एलोवीरा में छुपा है सुंदरता का राज

त्वचा से संबधित रोग हो या पेट से संबधित कोई बीमारी हो, दांतों से जुड़ी समस्या हो या फिर गठिए का दर्द हो। बहुत सी बीमारियों का एकमात्र इलाज है एलोवेरा के जूस का सेवन। एलोवेरा एक ऐसी औषधि है जिसका सेवन करने से शरीर में होने वाली पोषक तत्त्वों की कमी को आसानी से पूरा किया जा सकता है। यह विटामिन खनिज, कैल्सियम, पोटैशियम और कई रासायनिक गुणों से भरपूर है।

एलोवेरा यानी घृतकुमारी को सुपरफूड भी कहा जाता है। पिछले कुछ वर्षों में घृतकुमारी की उपयोगिता और लोकप्रियता में काफी इजाफा हुआ है। एलोवेरा का पौधा सुंदर, बेदाग और चमकदार त्वचा पाने का सबसे सरल तरीका है। आयुर्वेद ही नहीं पश्चिमी औषधि प्रणाली (एलोपैथी) एवं दवाओं की प्रत्येक पारंपरिक प्रणाली में एलोवेरा को महत्त्वपूर्ण स्थान दिया गया है।

बाजार में एलोवेरा के फायदों की वजह से ही कई फ्लेवर में इसका जूस आसानी से मिलता है। एलोवेरा का रस या जूस पीने में भले ही थोड़ा कड़वा लगे लेकिन इसके फायदे अनेक हैं-

सीने में जलन 

जलन एक आम समस्या है, जो सीने में उठने वाले दर्द के समान ही होती है। हांलाकि कई बार ये बेहद असहनीय भी हो जाती है। इससे छुटकारा पाने के लिए नियमित रूप से एलोवेरा का सेवन बेहद फायदेमंद होता है। 

झुर्रियां कम करने में सहायक

एलोवेरा में बीटा केरोटीन, विटामिन ए, विटामिन ई जैसे कई एंटीऑक्सीडेंट मौजूद हैं जो त्वचा में उम्र से पहले आने वाली झुर्रियों को तो रोकते ही हैं साथ ही प्राकृतिक तत्त्व को बरकरार रखने में मदद करते हैं। 

मधुमेह के लिए है फायदेमंद

मधुमेह में स्वस्थ खानपान के साथ-साथ एलोवेरा का नियमित सेवन करने से काफी राहत मिलती है। एलोवेरा के सेवन से डायबिटीज के मरीजों में मधुमेह के स्तर में गिरावट आई है। 

बालों के लिए अपनाएं एलोवेरा जूस

एलोवेरा जूस का सेवन स्कैल्प को प्राकृतिक रूप से माईश्चराईज रखता है। इसके अलावा सिर में रूसी और खुजली की संभावना को भी कम करने में सहायक होता है। बालों को स्वस्थ रखने के लिए एलोवेरा जूस का सेवन करने के साथ ही बालों को धोने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

  • आंवला और जामुन के साथ एलोवेरा का उपयोग करने से बालों को मजबूती तो मिलती ही है। साथ में ये आंखों का भी बचाव करता है।
  • अगर आपके बाल जड़ से खत्म हो रहे हैं, तो इसका रस नियमित तौर पर सिर पर लगाते रहने से नए बाल आने लगते हैं।
  • शैंपू करने के बाद कंडीशनर की जगह आप एलोवेरा जेल का उपयोग कर सकते हैं। यह आपके बालों को प्राकृतिक रूप से कंडीशन करेगा। एलोवेरा में मौजूद एंजाइम मृत कोशिकाओं को हटाते हैं।

विषैले तत्त्वों को करे बाहर

अस्त-व्यस्त दिनचर्या और सही खान-पान न होने की वजह से हमारे शरीर में कई तरह के विषैले पदार्थ पैदा होते हैं, जो हमारी त्वचा को नुकसान पहुंचातेे हैं। एलोवेरा जूस में ऐसे पोषक तत्त्व मौजूद हैं, जिसके सेवन से सभी विषैले पदार्थ बाहर आ जाएंगे और त्वचा भी खिली खिली रहेगी।  

भूख बढ़ाता है एलोवेरा

उम्र का एक दौर ऐसा भी आता है, जब भूख कम लगती है या फिर लगती ही नहीं है। इस कारण हमारा शरीर कमजोर होने लगता है। रोजाना सुबह उठकर एलोवेरा जूस का सेवन करने से पेट साफ हो जाता है और खुद ब खुद भूख लगने लगती है। सुबह खाली पेट एलोवेरा जूस पीने से शरीर का मोटाबॉलिज्म बढ़ता है। भोजन आसानी से पचता है।

सिरदर्द से दिलाए छुटकारा

कई बार नींद पूरी होने के बाद भी बहुत से लोगों को सिरदर्द की शिकायत रहती है, जिसका एक बड़ा कारण शरीर में पानी की कमी होना भी हो सकता है। ऐसे में शरीर को दुरूस्त करने और सिरदर्द से छुटकारा पाने के लिए रोजाना सुबह उठकर एलोवेरा जूस पीएंं, ताकि आप सेहतमंद बन सकें। 

खून बढ़ाता है

सुबह उठकर सीमित मात्रा में एलोवेरा जूस का सेवन करने से शरीर में रेड ब्लड सेल्स बढ़ने लगते हैं जो हमारे शरीर में खून की कमी को दूर करने में काफी सहायक साबित होता है। 

अन्य उपाय

  • एलोवेरा के जैल को मिक्सर में अच्छी तरह से ग्राइंड कर लें। इससे एलोवेरा का जैल जूस में बदल जाता है। एलोवेरा के जूस को एक गिलास पानी में मिलाकर खाली पेट पीएं। 
  • खांसी में एलोवेरा का रस दवा का काम करता है। इसके पत्ते को भूनकर रस निकाल लें। आधा चम्मच जूस एक कप गर्म पानी के साथ लेने से नजले-खांसी में फायदा होता है।
  • जख्म, घाव और जलन जैसी कोई भी समस्या हो या फिर मुंह के छालों को दूर करना हो, इन सभी में एलोवेरा का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • पीलिया रोग से ग्रसित रोगी के लिए एलोवेरा एक औषधि है। 15 ग्राम एलोवेरा का रस सुबह शाम पीने से इस रोग से आराम मिलता है।
  • एलोवेरा मोटापा कम करने में फायदेमंद है। 10 ग्राम एलोवेरा के रस में मेथी के ताजे पत्तों को पीसकर उसे मिलाकर प्रतिदिन सेवन करें या 20 ग्राम एलोवेरा के रस में 4 ग्राम गिलोय का चूर्ण मिलाकर 1 महीने तक सेवन करने से मोटापे से राहत मिलती है।
  • अधिकतर लोग एसिडिटी होने और खाना न पचने की समस्या से ग्रस्त रहते हैं। शरीर में पेट संबंधी कोई भी बीमारी हो तो इसके लिए सुबह 20 ग्राम एलोवेरा के रस में शहद और नींबू मिलाकर सेवन करें। यह पेट की बीमारी को दूर तो करता ही है, साथ ही साथ पाचन शक्ति को भी बढ़ाता है। इसके अलावा एलोवेरा का रस बवासीर और डायबिटीज से निजात दिलाने में भी मदद करता है।

यह भी पढ़ें –इन आठ उपायों से दूर करें बर्नआउट

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें-editor@grehlakshmi.com