खाली पेट नारियल पानी पीने के नुकसान

नारियल बड़े खजूर के समान वृक्षों पर विकसित होते हैं जिसका वैज्ञानिक नाम ‘कोकोस न्यूसीफेरा’ है इसके बावजूद, नारियल नट के बजाए एक फल है। 

नारियल का पानी एक हरे नारियल के केंद्र में पाया जाता है। यह फल को पोषण प्रदान करने में मदद करता है जैसे-जैसे नारियल पुराना होता हैं, उसमें कुछ रस तरल रूप में बचता है, जबकि बाकी ठोस सफेद भाग में नारियल के मलाई के रूप में जाना जाता है। नारियल का पानी नेचुरल रूप से तैयार होता है। 

इसमें 94′ पानी और बहुत कम मात्रा में वसा होती है। नारियल के पानी को नारियल का दूध नहीं समझा जाना चाहिए, नारियल का दूध नारियल के सफेद भाग को पानी में मिलकर तैयार किया जाता है। 

एक नारियल में करीब 200 मिलीलीटर या उससे कुछ अधिक मात्रा में पानी होता है। ये मीठा और ताजगीभरा होता है। साथ ही ये एक लो-कैलोरी ड्रिंक भी है। 

नारियल पानी के लाभ

नारियल पानी में एंटीऑक्सीडेंट्स, अमीनो-एसिड, एंजाइम्स, बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन, विटामिन सी और कई प्रमुख लवण होते हैं।

नारियल पानी पीने से इम्यून सिस्टम अच्छा रहता है।

शरीर में पानी की कमी नहीं रहती

नारियल पानी पीते रहने से शरीर में पानी की कमी नहीं होने पाती है। शरीर में पानी की कमी हो जाने पर या फिर शरीर की तरलता कम हो जाने पर, डायरिया हो जाने पर, उल्टी होने पर या दस्त होने पर नारियल का पानी पीना फायदेमंद रहता है। इससे पानी की कमी तो पूरी होती ही है साथ ही जरूरी लवणों की मात्रा भी संतुलित बनी रहती है।

हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है

हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के लिए भी नारियल के पानी का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें मौजूद विटामिन सी, पोटैशियम और मैग्नीशियम ब्लड-प्रेशर को नियंत्रित रखने में सहायक होते हैं। साथ ही ये हाइपरटेंशन को भी नियंत्रित करने में सहायक होता है।

वजन कम करने में सहायक

बढ़ते वजन से परेशान लोगों के लिए नारियल पानी बहुत ही फायदेमंद है। नारियल पानी में लौ फैट होता है। इसको पीने से पेट भरा रहता है जिससे भूख कम लगती है। इस तरह यह मोटापा कम करने में सहायक है। 

प्रेग्नेंसी में फायदेमंद

नारियल पानी प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। प्रेग्नेंसी में होने वाली थकान, कब्ज और जी मचलने जैसी समस्याओं से आराम मिलता है।

इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है नारियल पानी शरीर की इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत करता है। इसके अलावा नारियल में एंटी बैक्टेरियल, एंटी फंगल और एंटी वायरल गुण होते हैं जो बॉडी की इम्यून सिस्टम को मजबूत रखने में मदद करता है।

एनर्जी लेवल बढ़ाता है

बढ़ती गर्मी की वजह से आपका एनर्जी लेवल काफी कम हो जाता है। इसमें इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है। नारियल पानी आपको ठंडक देने के साथ ही एनर्जी लेवल को भी बढ़ाता है।

तनाव से राहत

आपके मेटाबॉलिज्म में सुधार के बाद शरीर के अंदर फ्री रेडिकल्स बनते हैं जिनकी वजह से व्यक्ति में तनाव की समस्या पैदा हो जाती है। नारियल पानी में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स इन फ्री रेडिकल्स को दूर करने में मदद करता है।

टैनिंग में लाभकारी

गर्मियों में अधिकतर लोगों को टैनिंग की समस्‍या से जूझना पड़ता है। अगर आप भी टैनिंग की समस्‍या से बचना और झुलसी हुई त्‍वचा को निखारने और हमेशा तरोताजा बनाये रखना चाहते हैं तो नारियल के पानी से चेहरे को साफ करें। यदि आप रोजाना अपना चेहरा नारियल पानी से नहीं धो सकते हैं तो कॉटन की मदद से नारियल के पानी से अपना चेहरा साफ करें।

नारियल पानी के घरेलू उपचार

शरीर की गर्मी का उपचार

आयुर्वेद के अनुसार नारियल पानी ठंडा होता है जिसके कारण यह शरीर को ठंडक प्रदान करता है। एक ग्लास नारियल का पानी लीजिये। इसमें आधे नींबू का रस अच्छी तरह मिला लीजिये। नारियल के इस पानी को रोजाना सुबह खाली पेट पीना चाहिये। इससे शरीर की गर्मी निकल जाती है और शरीर को ठंडा रखने की प्रक्रिया सामान्य हो जाती है।

