googlenews
अनियमित पीरियड्स

आपके पीरियड्स औसतन 3 से 7 दिन तक चलते हैं। जो पीरियड्स 7 दिन से भी अधिक होते हैं उन्हें अधिक लंबे पीरियड्स की श्रेणी में रखा जाता है। अगर आपको हैवी ब्लीडिंग होती है जो आपके लिए असाधारण है और यह एक हफ्ते से अधिक चल जाती है तो इसे मेनोरहागिया कहा जाता है। लगभग 5% महिलाओं को यह देखने को मिलता है। यह स्थिति निम्न पीरियड लक्षण  के कारण भी हो सकती है।

  • हार्मोन्स का अनियमित होना
  • यूटरिन में कुछ एब्नार्मलिटी आना
  • कैंसर

अगर आपको एक हफ्ते से ज्यादा समय तक पीरियड्स होते हैं तो आपको इसके पीछे का कारण जानने के लिए अपने डॉक्टर से बात करनी जरूरी होती है। इस स्थिति के द्वारा आपका नियमित रूटीन बिगड़ सकता है और यह ब्लीडिंग आपकी नींद के रूटीन को भी बिगाड़ सकती है। इसके कारण आपको अनीमिया भी देखने को मिल सकता है क्योंकि हैवी फ्लो के कारण आपका ज्यादातर खून बाहर निकल जाता है जिस कारण आपके अंदर आयरन की कमी हो जाती है।

लंबे समय के पीरियड्स के क्या कारण होते हैं?

हार्मोन में बदलाव और ओवुलेशन

आपके हार्मोन्स के अंदर आया बदलाव भी आपके पीरियड्स को लंबा बना सकता है। हो सकता है कुछ स्वास्थ्य सम्बन्धित समस्याओं के कारण आपके हार्मोन अनियमित हो जाते हैं जो लंबे पीरियड्स का एक कारण हो सकता है। ऐसा थायरॉयड या ओवुलेशन में बदलाव होने के कारण भी हो सकता है।

दवाइयांअगर आप कंट्रेसेप्टिव या एस्पिरिन जैसे ब्लड थिनर का प्रयोग करती हैं तो इसकी वजह से भी आपके पीरियड्स थोड़े लंबे समय तक टिक सकते हैं। अगर आप एंटी इन्फ्लेमेटरी का प्रयोग करते हैं तो वह भी एक कारण हो सकती है।

प्रेगनेंसी

प्रेग्नेंसी के दौरान आपका शरीर बहुत से बदलावों से होकर गुजरता है। हालांकि प्रेग्नेंसी के दौरान आपको पीरियड्स नहीं होते हैं लेकिन अगर उस दौरान आपको लंबे समय तक ब्लीडिंग होती है तो यह मिसकैरिज या असुरक्षित प्रेग्नेंसी का एक संकेत हो सकता है। अगर आप प्रेगनेंट हैं और आपको ब्लीडिंग देखने को मिल रही है तो आपको डॉक्टर के पास तुरंत जाना चाहिए।

यूटरीन फाइब्रॉयड

यूटरीन फाइब्रॉयड या पोलिप्स के कारण भी कई बार आपको लम्बे समय तक ब्लीडिंग देखने को मिल सकती है। यह यूटरस के अंदर एक प्रकार की ग्रोथ होती है। यह आपके इरेगुलर टिश्यू की ग्रोथ के कारण होते हैं। लेकिन आपको डरने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह कैंसरर्स नहीं होते हैं।

एडिनॉम्योस

यह टिश्यू बिल्डिप का एक अन्य प्रकार होता है। इसके कारण भी आपकी ब्लीडिंग लंबे समय तक हो सकती है।

थायरॉयड स्थिति

अगर आप थायरॉइड से जूझ रही हैं तो भी आपके पीरियड लंबे समय तक हो सकते हैं। इस स्थिति को हाइपो थायरॉयडिज्म कहा जाता है।

ब्लीडिंग कंडीशन

हो सकता है आपके शरीर में कोई ऐसी स्थिति हो जिस कारण आपके शरीर की ब्लड क्लाॅट करने की क्षमता खत्म या कमजोर हो चुकी हो इसलिए आपको पीरियड्स के दौरान अधिक समय तक ब्लीडिंग हो सकती है।

मोटापा

अधिक मोटापे के कारण भी आपको इस स्थिति का सामना करना पड़ सकता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि फैटी ब्लड के कारण आपका शरीर और अधिक एस्ट्रोजन प्रोड्यूस करता है। इसके कारण आपको लंबे समय तक ब्लीडिंग होती है।

