति-पत्नी दोनों रखें बच्चे का ख्याल 
 
यदि पति-पत्नी दोनों वर्किंग हैं तो बच्चे को संभालना किसी एक की ज़िम्मेदारी नहीं है। आप दोनों वर्किंग होने के साथ-साथ माता-पिता भी हैं तो आपकी जिम्मेदारी और बढ़ जाती है। आप दोनों को इस बात का ध्यान रखना होगा कि ऑफिस से आने के बाद दोनों लोग बच्चों के साथ वक्त बिताएं। बच्चे का स्कूल होमवर्क हो या सुबह स्कूल के लिए रेडी करना है दोनों को एक दूसरे का सहयोग करना चाहिए। 
 
वीकेंड पर बाहर घूमने जाएं
 
अपने वीकेंड्स पर केवल पार्टनर को वक्त दें। उनके साथ टाइम बिताएं, बाहर घूमें। हो सके तो एक छोटी सी ट्रिप प्लान कर के साथ जाएं। कहीं घूमने नहीं जा  पा रहे हैं तो घर पर ही साथ बैठकर खाना-पीना साथ में खाएं और बैठकर बातें करें।  
 
पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ को अलग रखें
 
अगर आप दोनों पार्टनर वर्किंग हैं तो एक बात का ध्यान रखें कि आप अपनी पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ को अलग रखें। पार्टनर के साथ होते हुए ऑफिस का काम न करें। एक दूसरे को ज़्यादा से ज़्यादा समय दें। इसके अलावा कभी कोई ऑफिस की प्रॉब्लम हो तो बैठकर बात कर सकते हैं। 
 
ये भी पढ़ें –