पेशाब की जलन का उपचार

250 मि.ली. नारियल के पानी में 1 चम्मच धनिये की पिसी हुई ताजा पत्तिया अच्छी तरह मिला लीजिये।

इसे रोजाना दिन में 1 बार पीना चाहिये। इससे कुछ ही दिनों में पेशाब की जलन का रोग दूर हो जाता है।

एसीडिटी का घरेलू उपचार

आयुर्वेद के अनुसार नारियल पानी पित्त का नाश करता है यानी एसीडिटी को दूर करता है।

रोजाना 1 नारियल का पानी दिन में एक बार में पी लेना चाहिये या फिर रोजाना 1 ग्लास नारियल का पानी खाना खाने के 1/2 घंटे बाद पीना चाहिये।

ऐसा लगातार 1 से 2 महीने तक करते रहने से पाचन तंत्र ठीक होता है। 

खाली पेट नारियल पानी पीने के नुकसान

पेट के कीड़ों का उपचार

नारियल पानी पेट में होने वाले कीड़ों और अन्य प्रकार के इंफेक्शंस को दूर करने के लिये भी बहुत लाभकारी होता है।

100 मि.ली. नारियल का पानी लीजिये।

इसमें 1 छोटी चम्मच जैतून का तेल यानी ओलिव ऑयल अच्छी तरह मिला लीजिये।

इसे 3 दिन तक रोजाना दिन में 1 बार पीना चाहिये। इससे पेट के कीड़े मल के साथ बाहर निकल जाते हैं।

नारियल पानी के लाभ मानव संसार के लिये प्रकृति की एक अद्भुत देन है। इसीलिए सलाह दी जाती है कि नारियल पानी को संयमित मात्रा में कुछ समय तक अवश्य ही पीना चाहिये। यह शरीर से हानिकारक तत्त्वों को बाहर निकालता है और शरीर को पोषक तत्त्व प्रदान करता है। इसलिये यह स्वास्थ्य के लिये एक उत्तम प्राकृतिक औषधि है।

सावधानी

सामान्यतया रोजाना 1 नारियल के पानी से अधिक नहीं पीना चाहिये। ऐसा इसलिये कहा जाता है क्योंकि इसमें पोटैशियम बहुत अधिक मात्रा में होता है।

साथ ही गुर्दे के रोग से पीड़ित व्यक्तियों को नारियल पानी अपने चिकित्सक की सलाह से ही पीना चाहिये।

अन्य लाभ

  • कोलेस्ट्रॉल और फैट-फ्री होने की वजह से ये दिल के लिए बहुत अच्छा होता है। इसके साथ ही इसका एंटी-ऑक्सीडेंट गुण भी सर्कुलेशन पर सकारात्मक प्रभाव डालता है।
  • हैंगओवर से छुटकारा पाने के लिए भी नारियल का पानी एक अच्छा उपाय है।
  • सिर दर्द से जुड़ी ज्यादातर समस्याएं डिहाइड्रेशन की वजह से ही होती हैं। ऐसे में नारियल पानी पीने से शरीर को तुरंत इलेक्ट्रोलाइट्स पहुंचाने का काम करता है, जिससे हाइड्रेशन का स्तर सुधर जाता है।
  • बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करने के लिए भी नारियल पानी का प्रयोग किया जाता है। इसमें मौजूद Cytokins कोशिकाओं और ऊतकों पर सकारात्मक प्रभाव डालकर बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करने में मदद करता है।
  • रोज खाली पेट नारियल पानी पीने से एसीडिटी ठीक हो जाती है।  
  • इसको पीने से पेट भरा हुआ रहता है,जल्दी भूख नहीं लगती। फाइबर के कारण कब्ज ठीक करता है। 
  • नारियल पानी पीने से मांसपेशियों की थकान और दर्द दूर होता है। 
  • मेगनीज होने के कारण नारियल का पानी मेटाबोलिज्म को सुधारता है और तुरंत शक्ति देता है। 
  • नारियल पानी में ऐसे गुण होते हैं जो किडनी को हेल्दी रखते हैं। इससे यूरिन के वह तत्त्व समाप्त हो जाते हैं जो किडनी को नुकसान पहुंचाते हैं।
  • गर्मी के मौसम में कई लोगों को नाक से खून आने की समस्या होती है। नारियल पानी पानी से यह बीमारी हमेशा के लिए दूर हो जाती है। इसके लिए सुबह खाली पेट इसका सेवन करें।
  • लगातार नारियल पानी से पथरी बाहर निकल जाती है। यूरीन में जलन होती है तो नारियल के पानी में गुड़ और धनिये को मिलाकर पीने से लाभ मिलता है। 

यह भी पढ़ें –सेहत का रखवाला पानी

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें-editor@grehlakshmi.com