googlenews
पूरे दिन ऊर्जावान रहने के लिए करें ये 4 योगासन: Yoga for Energy Boost
Yoga for Energy Boost


Yoga for Energy Boost : शरीर का स्वस्थ रहना सबसे ज्यादा जरूरी है उसके लिए आपको हर संभव प्रयास करने चाहिए। आजकल की दिनचर्या में यदि हम शरीर के लिए कुछ नहीं करते तो ऐसा समय आता है कि हम बीमारियों के बीच घिरे हुए नजर आते है। एनर्जी लेवल डाउन होने लगता है और पूरे दिन सुस्ती महसूस होने लगती है। ऐसे में जरूरी है कि आप सुबह के समय कसरत करें। कसरत में आप योगा कर सकती हैं। योगा सेहत के लिए काफी फायदेमंद है, ये आपको ऊर्जावान बनाता है। तो इसके लिए हम यहां कुछ आसन बता रहे है उन्हें करें और पूरा दिन ऊर्जावान रहे-

ताड़ासन

Yoga for Energy Boost
Tadaasan

शरीर में सबसे ज्यादा जरूरी है कि उसमें अकड़न नहीं होनी चाहिए। जिस भी तरह आप बैठे उठे आपको कोई परेशानी न हों। अगर आप महसूस करते हैं कि आपके शरीर में बहुत अधिक अकड़न बनी हुई है और आपका पूरा दिन सुस्ती में निकलता है तो आप इस आसन को करके देखें। आप महसूस करेंगे कि आपका शरीर स्वस्थ महसूस होने के साथ इसमें ऊर्जा का संचार हो रहा है। ताड़ासन ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाकर बहुत सी बीमारियों से बचाता है।

ताड़ासन को करनेे का सही तरीका

  • इस आसन को आप दिन में से किसी भी समय कर सकते है बस केवल खाना खाने के तुरंत बाद इसे न करें।
  • ताड़ासन को करने के लिए सबसे पहले सीधा खड़े हो जाएं।
  • इसके बाद हाथ सीधे छत की तरफ करते हुए दोनों हाथों की उंगलियों को एक दूसरे में फंसा लें।
  • इसके बाद एड़ियों को उठाते हुए बैलेंस बनाएं और सांस को अंदर की तरफ खींचें।
  • आपके पूरे शरीर का खिचांव उपर की तरफ होगा।
  • फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए हाथ नीचे लाएं।
  • इसी तरह आप इसे तीन या चार बार कर सकते है।

उत्तानासन

Yoga for Energy Boost
Uttanasana

योग करने से हम पूरे दिन अपने आपको चुस्त महसूस करते हैं। योग में कुछ ऐसे आसन है जो आसान होने के साथ उन्हें करने में समय भी कम लगता है। साथ ही इन्हें हर कोई कर लेता है। इस आसन को आप ऑफिस हो या घर कहीं भी बैठे बैठे कर सकते हैं। ये आसन आपके अंदर तुंरत ऊर्जा भर देगा। साथ ही कई अंगों में होने वाली समस्याओं को भी दूर करता है। इस आसन में हमे झुकना होता है जिससे मस्तिष्क में रक्त का संचार पर्याप्त मात्रा में होने लगता है। इससे आपके पीठ,हिप्स,पैरों की मांसपेशियों,घुटने,कंधे सब प्रभावित होते हैं और इनको मजबूती मिलती है।

उत्तानासन को करने का सही तरीका

  • इसे करने के लिए सबसे पहले सीधे खड़े हो जाए दोनो पैरो में एक फिट की दूरी रखें।
  • सांस भरे और घुटनों को मोड़े बिना हाथों को नीचे की ओर ले जाएं।
  • हाथों से पैरो के अंगूठे को छूने की कोशिश करते रहे।
  • यदि आपके हाथ अंगूठे को छू लें तो हाथों को पीछे ले जाने की कोशिश कर एड़ी को पकड़ने की कोशिश करें।
  • इसे दो या तीन बार करें।

