Whatsapp new_privacy policy
व्हाट्सएप पर सुरक्षित

व्हाट्सएप पर आप और आपके मैसेज सुरक्षित रह सकें, यह सबसे ज्यादा जरूरी है। व्हाट्सएप पर सुरक्षा के लिए जरूरी है कि आप उन टूल्स और फीचर्स के बारे में जानें, जिनसे आपको व्हाट्सएप पर सुरक्षित रहने में मदद मिलेगी।  

व्हाट्सएप की सेवा की शर्तें

व्हाट्सएप अपनी सेवा की शर्तों की सहायता से आपको व्हाट्सएप पर सुरक्षित रखने की कोशिश करता है। व्हाट्सएप की सेवा की शर्तों में कुछ गतिविधियों को प्रबंधित किया गया है। इनमें व्हाट्सएप पर स्टेटस, प्रोफाइल फोटो या मैसेज में अनुचित कॉन्टेंट को शेयर करना शामिल है। इस तरह के कॉन्टेंट में गैरकानूनी, अश्लील, मानहानि से जुड़े, धमकी देने, डराने, परेशान करने, नफरत फैलाने, जातीय या नस्लीय भेदभाव फैलाने या गलत व्यवहार करने के लिए उकसाने वाले कॉन्टेंट शामिल हैं। यदि व्हाट्सएप को लगता है कि किसी यूज़र ने उसकी सेवा की शर्तों का उल्लंघन किया है, तो व्हाट्सएप तुरंत उसके व्हाट्सएप अकाउंट को बंद कर देता है। 

सोच और समझ कर करें कॉन्टेंट को शेयर

व्हाट्सएप का सुझाव है कि आप अपने व्हाट्सएप संपर्कों के साथ किसी भी कॉन्टेंट को सोचने और समझने के बाद ही शेयर करें। किसी भी कॉन्टेंट को शेयर करने से पहले यह सोचें कि आप जिस कॉन्टेंट को शेयर करना चाह रहे हैं, उसे आप अन्य लोगों को दिखाना चाहते हैं या नहीं। 

जब भी आप व्हाट्सएप पर किसी व्यक्ति के साथ चैट, फोटो, वीडियो, फाइल या वॉइस मैसेज को शेयर करते हैं तो उनके पास इनकी एक कॉपी से हो जाती है। यदि आपका संपर्क चाहे तो वह दूसरों के साथ इन्हें शेयर कर सकता है। ऐसे में आप एक बार देखे जा सकने वाले मीडिया विकल्प को चुन कर अपने मैसेज को शेयर कर सकते हैं। 

व्हाट्सएप पर लोकेशन फीचर भी शेयर करने की आजादी है। इसका इस्तेमाल करके आप व्हाट्सएप मैसेज के तौर पर अपनी लोकेशन अपने किसी भी संपर्क के साथ शेयर कर सकते हैं। लेकिन यहां यह ध्यान रखना जरूरी है कि आपको अपनी लोकेशन सिर्फ उन लोगों के साथ ही शेयर करनी चाहिए, जिन पर आप भरोसा करते हैं। 

ऐसे इस्तेमाल करें सुरक्षा से जुड़े फीचर्स  

व्हाट्सएप पर कई ऐसे फीचर्स मौजूद हैं, जिन्हें आप सेट करके खुद को सुरक्षित रख सकते हैं। इनमें से कुछ निम्न हैं – 

प्राइवेसी सेटिंग्स 

प्राइवेसी सेटिंग्स में जाकर आप सेट कर सकते हैं कि आप की जानकारी को कौन देख सकता है और कौन नहीं। आप अपने पिछली बार देखे गए, प्रोफाइल फोटो या स्टेटस इनमें से किसी को भी निम्न को सेट कर सकते हैं – 

  • कोई भी : व्हाट्सएप के सभी यूजर्स आपके पिछली बार देखे गए, प्रोफाइल फोटो या स्टेटस को देख सकते हैं।
  • मेरे संपर्क : सिर्फ आपकी एड्रेस बुक के संपर्क ही आपके पिछली बार देखे गए, प्रोफाइल फोटो या स्टेटस को देख सकते हैं।  
  • कोई नहीं : आपके पिछली बार देखे गए, प्रोफाइल फोटो या स्टेटस को कोई भी व्यक्ति नहीं देख सकता है। 