कैंसर

अगर आपको लंबे समय तक पीरियड होते हैं तो यह आपके यूटरस या सर्विक्स की कैंसर का एक लक्षण हो सकता है इसलिए आपको यह संकेत दिखते ही अपने डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

Cancer
पीरियड ज्यादा दिन तक आने के कारण 4

डॉक्टर किस तरह से जांच करेंगे

ज्यादा दिन के लिए पीरियड्स रहने के कई कारण हैं, इसलिए आपके डॉक्टर आपसे कुछ प्रश्न पूछ सकते हैं। जैसे

  • जब आपका पीरियड शुरू हुआ

  • अंतिम दिन में आपने कितने पैड और टैम्पोन का उपयोग किया है

  • आपकी यौन गतिविधि

  • अन्य लक्षण जो आप अनुभव कर रहे हैं

  • आपकी चिकित्सा और प्रासंगिक पारिवारिक इतिहास

  • वे एक शारीरिक परीक्षा भी कर सकते हैं जिसमें एक पैल्विक टेस्ट और लक्षणों को जांचना शामिल है।

अन्य टेस्ट

  • हार्मोन के स्तर की जांच व आयरन की कमी की जांच करने के लिए ब्लड टेस्ट 

  • पैप स्मीयर

  • बायोप्सी

  • पेट या ट्रांसवजाइनल अल्ट्रासाउंड

  • हिस्टरोस्कोपी

  • डाइलेशन और क्यूरेटेज 

डॉक्टर किस तरह इलाज करेंगे

  • इलाज के लिए डॉक्टर अलग अलग तरीका अपना सकता है। हो सकता है कि वह ब्लड को कम करने के लिए ब्लड फ्लो कम करें या फिर पीरियड्स को रेगुलेट करने के लिए इलाज करें। हार्मोनल बर्थ कंट्रोल से भी पीरियड रेगुलर और शार्ट किए जा सकते हैं। इसके लिए डॉक्टर कुछ दवा दे सकते हैं जैसे कि गोली, इंट्रायूटरिन डिवाइस या कोई शाॅट या फिर वेजाइनल रिंग।
  • इसके अलावा डॉ आपको उन दवाओं की भी सलाह दे सकते हैं जिससे थोड़ा सा दर्द कम हो या बेचैनी कम हो यह दवाई नॉनस्टेरॉयडल anti-inflammatory दवा हो सकती है जैसे कि एडविल आदि।

लंबी अवधि तक पीरियड रहने पर परेशानियां

यदि महिलाओं को ज्यादा लंबे समय तक पीरियड रहता है तो उससे उनके शरीर में खून की कमी हो जाती है और वह एनीमिया की शिकार हो जाती हैं। यही नहीं वह आपकी ओवरऑल हेल्थ को भी बहुत प्रभावित करते हैं और आप कुछ हद तक दर्द से भी परेशान रह सकती हैं। गुजराती तौर पर महावारी की साइकिल 21 से 35 दिनों की होती है और यह हर महिला और लड़की में अलग अलग हो सकती हैं किसी को 21 दिन में महीना आता है तो किसी को 30 दिन के बाद।

डॉक्टर से कब मिलें

यदि आपके पीरियड्स रेगुलर हैं तो बिना विचारे आप डॉक्टर से सलाह लें क्योंकि माना यह साइकिल हर महिला में अलग होती है लेकिन कुछ ऐसे लक्षण होते हैं जिनको ध्यान करना जरूरी होता है।

  • मान लीजिए आपके पीरियड्स पहले टाइम से आते थे और बाद में आ जाना ज्यादा लंबे समय तक रहने लगे फिर उसके बाद आपके पीरियड्स अचानक 90 दिनों या उससे अधिक के लिए रुक जाते हैं। जबकि आप गर्भवती नहीं होती हैं। पर आपको लगता है कि आप गर्भवती हैं। 
  • आपके महीने की अवधि आठ दिनों से अधिक समय तक रहती है।
  • आपको सामान्य से बहुत अधिक रक्तस्राव हो।
  • आप हर दो घंटे में एक से अधिक टैम्पोन या पैड बदलें।
  • आप अचानक से समय से पहले या बाद में धब्बा महसूस करें।  
  • आप महीने के दौरान गंभीर दर्द महसूस करती हों।

अगर आपको सामान्य से हट कर लंबे समय तक पीरियड देखने को मिले तो आपको अपने डॉक्टर के पास जाने में समय नहीं लगाना चाहिए। अगर आपको ऐसा कई बार देखने को मिले और इसके साथ आपको बुखार जैसा लक्षण भी देखने को मिलता है तो आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें-

पैंटी चुनते समय न करें यह 7 गलतियां

7 बेस्ट पीरियड पैंटीज जिनके विषय में मालूम होना जरूरी है

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com