वीरासन

Yoga for Energy Boost
Veerasana

वीरासन योग का वह आसन है जिसमें आप शारीरिक और मानसिक दोनों ही रूपों में थकावट को खत्म करके ऊर्जावान महसूस करते है। ये आसन सुबह के समय करना ही ज्यादा फायदेमंद माना जाता है। इससे मांसपेशियों में खिंचाव आता है जिससे आपके पैर मजबूत बनते है। कई लोगों को रीढ़ की हड्डी को लेकर समस्या होती है ये उनके लिए काफी लाभदायक है। इसे करने से आप स्वयं में आत्मविश्वास महसूस करते है।

वीरासन करने का सही तरीका

इस आसन को कहीं भी किसी भी समय करना मुमकिन नहीं है क्योंकि इसके लिए आपको जमीन पर बैठकर इसे करना होता है। साथ ही एकाग्र रहना होता है।

  • इसके लिए आप जमीन पर साफ सुथरा मैट बिछा लें और उस पर घुटने मोड़कर बैठ जाएं।
  • सांस लेते समय ध्यान रखें कि सांस अंदर की तरफ धीर-धीरे खींचनी है।
  • साथ ही कमर और गर्दन आपकी सीधी होनी चाहिए।
  • ध्यान रखें इस आसन को करते हुए जब आप घुटनों को मोड़कर बैठें तो एड़ियों में दूरी हो।
  • साथ ही हाथ घुटनों पर रखें।
  • ध्यान रखें कि जितनी देर तक आप इस अवस्था को कर सकते है उतनी देर तक करें।

तितली आसन

Yoga for Energy Boost
Titli Asana

तितली आसन से मांसपेशियों में कसाव के साथ पैरो में ब्लड सर्कुलेशन तेजी से घूमता है। इसको करने का एक बड़ा फायदा ये भी है कि जब आपको सिर दर्द हो रहा हो या चिंता हो तो भी ये आसन करने से आपको फायदा पहुंचता है।

तितली आसन करने का सही तरीका

  • योगा मैट लेकर उस पर आराम से बैठ जाएं।
  • इसके बाद अपने दोनों पैरों को आगे की तरफ फैलाएं।
  • फिर पैरों को मोड़कर घुटनो और तलवों को एक दूसरे से मिला लें।
  • इसके हाथों को जांघों पर रखते हुए उन्हें जमीन पर लगाए
  • फिर दोनो हाथों से पैरो को तलवों को पकड़ लें।
  • अब तितली भांति की इन्हें हिलाएं, इस मुद्रा को थोड़ी देर तक करें।

योग करते समय किन बातों सावधानियां बरतें?

  • शारीरिक परेशानी जैसे बीमारी के दौरान, ऑपरेशन के बाद, जब मोच या फ्रैक्चर हो तो हर किसी को योग के अभ्यास से बचना चाहिए। इसके बाद डॉक्टर से सलाह लेकर ही योग की फिर से शुरूआत कर सकते हैं।
  • योग करते समय तंग कपड़े न पहनें इससे आप रिलैक्स होकर योग नहीं कर पाएंगे।
  • सुबह किया गया योग आपको पूरा दिन ऊर्जावान बनाएं रखता है।
  • योग करते समय ध्यान रखें कि आपको किसी तरह की चोट नहीं लगी हो।
  • खुली जगह पर योग करने से आपको योगा का और भी फायदा पहुँचेगा।
  • योग में पोस्चर पर भली प्रकार से ध्यान दें
  • योग करने में और खाना खाने में तीन घंटे का समय होना चाहिए।
  • हर आसन का अपना महत्व होता है तो जरूरी है कि आप योग ट्रेनर से पहले आसन सही से सीख लें।
  • मासिक धर्म में योग करने से बचें। 

(योग ट्रेनर सचिन चौधरी से बातचीत पर आधारित)

Leave a comment