अक्सर ये देखा गया है कि गर्मियों में सिरदर्द की समस्या हमें घेर लेती है। कई लोगों के साथ तो ये इतनी गंभीर हो जाती है कि उन्हें बार.बार सिरदर्द की दवा लेनी होती है। ऐसा कई कारणों से हो सकता है। जैसे गर्मी में तेज़ धूप के कारण, शरीर में पानी की कमी होने के कारण यां फिर बॉडी में किसी तरह के मिनरल की कमी के कारण आदि। लेकिन सबसे आम वजह है डिहाइड्रेशन। इसके लिए फलों और सब्जियों को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। ऐसा करने से डिजाइड्रेशन की समस्या थोड़ी कम होगी। इसके अलावा अगर आप बार बार सिर दर्द से ग्रस्त हो रहे हैं, तो कुछ योगासन आपको इस परेशानी से निजात दिला सकते हैं। आइए जानते हैं, कुछ योगासन।

 

शवासन

शवासन में लेट कर सबसे जरूरी काम है ध्यान लगाना। इसे करने से न सिर्फ शरीर बल्कि दिमाग भी ठंडा होता है। ये आसन आपका ध्यान केंद्रित करने के लिए है और इसकी वजह से धीरे.धीरे सिरदर्द में आराम मिलने लगता है। शवासन की प्रक्रिया आसान है। इसमें आपको सोने की स्थ्तिि में लेटना होता है, लेकिन आपको सोना नहीं है बल्कि मन को शांत रखना है और एकाग्रता से ध्यान लगाना है। ये मेडिटेशन का अच्छा तरीका हो सकता है। ये देखने में आसान है, लेकिन ध्यान लगाना ही इस आसन की सबसे मुश्किल बात है।

 

वरुण मुद्रा

अगर शरीर में पानी की कमी हो रही है तो वरुण मुद्रा उस डिहाइड्रेशन से शरीर को उबारने में मदद करती है। इसे आप पद्मासन भी कह सकते हैं। इसे करते समय ध्यान रहे सबसे छोटी उंगली से अंगूठे को टच करें। सबसे जरूरी बात ये है कि अगर आपके नाखून लंबे हैं तो नाखूनों को टच नहीं करना है बल्कि सिर्फ और सिर्फ स्किन को टच करना है। इसे करने के बाद भी आंखों को बंद कर अपना ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करें। जितना ज्यादा ध्यान एक जगह केंद्रित होगा उतना ही ज्यादा मानसिक तनाव से मुक्ति मिलेगी। ये सिरदर्द के लिए फायदेमंद है।

 

शीतकारी प्राणायाम

शरीर को ठंडा रखने के लिए ये प्राणायाम बहुत अहम साबित हो सकता है। इसे करते समय जीभ को मुंह के अंदर मोड़ते हुए तालु पर लगाएं और दांतों को एक साथ मिलाते हुए होठों को खोल लें। अब आपको हवा अंदर की ओर खींचनी है जिससे हवा छन कर शरीर के अंदर जाए। मुंह बंद करें और कुछ सेकंड बाद सांस को नाक से धीरे.धीरे बाहर छोड़ें। दोबारा सांस लेनी हो तो ऐसे ही मुंह से लें। इससे शरीर में ज्यादा गर्मी नहीं होती है। धीरे.धीरे इससे सिरदर्द की समस्या में आराम मिलेगा। इस आसन को करने के लिए पहले सीधे खड़े हो जाएं और फिर धीरे.धीरे घुटने टेकने की मुद्रा में आगे की ओर झुकें। अब अपनी कोहनी हथेली व उंगलियों को जमीन पर रखें। इस मुद्रा में आने के बाद धीरे.धीरे अपनी पीठ, पैर और हिप्स को ऊपर की ओर उठाएं।

ध्यान रहे कि आपकी रीढ़ की हड्डी सीधी रहे। इसी मुद्रा में रहते हुए कुछ सेकंड गहरी सांस लें और छोड़ें। फिर वापस अपनी प्रारंभिक अवस्था में आ जाएं। इस आसान को करने से आपके सिर और गर्दन को काफी आराम मिलेगा और दर्द भी दूर हो सकता है।

 

मार्जरी आसन

इसे करने के लिए सबसे पहले आप दोनों घुटनों और हाथों के बल बिल्ली की मुद्रा में आ जाएं। अब सांस लेते हुए सिर को ऊपर की तरफ ले जाएं और कमर को नीचे की तरफ दबाएं। इसके बाद सांस छोड़ते हुए सिर को नीचे ले जाएं व ठोड़ी को छाती से लगाने की कोशिश करें और साथ ही कमर को ऊपर की तरफ उठाएं। इससे गर्दन, पीठ व कंधे को आराम मिलेगा और लचक आने के साथ.साथ दर्द भी कम हो सकता है।  

 

हस्त पादासन

सीधे खड़े होकर आगे की तरफ झुकने से हमारे नाड़ी तन्त्र में रक्त की आपूर्ति अधिक होती है जिससे वह प्रबल होता है। इससे मन भी अधिक शांत होता है।

 

पश्चिमोतानासन

बैठ कर दोनों पैरो को आगे की ओर फैला करए हाथों को पैर की तरफ ले जाते हुए आगे की ओर झुकने से मस्तिष्क शांत होता है और तनाव दूर होता है। इस आसन से सिरदर्द में भी आराम मिलता है।

 

सीधे बैठें

ऑफिस में ज्यादा लोग कुर्सी पर आराम की मुद्रा में बैठते हैं जो आपके लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। सी शेप में बैठने से कमर से झुक जाते हैं। इसके लिए सिर को ऊपर की ओर उठाना पड़ता है। इससे गर्दन की नसों पर अतिरिक्त खिंचाव पड़ता है जो दर्द का कारण बनता है। कुर्सी पर बैठकर हमेशा पैरों को एकदम सीधा रखना चाहिए। वहीं, कमर को सीध में रखते हुए, सिर को भी सीधा रखना चाहिए।

 

सिरदर्द से बचाव के कुछ आसान तरीके

गर्दन या सिर की हल्की.हल्की मालिश करें।

धूम्रपान या शराब का सेवन न करें।

सिर पर ठंडा कपड़ा रखें।

अंधेरे और शांत कमरे में आराम करें।

नींद पूरी करें।

सोने की मुद्रा में बदलाव करें।

तकिया बदलें।

अगर आंखों की समस्या है और कोई चश्मा लगाता हैए तो नियमित तौर पर चश्मा लगाएं।

व्यायाम करें।

ध्यान लगाएं।

टीवी, फोन, लैपटॉप या कम्प्यूटर के सामने देर तक न बैठें।

 

इसके अलावा, आप सिर में किसी ठंडे तेल से मालिश करें। गर्मियों की वजह से अगर सिरदर्द हो रहा है तो इससे ठीक हो जाएगा। हल्का प्रेशर देते हुए उंगलियों की टिप से ही सिर के स्कैल्प पर मसाज करें। इससे सिर में ब्लड फ्लो बना रहेगा और सिर दर्द में आराम मिलेगा। पर ध्यान रखें कि ठंडा तेल हो। चाहें तो तेल को थोड़ी देर बर्फ के पानी में रख सकती हैं उसके बाद मसाज करें।

 

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव लेख भी हमें मेल करें-editor@grehlakshmi.com

 

यह भी पढ़ें

6 ब्रीदिंग एक्सरसाइज करें रोज़ और बढ़ाएं इम्यूनिटी