googlenews
Basant Panchmi 2020
भारत में हर ऋतु का उत्सव मनाया जाता है, जैसे कि बसंत के आगमन का उत्सव बसंत पंचमी के रूप में मनाया जाता है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इसी दिन देवी सरस्वती का उद्धरण हुआ था,ऐसे में इस दिन देवी सरस्वती का पूजन किया जाता है, मान्यता है कि ऐसा करने से व्यक्ति को ज्ञान और सद्बुद्धी मिलती है। इस बार ये 29 जनवरी को पड़ रहा है, ऐसे में आप भी इसका अवकर का लाभ उठा सकते हैं। विशेषकर इस दिन विद्यार्थियों और लेखन-पठन कार्य में रूचि रखने वाले व्यक्ति को मां सरस्वती की पूजा अर्चना जरूर करनी चाहिए। वहीं अगर बच्चा पढाई में कमजोर है तो इस दिन उसे देवी सरस्वती की अराधना के साथ कुछ उपाय विशेष भी करने चाहिए। आज हम आपको इसी बारे में बताने जा रहे हैं कि बसंत पंचमी के दिन कौन कौन से उपाय किए जान चाहिए।
  • बसंत पंचमी के दिन सुबह जल्दी उठे और स्नान करके पीले वस्त्र धारण करें। इसके बाद कर मां सरस्वती की प्रतिमा या छवि उत्तरपूर्व दिशा में स्थापित कर उनकी विधिवत पूजा अर्चना करें। मां सरस्वती को सफेद फूल, सफेद चंदन, सफेद पदार्थ जैसे दूध, दही, मक्खन, श्वेत वस्त्र और श्वेत तिल के लड़्डू आदी चढाएं।
  • सफेद के अतिरिक्त बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती को हरे रंग के फल भी चढ़ाना लाभकारी होता है, माना जाता है कि इससे मा सरस्वती की विशेष कृपा प्राप्त होती है। 
  • जिस बच्चे का मन पढ़ाई में नहीं लगता है, उस बच्‍चे को इस दिन के जीभ पर शहद से ॐ बनाएं,इससे उसे देवी सरस्वती की विशेष कृपा मिलेगी। 
  • इसके अलावा बच्चें अपनी पुस्तक पर पीले रंग का कवर चढ़ा कर उस पर रोली से स्वास्तिक बनाएं, इससे भी लाभ मिलेगा। 
  • जो लोगों को पढाई लिखाई और साहित्य के क्षेत्र में विशेष मानद प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें देवी सरस्वती का ये मंत्र जरूर जप करना चाहिए… ।। ऊं ऐं सरस्वत्यै नम: ।।

ये भी पढ़ें-

बसंत पंचमी के दिन माँ सरस्वती को करें प्रसन्न

ज्ञान, कला और वाणी की देवी- सरस्वती