googlenews
pegions

कहते है हमारे जीवन में होने वाली आधी समस्याओं के जिम्मेदार हम खुद होते हैं, तो कुछ दुःख कुंडली में मौजूद ग्रहों की खराब स्थिति भी होती है। ग्रहों की खराब स्थिति में सुधार के लिए लोग पक्षियों को अनाज डालते हैं। जिसमें ज्वार, बाजरा, गेहूं आदि शामिल होते हैं, लेकिन गर्मियों में पक्षियों के लिए खासकर कबूतरों के लिए बाजरा  अत्यंत घातक हो सकता है। जिससे आप पुण्य कमाने की जगह पाप के भागीदार बन सकते हैं। आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि कबूतर को दाना डालते समय क्या-क्या सावधानियां बरतनी चाहिए-

कबूतर को दाना डालना

  • कुंडली में बुध ग्रह को अनुकूल करने के लिए कबूतर को दाना डालने की सलाह दी जाती है।
  • कबूतर को डाले जाने वाले सतनाज मतलब सात तरह के मिक्स अनाज में बाजरा भी होता है। बाजरे के चन्द दाने गर्मी में कबूतरों की मौत का कारण बन बनते हैं, जो जाने-अनजाने आपको पाप का भागीदार बना देते हैं।
  • गर्मियों में कबूतरों को दाना डालने के लिए गेहूं, चावल, मकई आदि का उपयोग करें।
  • अगर आप हकलाते हैं, परीक्षा के समय अक्सर बीमार पड़ जाते हैं या व्यवसाय में घाटा ही होता रहता है, तो कबूतर को मूंग की दाल डालें।
  • मानसिक शांति के लिए कबूतर को चावल के दाने डालें।

छत पर दाना डालना

बहुत से लोग कबूतर के लिए छत पर दाना रखते हैं, जो कि ज्योतिष के हिसाब से गलत है? छत को राहू ग्रह का प्रतीक माना जाता है। इसलिए छत पर जब कबूतर दाना खाने हैं तो छत का गंदा होना लाज़मी है, जिसके कारण राहु दूषित होकर उस घर में रहने वाले मेंबर्स की कुंडली में हावी हो जाता है। इससे फैमिली मेंबर्स को कई तरह की मुसीबतों का सामना करना पड़ता है।

ये भी पढ़ें – 

सुनकर हैरान रह जाएंगे चरण स्पर्श करने के इन फायदों से

भगवान शिव के श्रृंगार के पीछे छिपे हैं ये रहस्य, आप अवश्य ही जानना चाहेंगे

सिर्फ अशुभ ही नहीं फलदाई भी होती है शनि की दशा

आप हमें फेसबुक , ट्विटर और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।