अंजीर बहुत सेहतमंद है, यह आपने कई बार सबसे सुना होगा और आप इसे खाती भी हैं लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि अंजीर आखिरकार किस तरह से हमारे शरीर के लिए फायदेमंद है। यह न सिर्फ एक ड्राईफ्रूट के तौर पर फायदा करता है, बल्कि फल के तौर पर भी इसे खाया जाता है। भले ही आपने इसके फल को नहीं देखा और कम ही सुना होगा लेकिन इसके फल और ड्राईफ्रूट दोनों के सेवन से कई बीमारियां आपसे कोसों दूर रहेंगी। आज इस आर्टिकल में हम अंजीर यानी फिग के फ़ायदों के बारे में जानेंगे।

क्या है अंजीर

अंजीर को इंग्लिश में फिग कहा जाता है, जो सूख जाने के बाद यानी ड्राईफ्रूट बन जाने के बाद हमारी सेहट के लिए और लाभकारी बन जाता है। ताजे अंजीर के फल अंदर से बेहद सॉफ्ट और उसके किनारे- किनारे क्रन्ची सीड्स होते हैं। इसका यूनिक टेक्सकहर इसे बढ़िया फल बनाता है। लेकिन हम में से अधिकतर लोग इसे ड्राई फ्रूट के तौर पर जानते हैं, जब यह सूख जाता है और इसके सीड्स ज्यादा क्रिस्पी बन जाते हैं। अंजीर को ड्राई फ्रूट के तौर पर कई लोग टेबल शुगर की जगह इस्तेमाल में लाते हैं और इस तरह से नैचुरल स्वीटनर के तरह प्रयोग करते हैं।  

कई न्यूट्रिएन्ट का मेल है अंजीर

 

 

अंजीर में कई तरह के विटामिन जैसे वितमों ए, विटामिन बी, विटामिन सी, विटामिन के के साथ ही मैग्नीशियम, मैंगनीन, आयरन, मैग्नीशियम, जिंक, कॉपर, कैल्शियम आदि भी प्रचुर मात्रा में होता है। यह एंटी- ऑक्सीडेंट का बढ़िया स्रोत है और इसमें नैचुरल शुगर भी होता है। आजकल सब कैलोरी की बात करते हैं तो हम यदि अंजीर में कैलोरी की गिनती करें तो 100 ग्राम फ्रेश अंजीर यानी इसके फल में करीब 40- 45 कैलोरी, 1.5 ग्राम प्रोटीन, 0.3 ग्राम फैट, 2 ग्राम फाइबर और 9.5 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है। वहीं जब अंजीर ड्राईफ्रूट की बात की जाती है तो इसके 100 ग्राम में 210 कैलोरी, 1.5 ग्राम फैट, 4 ग्राम प्रोटीन, 49 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 9 ग्राम फाइबर होता है।

हृदय को स्वस्थ रखता है अंजीर

हृदय की बीमारियां हमें तब होती हैं, जब हमारे हृदय में कोरोनरी आर्टरीज जाम हो जाती है। ऐसा बॉडी में फ्री रैडिकल्स बनने की वजह से होता है। अंजीर का काम इन्हीं फ्री रैडिकल्स को खत्म करके हृदय को सुरक्षित रखना है। ऐसा अंजीर अपने अंदर व्याप्त एंटी- ऑक्सीडेंट की मदद से करता है। ओमेगा- 3 और ओमेगा- 6 की मदद से भी अंजीर आपके हृदय को सेहतमंद रखता है। इसमें फाइबर और पोटैशियम बहुत ज्यादा होता है, जो बॉडी से अतिरिक्त फैट और हृदय से दबाव को कम करता है। इस वजह से भी हृदय की सेहत ठीक रहती है।

वजन कम करने में मददगार है अंजीर

 

अंजीर में फाइबर इतनी ज्यादा होती है यह एक परफेक्ट स्नैक्स या मिड मॉर्निंग मंचीज के तौर पर बेहतर है। इस तरह से यह वजन कम करने वालों के लिए बढ़िया विकल्प है। सिर्फ 2 या 3 अंजीर खाने से ही आपका पेट भरा महसूस होगा और इस तरह से आपको कम भूख लगेगी।

