googlenews
गृहलक्ष्मी की कहानियां - कहां से मुंह काला कराया
Stories of Grihalakshmi

 

गृहलक्ष्मी की कहानियां – हमारे दोस्त के घर पार्टी थी, जिसमें काले या सफेद रंग के कपड़े पहनने थे। मैंने एक शिफॉन साड़ी काले रंग में रंगवाई थी, वही साड़ी पहन कर पार्टी के लिए हम स्कूटर पर जा रहे थे कि तेज बारिश शुरू हो गई। हमने रुककर रेनकोट पहना पर बारिश इतनी तेज थी कि हम बुरी तरह भीग गए। दोस्त के घर पहुंच कर मेरे पति घर के अंदर चले गए और मैं अपने कपड़े ठीक करके और अच्छी तरह साड़ी निचोड़ कर अपना मुंह पोंछ कर अंदर पहुंची और जोर से बोली, ताकि सभी सुन सकें। ‘लो पार्टी क्वीन आ गई।

सबने मुझे देखा और ठहाके लगा कर हंसने लगे। हमारे मेजबान ने कहा, ‘भाभी आप कहां से मुंह काला करा आईं। इतना सुनना था कि मुझे गुस्सा आ गया, पर कुछ कहने से पहले ही मुझे समझ आ गया कि यह काली साड़ी से मुंह साफ करने का नतीजा है। मैं शर्मा गई और सबके साथ हंसने की कोशिश करने लगी।