देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती (पांच सितंबर) समूचे भारत में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। वे स्वतंत्र भारत के पहले उप-राष्ट्रपति भी थे।  डॉ. राधाकृष्णन 1952 से लेकर 1962 तक देश के उप-राष्ट्रपति रहे। इतना ही नहीं डॉ. राधाकृष्णन ने  1962 से 1967 तक देश के दूसरे राष्ट्रपति के रुप में कार्य किया। डॉ राधाकृष्णन शिक्षकों का बहुत सम्मान करते थे। राजनीति में आने से पहले डॉ. राधाकृष्णन ने कोलकत्ता विश्वविद्यालय, मैसूर विश्वविद्यालय और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में अध्यापन कार्य भी किया था। डॉ, राधाकृष्णन  का मानना था कि शिक्षक वह व्यक्ति होता है, जो युवाओं को देश के भविष्य के रूप में तैयार करता है। यही कारण था कि डॉ राधाकृष्णन ने उच्च शिक्षा संस्थानों में अध्यापन की अपनी जिम्मेदारी को पूरी ईमानदारी के साथ निभाया। डॉ. राधाकृष्णन ने अपने छात्रों को अच्छी शिक्षा देने के साथ-साथ उन्हें अच्छे संस्कार देने का भी सतत प्रयास किया। 

लेकिन शिक्षकों की महत्ता सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि अत्यंत छोटे देशों में भी है। केवल दिसंबर तथा अगस्त माह को छोड़ दें तो वर्ष के हर माह में किसी न किसी देश में शिक्षक दिवस मनाया जाता है। 

थाइलैंड (16 जनवरी)

अंग्रेजी कैलेंडर के हिसाब से थाइलैंड में शिक्षक दिवस सबसे पहले यानी 16 जनवरी  को मनाया जाता है। थाईलैंड भारत के मुकाबले बहुत छोटा देश है, लेकिन यहां शिक्षक दिवस का आयोजन बड़े पैमाने पर होता है। इस दिन स्कूलों, महाविद्यालयों से लेकर देश के अन्य उच्च शिक्षा संस्थानों में विद्यार्थी अपने शिक्षकों का नमन करने के लिए एकत्रित होते हैं। 

मंगोलिया (7 फरवरी)

मंगोलिया भी शिक्षक जीवन मनाने वाले देशों की सूची में शामिल है। यहां 7 फरवरी को शिक्षक दिवस बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। 7 फरवरी का दिन मंगोलियाई देशों के खासा महत्त्वपूर्ण है। इस दिन यहां के लोग अपने सभी कार्यक्रम स्थगित रखकर सिर्फ अपने गुरुओं की वंदना करते हैं। मंगोलिया के लोग भी भारत की तरह ही अपनी प्रगति में शिक्षकों के योगदान को ही सबसे ज्यादा महत्त्व देते हैं। 

अल्बेनिया (7 मार्च)   

अल्बेनिया जैसा देश भी मानव जीवन में शिक्षा के महत्त्व को अच्छी तरह से समझता है। यहां की सरकार ने 7 मार्च को शिक्षक दिवस के रूप में मुकर्रर किया है। 7 मार्च को अल्बेनिया में अनेक स्थानों पर गुरु वंदना की जाती है। यह दिन पूरी तरह से शिक्षकों के लिए समर्पित है। अल्बेनिया में शिक्षक दिवस किसी राष्ट्रीय पर्व से कम नहीं है। वर्ष शुरू होते ही अल्बनिया में शिक्षक दिवस की तैयारियां शुरू हो जाती हैं।

चेक गणराज्य (28 मार्च)   