पढ़े गए मैसेज फीचर

अगर आप चाहें तो ‘पढ़े गए मैसेज फीचर’ को ऑफ भी कर सकते हैं। यदि आप ‘पढ़े गए मैसेज’ फीचर को ऑफ कर देंगे तो आपकी चैट में आने और जाने वाले मैसेज पर पढ़ लिए जाने के बाद भी दो ब्लू टिक नहीं दिखेंगे। यहां आपको यह ध्यान रखना जरूरी है कि यदि आप प्राइवेसी सेटिंग्स में ‘पढ़े गए मैसेज’ फीचर को ऑफ कर देते हैं, तो भी ग्रुप चैट में सबके द्वारा मैसेज पढ़ लिए जाने के बाद ब्लू टिक हमेशा दिखाई देगा।

ऐसे करें संपर्क और मैसेज को ब्लॉक या रिपोर्ट 

आपका फर्ज बनता है कि आप व्हाट्सएप को ऐसे कॉन्टेन्ट और संपर्कों के बारे में बताएं, जिनसे समस्या हो सकती है। जिन संपर्क और मैसेज से आपको समस्या हो रही है, उन्हें व्हाट्सएप पर  ब्लॉक करने या उनकी रिपोर्ट करके आप इस बात को कंट्रोल कर सकते हैं कि आप किस संपर्क से बात करना चाहते हैं और किस तरह का कॉन्टेन्ट देखना चाहते हैं। एक बार देखे जा सकने वाली फोटो या वीडियो के मिलने की स्थिति में आप सीधे मीडिया व्यूअर की मदद से उस अकाउंट को रिपोर्ट कर सकते हैं, जिससे आपको वह मैसेज मिला हो। 

सुरक्षा से संबंधित अन्य रिसोर्स

यदि आपको लगता है कि आप या कोई अन्य यूजर खतरे में है, तो आप अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं से संपर्क कर सकते हैं। 

यदि आपको लग रहा है कि आपका कोई संपर्क खुद को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहा है और आप उसकी सुरक्षा को लेकर परेशान हैं, तो स्थानीय आपातकालीन सेवाओं या आत्महत्या रोकथाम हॉटलाइन से संपर्क करना जरूरी है। 

यदि आप को बच्चों के शोषण या उनके साथ खराब व्यवहार से जुड़ा कोई कॉन्टेन्ट दिखता है, तो आप नेशनल सेंटर फॉर मिसिंग एंड एक्सप्लॉइटेड चिल्ड्रन से संपर्क कर सकते हैं। आप इस तरह के कॉन्टेन्ट को भेजने वाले यूजर को रिपोर्ट भी कर सकते हैं। आप जिस संपर्क के बारे में रिपोर्ट करना चाहते हैं, उसके स्क्रीनशॉट को अपनी रिपोर्ट में शामिल ना करें। 

व्हाट्सएप

संदिग्ध लिंक के बारे में 

आपको चैट में कई बार ऐसे कुछ लिंक मिलते हैं जो संदिग्ध हो सकते हैं। इसका पता लगाने के लिए आपको ध्यान देना होगा कि उस लिंक में ऐसे अक्षर मौजूद हो सकते हैं, जो आम तौर पर सही वेब एड्रेस में नहीं होते। स्पैम करने वाले इन अक्षरों का इस्तेमाल करके ऐसे लिंक बना लेते हैं, जो दिखने में असली वेबसाइट की तरह ही होते हैं। लेकिन आप जैसे ही उन पर टैप करेंगे, वह आपको किसी ऐसी वेबसाइट पर ले जाएगा, जहां आप के साथ धोखाधड़ी हो सकती है। 

