वैसे तो सेक्स एक बेहद खूबसूरत अनुभूति का नाम है जो दो लोगों के बीच के बंधन को और ज्यादा मजबूत बनाता है। लेकिन पार्टनर की एक छोटी सी गलती दोनों के बीच दूरी ला सकती है। आइए जानें कैसे – 

मूड नहीं है

आजकल की व्यस्त जीवनशैली में पति-पत्नी दोनों ही इतने थके होते हैं कि सेक्स एन्जॉय नहीं करना चाहते। ऐसे में कई बार पत्नी तबियत खराब या मूड न होने का बहाना करके सेक्स से इंकार कर देती है जबकि पति सेक्स करना चाहता है। पत्नी  का ऐसा व्यवहार पति  को आहत कर सकता है इसलिए रोज़ ऐसे बहाने करने की बजाय पति की इच्छाओं का सम्मान करें। यदि किसी कारण से मूड ख़राब है तो बेडरूम में जाने से पहले अपने मूड को ठीक करने का प्रयास करें और इन खुशनुमा पलों को एन्जॉय करें। 

कम्युनिकेशन गैप

तनाव और बढ़ते वर्कलोड के कारण पति-पत्नी इतने व्यस्त हो जाते हैं कि सेक्स एन्जॉयमेंट न होकर औपचारिकता मात्र रह जाता है।कम समय में दोनों एक-दूसरे को समझने की बजाय अपनी-अपनी अपेक्षाओं व इच्छाओं को पूरी करने की मांग रखते हैं और सेक्सुअल चाहतें पूरी न होने पर दोनों असंतुष्ट रहते हैं।  इस असंतुष्टि का मुख्य कारण दोनों के बीच का कम्युनिकेशन गैप होता है। इसलिए आपको चाहिए कि  व्यस्त होने के बाद भी दोनों एक-दूसरे के लिए समय निकालें।  एक-दूसरे से शिकायतें करने की बजाय रोमांटिक बातें करें और सेक्स लाइफ़ को बेहतर बनाने के लिए दोनों ही आपस में खुलकर बातें करें। 

असंतुष्टि का भाव  

आमतौर पर  महिलाओं की सोच होती है कि किस तरह से अपने पति को संतुष्ट करें और इसी तनाव के कारण पत्नियों की दिलचस्पी सेक्स के प्रति कम होने लगती है।  जबकि उन्हें ये समझने की आवश्यकता है कि केवल पति को ही नहीं, बल्कि पत्नी को भी पूर्ण संतुष्टि होनी चाहिए। ऐसे में  आपको चाहिए कि  सेक्स के अंतरंग पलों में दोनों एक-दूसरे की इच्छाओं का ध्यान रखें और पत्नियां अपने पति से अपनी इच्छाओं को शेयर करके दोनों की  सेक्स लाइफ़ को सुखद बनाएं। 

 फिगर के बारे में सोचना 

महिलाएं अपने फिगर को लेकर बहुत जल्दी चिंता में आ जाती हैं उन्हें ऐसा लगता है कि वो मोटी  हो गई  हैं और उनका खराब फिगर पति को आकर्षित नहीं कर पाएगा। इस सोच की वजह से वो बिना पति के कुछ बोले ही अपने आप सेक्स से दूरी बनाने लगती हैं जो कि रिश्ते में दूरी का कारण भी बन सकता है।आपको चाहिए कि  सकारात्मक सोच रखें। क्योंकि  यदि प्यार है तो  मोटे-पतले होने से सेक्स लाइफ़ पर कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता।

बदलाव से इंकार 

सेक्स में पुरुष बदलाव पसंद करते हैं जबकि महिलाएं  इस बदलाव से बचने के बारे में सोचती हैं। कई बार पत्नियां अपने पति से गलत शब्दों का प्रयोग तक कर देती हैं जैसे कि आपको इसके अलावा और कोई काम ही नहीं है। पत्नी का ऐसा बोलना पति की भावनाओं को ठेस पंहुचा सकता है और उनके जोश को ठंडा कर सकता है जो रिश्ते में दूरी ला सकता है। यदि आपके पति सेक्स में कुछ बदलाव चाहते हैं तो नाराज़ होने के बजाय उनका साथ दें और सेक्स को ज्यादा रोमांटिक बनाने की कोशिश करें। 
 इच्छा को दबाना 
सेक्स के दौरान ज़्यादातर महिलाएं अपनी भावनाएं, इच्छाएं, एक्साइटमेंट को दबाए रखती हैं, उनको लगता है कि पति कहीं उनके इस एक्साइटमेंट को ग़लत न समझ बैठें। जबकि पत्नी का ऐसा रूखा व्यवहार देख पति को लगता है कि वह स़िर्फ एक औपचारिकता निभा रही है, उसमें सेक्स के प्रति कोई उत्साह नहीं है। इसलिए ऐसा जरूरी नहीं है कि हमेशा पति ही पहल करे पत्नी को भी सेक्स में पहल करनी चाहिए और अपनी इच्छा बतानी चाहिए।