डाइटिंग करना एक ट्रेंड बन चुका है जिसे आज कल हर कोई फॉलो कर रहा है।  लेकिन क्या आप जानती हैं कि डाइटिंग से आपका जितना भी वजन कम होता है।  वह डाइटिंग छोड़ने के बाद तुरंत बाद जाता है और केवल इतना ही नहीं आपको डाइटिंग से बहुत सारे ऐसे साइड इफेक्ट्स भी मिलते हैं ।  जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक हैं। जो आपको दूसरों के सामने शर्मिंदा भी कर सकते हैं। ऐसे साइड इफेक्ट्स के बारे में आम तौर पर कोई बात नहीं करता । इसलिए किसी को इनके बारे में पता नहीं होता है। अगर आप डाइटिंग करने की प्लानिंग कर रही हैं तो आपको डाइटिंग के यह साइड इफेक्ट्स जरूर जान लेने चाहिए। 

आप पूरा दिन चिड़चिड़ी रह सकती हैं: अगर आप डाइट कर रही हैं तो यह संभव है कि बहुत कम कार्ब्स का सेवन कर रही होंगी। कार्ब्स से आपको एनर्जी मिलती है।  लेकिन अधिक कार्ब्स की कमी के कारण आपकी ब्लड शुगर लेवल भी ड्रॉप हो सकती है। आपका दिमाग आपके शरीर का एक ऐसा अंग है जो कार्ब्स पर ही निर्भर रहता है।  इसलिए अगर आप उसे आवश्यक पोषण उपलब्ध नहीं करवाएंगी तो वह आपका कोई भी काम ढंग से नहीं कर पाएगा।

आपके पीरियड्स में भी हो सकती है गड़बड़ी: आपके शरीर में मौजूद डाइट्री फाइबर के द्वारा ही ओएस्ट्रोजन प्रोडक्शन होता है।  जिस कारण आपके पीरियड आते हैं और अगर आप डाइट्री फाइबर का सेवन नहीं करेंगी।  तो आपके इस हार्मोन के लेवल ड्रॉप हो जायेंगे।  जिसकी वजह से आपके पीरियड्स लेट आ सकते हैं। फैट भी आपकी मेंस्ट्रुएशन साइकिल के लिए आवश्यक होता है।

आपके हाथ और पैर रह सकते हैं हमेशा ठंडे: अगर आप एकदम से अपने शरीर को खाना देना बंद कर देती हैं।  या फिर कार्ब्स और आवश्यक पोषण का सेवन नहीं करती हैं तो आपका शरीर आपके अंदर मौजूद फैट को बर्न करने की बजाए उसे जमा करने लग जायेगा और इस वजह से आपके हाथ और पैर हमेशा ठंडे रहेंगे। यह एक लक्षण होता है कि आपके शरीर की आवश्यक पोषण की जरूरत पूरी नहीं हो रही है।

आपके मुंह से आ सकती है बहुत गंदी स्मेल: जब आप अपने शरीर को पर्याप्त कार्ब्स नहीं उपलब्ध करवाती हैं।  तो उसमें फैटी एसिड बनने लगते हैं जिन्हें कीटोन कहा जाता है और यह एक फ्यूल की तरह बर्न होना शुरू हो जाते हैं। इस प्रक्रिया के दौरान आपकी सांसों से और आपके मुंह से बहुत गंदी स्मेल आने लग जाती है। अगर आप इसका अंदाजा लगाना चाहती हैं तो नेल पॉलिश रिमूवर को सूंघ कर देखें उसमें भी कीटोन मौजूद होते हैं।

आपके अंदर सेक्सुअल इच्छाएं कम हो जाती हैं: अगर आपके शरीर में फैट का सेवन बहुत कम हो रहा होगा तो लुब्रिकेशन, अराउजल आदि आपको बहुत कम ही महसूस करने को मिलेंगे। इनसे आपके हार्मोन्स असंतुलित हो जाते हैं जिस कारण ऐसा होता है। आपको एक दिन में 30% फैट का सेवन करना चाहिए और कोशिश करें कि सारा फैट हेल्दी ही हो ताकि आपका वजन अधिक न बढ़ सके।

वजन कम करने के लिए आपको डाइट की नहीं बल्कि कुछ ऐसे लाइफस्टाइल की जरूरत होती है जो हेल्दी हो। अगर आप किसी दिन अधिक भी खा रही हैं तो कोशिश करें कि हेल्दी खाएं और अपना पोर्शन साइज कंट्रोल करना बिल्कुल न भूलें। डाइट आदि सब एक प्रकार के स्कैम होते हैं जिसमें आप खुद को ही सजा देती हैं और नतीजे भी लंबे समय तक नहीं टिक पाते हैं।

यह भी पढ़ें-फोलिक एसिड को इन 5 तरह से डाइट में करें शामिलस्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com