चेक गणराज्य में शिक्षक दिवस 28 मार्च को मनाया जाता है। अल्बेनिया के शिक्षक दिवस के 21 दिन बाद चेक गणराज्य में शिक्षकों के नमन करने का दिन आता है। इस दिन यहां के विद्यार्थियों में इस बात की होड़ मची रहती है कि कौन सबसे पहले अपने शिक्षक से मिलकर उनका नमन करे। चेक गणराज्य में शिक्षक दिवस की परंपरा पिछले कई वर्षों से जारी है। 28 मार्च का दिन चेक गणराज्य के लिए बहुत सम्मान का दिन है। यहां के लोग इस दिन अपने देश से बाहर जाने का कार्यक्रम नहीं बनाते। प्राथमिक से लेकर उच्च तथा तकनीकी शिक्षा ग्रहण करने वाले लोग इस दिन अपने शिक्षक का नमन करके उनसे आशीर्वाद लेते हैं। 

इक्वाडोर (13 अप्रैल)

विश्व पटल पर बेहद छोटा सा देश इक्वाडोर भी उन देशों की सूची में शामिल है, जहां शिक्षक दिवस बड़े सम्मान से मनाया जाता है। इक्वाडोर में जिस वक्त शिक्षक दिवस मनाने की तैयारी पूरी होती है, उस वक्त भारत में बेहद गर्म वातावरण रहता है। इक्वाडोर जैसे छोटे से देश ने शिक्षकों की महत्ता को समझ कर विश्व में यह संदेश प्रसारित किया है कि शिक्षक के बिना किसी की भी प्रगति नहीं हो सकती। 

शिक्षक दिवस और मई माह

मई माह में विश्व के कई देशों में शिक्षक दिवस मनाया जाता है। ईरान में 2 मई, अमेरिका में 6 मई, दक्षिण कोरिया और मेक्सिको में 15 मई तथा मलेशिया में 16 मई को शिक्षक दिवस मनाया जाता है। इस तरह देखा जाए तो मई माह विश्व स्तर पर शिक्षकों के सम्मान के रूप में जाना जाने वाला माह है। चाहे ईरान हो, या फिर अमेरिका या मई माह में जिन देशों में शिक्षक दिवस मनाया जाता है, वहां अप्रैल माह के अंतिम सप्ताह से ही शिक्षक दिवस की चहल पहल शुरू हो जाती है। अपने शिक्षक को बड़े से बड़ा तोहफा देने के लिए विद्यार्थियों में स्पर्धा ही शुरू हो जाती है।  

हंगरी (जून माह का पहला शनिवार), अल सल्वाडोर (22 जून)  

जून माह के पहला शनिवार हंगरी नामक देश में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। हंगरी में शिक्षक दिवस मनाने की तैयारियां मई माह के अंतिम सप्ताह से ही शुरू हो जाती है। शिक्षक दिवस के मौके पर हंगरी के लोग अपने अपने तरीके से शिक्षकों का नमन करते हैं। इस दिन शिक्षकों के प्रति आभार व्यक्त कर शिष्य उनसे जीवन में और आगे बढ़ने का आशीर्वाद मांगते हैं। अल सल्वाडोर में शिक्षक दिवस हर वर्ष 22 जून को मनाया जाता है। 

पेरू (6 जुलाई)

अमेरिका जैसे विशाल देश की तुलना में बेहद छोटे देश पेरू में भी शिक्षक दिवस बड़े सम्मान के साथ मनाया जाता है। पेरू में यह दिवस हर वर्ष 6 जुलाई को मनाया जाता है। अमेरिका के स्वतंत्रता दिवस के दो दिन बाद पेरू में शिक्षकों के सम्मान का महापर्व मनाया जाता है। इस दिन यहां के सभी शैक्षणिक प्रतिष्ठानों में पूर्व तथा वर्तमान शिक्षकों तथा अध्यापकों की मुलाकात होती है। इस मौके पर शिष्य अपने शिक्षकों का नमन करके उनसे आशीर्वाद प्राप्त करते हैं। जुलाई माह में पेरू के अलावा विश्व के किसी अन्य देश में शिक्षक दिवस नहीं मनाया जाता है। 

शिक्षकों के आशीर्वाद से वंचित है अगस्त 

भारत को 15 अगस्त, 1947 को स्वतंत्रता प्राप्ति हुई, इस वजह से अगस्त माह को सबसे ज्यादा सम्मान प्राप्त है, लेकिन अगर पूरे विश्व में अगस्त माह और शिक्षक दिवस की बात की जाए तो यह बात सामने आएगी कि अगस्त माह में किसी चर्चित देश में शिक्षक दिवस नहीं मनाया जाता। संभव है कि आने वाले दिनों में किसी देश में अगस्त माह शिक्षकों के सम्मान का विशेष माह बनकर सामने आए। 

