अगर आपको भी अक्सर यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन हो जाता है तो आप निश्चित ही इस समस्या से बहुत अधिक परेशान होंगी और यह स्थिति बहुत अधिक दर्दनाक और असहज भी होती है। इस स्थिति के दौरान कहीं ट्रैवल करने का मन भी नहीं करता है लेकिन अगर आपने पहले से ही ट्रैवल का प्लान बना रखा है या फिर आप इस बात से डर रही हैं कि आपको ट्रैवलिंग के दौरान यूटीआई का सामना न करना पड़े हैं तो आपको आज के टिप्स पता होने चाहिए। जी हां हम आपके लिए एक स्मूद ट्रैवल अनुभव प्राप्त करने के लिए कुछ टिप्स लाएं हैं जो आपको यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन यानि की  यूटीआई से बचाने में बहुत लाभदायक सिद्ध होने वाली हैं और इसके लिए आप बाद में हमें धन्यवाद भी बोलने वाली हैं। आइए देर न करते हुए जान लेते हैं कि कौन सी हैं वह टिप्स।

अधिक से अधिक पानी पिएं: ट्रैवलिंग करने से पहले या ट्रैवलिंग करने के दौरान आपको अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए। इससे आपका शरीर हाइड्रेटेड तो रहेगा ही साथ में इससे अगर आपके शरीर में यूटीआई फैलाने वाला बैक्टीरिया होगा तो वह यूरिन के माध्यम से आपके शरीर से बाहर निकल आएगा। पानी पीने से आपके शरीर के सारे टॉक्सिंस बाहर निकल आते हैं तो आपको इंफेक्शन से बचाने के लिए काफी ज्यादा लाभदायक टिप है इसलिए कहीं जाते समय अपनी पानी की बॉटल को साथ ले जाना न भूलें।

फ्रेश जूस पिएं: अगर आप ट्रैवलिंग के समय फलों का फ्रेश फ्रेश जूस पीती हैं तो इससे आपका सारा शरीर कूल रहता है और यह टिप आपको यूटीआई से बचाने में काफी आवश्यक होती है। अगर आप फ्रेश जूस नहीं पीना चाहती हैं तो आप नारियल का पानी भी पी सकती हैं।

क्रैनबेरी जूस: अगर आप एक क्रैनबेरी लवर हैं तो आपके लिए यह बात एक बहुत बड़ी खुशखबरी हो सकती है कि कुछ स्टडीज में यह पाया गया है कि यह जूस आपको बार बार यूटीआई होने के रिस्क से बचा सकता है और यह आपकी वेजाइना की सेहत के लिए भी अच्छा होता है।

आपके पास एंटी बायोटिक्स तैयार रखें: कहीं भी बाहर जाने का प्लान बनाने से पहले एक बार आपको तुरंत फार्मेसी जाना चाहिए और अपने लिए सारे एंटी बायोटिक्स खरीद लेने चाहिए ताकि अगर आपको इंफेक्शन हो भी जाता है तो आपके पास उसका इलाज भी तुरंत संभव हो।

सेक्सुअल इंटरकोर्स के बाद तुरंत यूरिनेट करें: अगर आप कहीं बाहर जाती हैं और वहां सेक्सुअल इंटरकोर्स करती हैं तो उसके तुरंत बाद आपको यूरिन पास कर देना चाहिए। ऐसा करने से काफी सारे बैक्टीरिया जो यूटीआई के कारण बन सकते हैं, वह बाहर निकल जाते हैं।

टॉयलेट सेनिटाइजर स्प्रे का प्रयोग करें :अगर आप कहीं बाहर जाती हैं तो पब्लिक टॉयलेट या कहीं का भी टॉयलेट प्रयोग कटे समय अपने हाइजीन का बहुत अधिक ख्याल रखना पड़ता है। इसलिए इस हाइजीन को मेंटेन करने के लिए आपको टॉयलेट सेनिटाइजर स्प्रे का प्रयोग करना चाहिए।

तो यह थी कुछ टिप्स जो आपको बाहर ट्रैवलिंग करने से पहले जरूर ध्यान में रखनी चाहिए ताकि आप यूटीआई होने का खतरा बहुत कम कर सकें और इससे भी अधिक चीज होती है स्वच्छता। आपको अपने प्राइवेट एरिया की हाइजीन का बहुत ख्याल रखना चाहिए और कोशिश करनी चाहिए कि उस भाग में। कभी भी नमी न रहें नहीं तो वहां इंफेक्शन होने का रिस्क बढ़ सकता है

यह भी पढ़ें-क्या है रीजेनरेटिव ट्रैवल और क्यों है ये आम ट्रैवल से ज्यादा टिकाऊपर्यटन सम्बन्धी यह आलेख आपको कैसा लगा ?अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही  पर्यटन  से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com