ब्लड प्रेशर में लाभकारी अंजीर

 

हाई ब्लड प्रेशर के कई कारण है, जिनमें से एक है फास्ट फूड का सेवन। ब्लड प्रेशर के ज्यादा होने से आपकी बॉडी में पोटैशियम का स्तर असंतुलित हो जाता है। ऐसे में पोटैशियम समृद्ध अंजीर आपके पोटैशियम स्तर को बढ़ाता है और इस तरह से आपके ब्लड प्रेशर को कंट्रोल कर सकता है।  

पाचन तंत्र को करता है दुरुस्त अंजीर

 

अंजीर प्रीबायोटिक का बढ़िया स्रोत है, जो पाचन तंत्र को सुधारने में मदद करता है और ओवरऑल गट हेल्थ को भी। इसमें फाइबर भी ज्यादा है, जिसकी वजह से यह आपके बोवेल मूवमेंट को भी ठीक करता है।

हड्डियों की सेहत के लिए सही है अंजीर

हड्डियों की सेहत के लिए जरूरी है कि हम कैल्शियम का सेवन करें। हमारी बॉडी को रोजाना 1000 mg कैल्शियम की जरूरत पड़ती है। चूंकि हमारी बॉडी कैल्शियम नहीं बनाती है, हमें इसे बाहर से लेने की जरूरत रहती है। कई बार दूध के सेवन से भी हमारे शरीर में कैल्शियम की कमी पूरी नहीं हो पाती है। ऐसे में अंजीर का सेवन कैल्शियम की जरूरत को पूरा करने में मदद करता है।

फर्टिलिटी के लिए बढ़िया है अंजीर

 

सदियों पुराने समय में अंजीर को फर्टिलिटी का चिन्ह माना जाता था। बाद में इस बारे में खूब रिसर्च की गई और पाया गया कि इसमें व्याप्त अधिक आयरन कॉन्टेन्ट की वजह से अंजीर फर्टिलिटी को ठीक करता है। महिलाओं के सम्पूर्ण ओवूलेशन प्रक्रिया में आयरन एक अहम भूमिका निभाता है। पुरुषों में, कम आयरन की वजह से स्पर्म की गुणवत्ता को भी प्रभावित करता है। प्रजनन स्वास्थ्य को बूस्ट करने के लिए भी इसका सेवन दूध के साथ किया जाता है।

कब्ज में आराम देता है अंजीर

अंजीर को कब्ज के इलाज के लिए एक सालों पुरानी रेमेडी के तौर पर जाना जाता है। यह नैचुरल लैक्सेटिव के तौर पर काम करता है क्योंकि इसमें हाई सॉल्यूबल फाइबर कॉन्टेन्ट होता है। इस तरह से यह बोवेल प्रक्रिया को राहत देता है। खाली पेट 2 से 3 अंजीर का सेवन कब्ज से आपको छुटकारा दिलाता है।  

अंजीर के कई प्रयोग

 

 

ताजे और सूखे दोनों तरह के अंजीर हमारी सेहत को सूट करते हैं और हमें हेल्दी रखने में हमारी मदद करते हैं। आप चाहें तो सूखे अंजीर को ऐसे ही खा सकती हैं या इसका मिल्क शेक बना सकती हैं या समूदी भी। आप अंजीर और अन्य मेवों से पौष्टिक बार भी बना सकती हैं। या फिर ओट्स में इसे डाल कर खा सकती हैं। इनका इस्तेमाल केक, पुडिंग, जाम और बर्फ़ी में भी किया जा सकता है।

 

ये भी पढ़ें –

हेल्दी गट और बढ़िया पाचन के लिए अपनाएं ये कारगर 5 आयुर्वेदिक टिप्स 

आलू के हैं इतने हेल्थ बेनेफिट्स कि जानकर आप हैरत में पड़ जाएंगे 

 

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें – editor@grehlakshmi.com