सितंबर माह को मिला है विशेष गौरव 

शिक्षक दिवस मनाने की अंतर्राष्ट्रीय परंपरा में सितंबर माह को विशेष गौरव प्राप्त हुआ है, अगर ऐसा कहा जाए तो इसमें कुछ गलत नहीं होगा। सितंबर माह की पहली तारीख यानी 1 सितंबर को सिंगापुर में शिक्षक मनाया जाता है। 5 सितंबर को हमारे देश भारत में शिक्षक दिवस मनाया जाता है। 10 सितंबर का दिन चीन के शिक्षक दिवस के रूप मे ख्यात है। अर्जेटीना में 11 सितंबर, हांगकांग में 12 सितंबर तथा ताईवान में 28 सितंबर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। 

भाग्यशाली अक्टूबर

शिक्षक दिवस मनाने की विश्वस्तरीय परंपरा में अक्टूबर माह को अगर परमभाग्यशाली कहा जाए तो इसमें कुछ गलत नहीं होगा। पांच अक्टूबर को सबसे ज्यादा भाग्यशाली कहना इसलिए गलत नहीं होगा, क्योंकि पांच अक्टूबर को एक नहीं तीन देशों में शिक्षक दिवस मनाया जाता है। पाकिस्तान, फिलिपींस तथा रूस  में पांच अक्टूबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है। इसके अलावा पोलैंड 14 अक्टूबर, ब्राजील 15 अक्टूबर, चीली 16 अक्टूबर के अलावा ऑस्ट्रेलिया का शिक्षक दिवस (अक्टूबर माह का अंतिम शुक्रवार) भी अक्टूबर माह में मनाया जाता है। 

नवंबर में तीन देशों में मनाया जाता है शिक्षक दिवस

नवंबर माह में वियतनाम, तुर्की तथा इंडोनेशिया में शिक्षक दिवस मनाया जाता है। वियतनाम में 20, तुर्की में 24 तथा इंडोनेशिया में 25 नबंवर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है। वियतनाम, तुर्की तथा इंडोनेशिया में शिक्षक दिवस का आयोजन यह बताता है कि उक्त देशों में भी शिक्षक के प्रति अपार आदर है। 

दिसंबर में भी नहीं होता शिक्षक दिवस   

अगस्त माह की तरह ही दिसंबर माह में विश्व के किसी भी देश में शिक्षक दिवस नहीं मनाया जाता। दिसंबर माह के अंतिम दिन 31 दिसंबर को जश्न मनाया जाता है और नए साल का स्वागत किया जाता है। भारत में शिक्षक दिवस के अलावा गुरु पूर्णिमा का पर्व भी मनाया जाता है। 

संत, मुनि, ऋषि भी रहे हैं शिक्षक की भूमिका में

मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम ने राक्षसों का सर्वनाश करने के लिए सद्गुरु किए थे। महाभारत के युद्ध में भगवान श्री कृष्ण ने महानायक की भूमिका तो निभायी लेकिन कहीं कहीं भगवान श्री कृष्ण ने पांडवों के शिक्षक के रूप में भी भूमिका निभाई है। संत, मुनि, ऋषि भी समाज के लिए शिक्षक की ही भूमिका में रहे हैं। 

मां और शिक्षक की भूमिका भले ही एक हो, लेकिन मां परिवार तथा अपनी संतानों के भविष्य की चिंता करती है तो शिक्षक समूचे समाज की प्रगति की चिंता करते हैं, शायद यही कारण है कि भारत ही नहीं, विश्व के अधिकांश देशों में शिक्षक दिवस का आयोजन करके शिष्य अपने शिक्षक के प्रति अभिवादन व्यक्त करते हैं।

यह भी पढ़ें –अभिलाषा कि विश्वगुरु बनने का सपना हो सच