ऐसा दिख सकता है संदिग्ध लिंक

https://ẉhatsapp.com/free-tickets

जरूरी बातें 

  • ऊपर वाले लिंक में पहला अक्षर ‘w’ जैसा दिख रहा है लेकिन असल में उस अक्षर के नीचे एक बिंदु लगा है।  यह संभव है कि किसी स्पैमर ने धोखाधड़ी करने के लिए इस वेबसाइट को बनाया हो लेकिन असल में यह लिंक व्हाट्सएप से बिल्कुल भी संबंधित नहीं है। 
  • आपको जब भी मैसेज में कोई लिंक मिलता है तो जरूरी है कि आप उसके कॉन्टेन्ट को ध्यान से देखें। लिंक को संदिग्ध के तरह से मार्क किया गया है तो लिंक पर टैप करते ही आपको तुरंत एक पॉपअप मैसेज दिखाई देगा। इसमें लिंक के अक्षर हाईलाइट होंगे जो गलत है। इसके बाद यह आपके ऊपर है कि आप उस लिंक को खोलना चाहते हैं या चैट में वापस जाना चाहते हैं। 
  • व्हाट्सएप अपने आप जांच करता है कि कोई भी लिंक संदिग्ध है या नहीं है। आपकी प्राइवेसी की सुरक्षा के लिए इस तरह के लिंक को आपके डिवाइस पर ही चेक किया जाता है। इसके साथ ही, आपके सभी मैसेज एंड टू एंड इंक्रिप्शन से सुरक्षित होते हैं, इसलिए व्हाट्सएप आपके मैसेज के कॉन्टेन्ट को नहीं देख सकता है। 

व्हाट्सएप इस्तेमाल करने का सही तरीका

  • यह जरूरी है कि आप सिर्फ उन्हीं संपर्कों से बातचीत करें, जिन्होंने आपसे संपर्क किया हो या जिन्होंने व्हाट्सएप पर संपर्क करने के लिए आपको अनुरोध भेजा हो। बढ़िया तो यह होगा कि आप अपने संपर्कों के साथ पहले ही अपना फोन नंबर शेयर कर लें ताकि वे आपको मैसेज भेज सकें। 
  • अपने किसी भी संपर्क को किसी भी ग्रुप में शामिल  करने से पहले उनकी अनुमति लेना सही रहता है। किसी को अपने ग्रुप में शामिल करते हैं और वे उस ग्रुप को छोड़ देते हैं, तो आपको उनके फैसले का सम्मान करना चाहिए।  
  • व्हाट्सएप ग्रुप के लिए व्हाट्सएप ने एक ऐसी सेटिंग तैयार की है, जिसमें सिर्फ एडमिन ही ग्रुप में मैसेज भेज सकता है। यदि आप किसी ग्रुप के एडमिन हैं, तो आप ग्रुप की सेटिंग्स में जाकर चुन सकते हैं कि ग्रुप के सभी सदस्य मैसेज भेज सकते हैं या फिर उस ग्रुप का एडमिन। 
  • फॉरवर्ड किए गए मैसेज के लिए भी व्हाट्सएप में एक लेबल बनाया है। मैसेज फॉरवर्ड करने की सीमा भी व्हाट्सएप ने तय की है ताकि मैसेज शेयर करने से पहले यूजर यह सोचें कि उन्हें उस मैसेज को शेयर करना है या नहीं।  यदि आपको लगता है कि किसी मैसेज में भेजी गई जानकारी गलत है या आप नहीं जानते हैं कि मैसेज किसने लिखा है तो व्हाट्सएप सुझाव देता है कि आपको ऐसे मैसेज को फॉरवर्ड नहीं करना चाहिए। 

क्या ना करें

  • यदि कोई संपर्क आपसे कहता है कि आप उन्हें मैसेज ना करें तो आपको उनसे संपर्क नहीं करना चाहिए। 
  • व्हाट्सएप से ऑटोमेटेड या बल्क मैसेज नहीं भेजें और ना ही ऑटो डायल करें। व्हाट्सएप मशीन लर्निंग टैक्नोलॉजी और अपने यूजर से मिली रिपोर्ट की सहायता से अकाउंट का पता लगाकर उन्हें बैन करता है, जो अनचाहे ऑटोमेटेड मैसेज भेजते हैं। 
  • ब्रॉडकास्ट लिस्ट का इस्तेमाल करके भेजे गए मैसेज यूजर को तब तक नहीं मिलते हैं, जब तक कि उन्होंने आप के फोन नंबर को अपने संपर्क सूची में शामिल ना किया हो। यह भी ध्यान रखें कि यदि आप ब्रॉडकास्ट लिस्ट का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं, तो यूजर आपके भेजे गए मैसेज को रिपोर्ट कर सकते हैं। किसी अकाउंट को बार- बार रिपोर्ट किए जाने पर व्हाट्सएप उसे बंद कर देता है। 

Leave a comment