गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को ज्यादा प्यार और दुलार की जरुरत पड़ती है। क्योकि इस दौरान महिलाओं में कई तरह के बदलाव होते हैं, फिर चाहे वह मानसिक हो या शारीरक। इस दौरान महिलाओं में कुछ अजीब से हार्मोन भी पैदा होने लगते हैं, जिसके चलते वे काफी चिड़चिड़ी हो जाती हैं एेसे समय में हर पत्नी चाहती है अपने पती का साथ तो ध्यान रहे ऐसे समय में अपनी पत्नियों को खुश रखने के लिए उनसे प्यारी- प्यारी बातें करें जिससे उन्हें अकेलापन महसूस ना हो।

गर्भावस्था के पहले महीने से ही गर्भवती महिला को कुछ सावधानियां बरतनी शुरू कर देनी चाहिये। महिला को  खान-पान, रहन-सहन, चलना-फिरना, सेक्स आदि के तरीकों में सावधानियां बर्तनी पड़ती है क्योंकि गर्भावस्था में महिला द्वारा किये गए हर काम का सीधा प्रभाव बच्चे पर जाता हैं और ऐसे में होने वाले माता-पिता को अपने बच्चे की देखभाल, का जब वो माँ के गर्भ में है या फिर जन्म लेने के बाद आप उसका पूरा ध्यान रखेंगे।

जो महिला पहली बार माँ बन रही होती हैं उसे हर समय अपने डॉक्टर या फिर अपने बडों से इस बारे में राय लेते रहना चाहिए। गर्भावस्था के समय अच्छा और पौष्टिक आहार महिलाओं को दिया जाता है, और यह भी कहा जाता है कि उन्हें थोड़ी थोड़ी देर में खाते रहना चाहिए जिसे वो और उनका बच्चा स्वस्थ रहे। गर्भवती महिलाओं के लिए जल्दी चलना बहुत मुश्किल होता है इसलिए उनसे जल्दी चलने के लिए ना कहें।

गर्भावस्था के दौरान कई बार पुरुष और महिला जब सेक्स करते हैं. ऐसे में उन्हें कोई भी सेक्स पोजीशन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए जिससे की महिला के पेट पर दबाव पड़े. ऐसा नहीं हैं की आप सेक्स नहीं कर सकते परंतु ज्यादा भी नहीं करना चाहिए, खासकर पहले तीन महीने किसी भी औरत के लिए गर्भावस्था में बहुत अहम होते हैं। इसीलिए इस बात का परामर्श आप अपनी डॉक्टर से ले सकती हैं।

गर्भावस्था के समय  महिलाओ को ध्यान रखना चाहिए, की वो भारी सामान न उठाये, पेट के बल लगकर कोई काम न करे, पैरो के बल पर न बैठे, झुकने से परहेज करे, ज्यादा देर तक खडी न हो, ज्यादा एक्सरसाइज न करे,  ये सब बातो का ध्यान गर्भवती महिला को गर्भावस्था के समय रखना चाहिए। इसके आलावा आपको ऊंचाई पर चढ़ने से भी परहेज करना चाहिए।

गर्भावस्था के समय में छोटी मोटी तकलीफ लगी रहती हैं. ऐसे में आपको ज्यादा दवाईयो का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि गर्भावस्था में ज्यादा दवाईयो का सेवन करना कई बार स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता हैं। ऐसे में यदि आपको कोई ज्यादा समस्या हैं, और आप किसी बीमारी को लेकर रोजाना दवाई ले रही हैं तो ऐसे में आपको अपने डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए, और साथ ही उनसे पूछे बिना किसी भी दवाई का सेवन नहीं करना चाहिए।

ये भी पढ़ें – 

प्रेगनेंसी में क्यों बढ़ जाती है बालों व नाखूनों की सुंदरता ?

गर्भावस्था के दौरान त्वचा में होते हैं ये 7 बदलाव

प्रेगनेंसी में अगर दिखना है स्टाइलिश तो अपनाएं ये 8 टिप्स

आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।