नवरात्रि में आपका भोजन
नवरात्रि व्रत की थाली

नवरात्रि 9 दिनों का त्यौहार है । इन 9 दिनों हम दुर्गा मां की पूजा करते हैं और व्रत रखते हैं। व्रत के इन 9 दिनों में हम कुछ खास तरह की चीजें ही खाते हैं। हम सब व्रत तो रख लेते हैं लेकिन यह नहीं सोचते कि उपवास में हमारी बॉडी का हेल्दी रहना भी बहुत जरूरी है। इस समय आपको अपने खान- पान का खास ध्यान रखना चाहिए ताकि नवरात्रि व्रत आपके शरीर पर विपरीत असर न डाले। इसलिए यहां व्रत में खाने- पीने संबंधित कुछ जरूरी चीजों के बारे में बताया जा रहा है। साथ ही उन चीजों के बारे में भी बताया जा रहा है, जिनसे आपको परहेज करना चाहिए। 

तरल पेय पदार्थ 

नारियल पानी

पानी हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी है। हमारा शरीर सही तरह से अपने सभी काम करता रहे, इसके लिए आपको रोजाना पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए। व्रत के दौरान अगर आप लिमिटेड चीजें ही खाती हैं तो सुनिश्चित करें कि आपकी डाइट में फल, फलों का जूस, दूध और नारियल पानी जरूर शामिल हो। इससे आपकी बॉडी का न्यूट्रिशन स्तर सही बना रहता है। अगर आप उन लोगों में हैं, जो यह सोचते हैं कि चाय और कॉफी का सेवन खूब करना चाहिए , तो आप गलत हैं। भले ही ये पेय पदार्थ हैं लेकिन ये आपको डिहाइड्रेट कर सकते हैं।

उतना ही खाएं जितना जरूरी 

सही अनुपात में खाना

उपवास के दौरान हम सब लिमिटेड मात्रा में खान- पान करते हैं। कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो व्रत के नाम पर ज्यादा खा लेते हैं। उन्हें लगता है कि उन्होंने उपवास रखा है, तो उन्हें रोजाना की चीजों को छोड़कर सब कुछ खाना चाहिए। ये सब कुछ कभी- कभार अधिकता में हो जाता है, हालांकि इस अधिकता के पीछे उनकी सोच रहती है कि उनका पेट भरा रहे। यदि आप सही अनुपात में खाना नहीं खाएंगे तो आपका पेट खराब होने की आशंका हो सकती है। इसलिए व्रत के चक्कर में अनुपात से ज्यादा कतई न खाएं। 

चीनी से परहेज

चीनी का कम से कम सेवन

व्रत का मतलब सिर्फ मीठी चीजें और चीनी नहीं है। आपके लिए यह जानना और समझना जरूरी है कि चीनी बिल्कुल भी हेल्दी नहीं होती है। इसे प्रोसेस करके तैयार किया जाता है, जिसे दरअसल रिफाइंड शुगर कहा जाना चाहिए। अगर आपका मीठा खाने का मन ही करता है तो आपको गुड का सेवन करना चाहिए लेकिन वह भी सीमित मात्रा में। आप चाहें तो गन्ना का सेवन भी मीठेपन के लिए कर सकती हैं। 

पैकेज वाले फूड बिल्कुल नहीं  

पैकेट वाले फूड सही नहीं

शाम होते ही भूख सी लग आती है और मन करता है कि कुछ हल्का- फुल्का खा लिया जाए। आप अपने किचन में गईं और आपने रंग- बिरंगे पैकेट में आलू के चिप्स देखें। ये भले ही व्रत वाले होते हैं लेकिन इन्हें बहुत ज्यादा न खाएं। इसकी जगह पर आप शकरकंद के बने फ्राइज, नट्स, फल, मखाना आदि खा सकती हैं। ये हेल्दी होते हैं, आपकी भूख भी शांत हो जाती है और ये पेट को भारी भी महसूस नहीं कराते हैं। व्रत का मार्केट दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। इसमें खाने- पीने की चीजें भी शामिल हैं। आपके लिए यह जाना जरूरी है कि इनमें से अधिकतर चीजें प्रोसेस्ड होती हैं, जो किसी भी लिहाज से हेल्दी फूड की केटेगरी में शामिल नहीं हैं। इन्हें लो स्टैंडर्ड चीजों से तैयार किया जाता है। नवरात्रि का व्रत आपने देवी दुर्गा की आराधना और पूजा के लिए रखा है, आप नवरात्रि के व्रत में ऐसी चीजें तो कतई नहीं खाना चाहेंगी। 

फाइबर वाले भोजन

फाइबर युक्त केला रखे डायजेशन सिस्टम को सही

फाइबर वाले फूड के सेवन की सलाह हमेशा दी जाती है क्योंकि ये हमारे डायजेशन सिस्टम को सही रखते हैं। इससे पेट भी खराब नहीं होता है, बल्कि भूख भी कम लगती है। व्रत- उपवास के दौरान भी फाइबर वाले फूड जल्दी पच जाते हैं। फाइबर वाले फूड्स की कैटेगरी में आप अरबी, केला, कद्दू और कुछ हद तक आलू खा सकती हैं। इनमें फाइबर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है और ये जल्दी पच भी जाते हैं। भूख शांत होती है, वह अलग!  

घी वाला भोजन ज्यादा नहीं

घी ज्यादा नहीं

व्रत और उपवास के समय आप अब तक सबसे सुनती आई होंगी कि शुद्ध घी में बने भोजन का सेवन करना चाहिए। बात भी सही है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप इसका सेवन जरूरत से ज्यादा कर लें। भले ही आपका मन उन चीजों को देखकर ललचे लेकिन आप जरूरत से ज्यादा घी वाला भोजन लेंगी तो आपका पेट उसे डायजेस्ट नहीं भी कर सकता है। इसलिए डीप फ्राइड नमकीन की जगह आप फ्रूट चाट खाएं और अपने टेस्ट बड्स को शांत रखें। 

भरपूर नींद

7 से 8 घंटे की नींद

व्रत के इन 9 दिन हमारी बॉडी डिटॉक्स मोड में चल रही होती है। इसलिए इस समय जरूरी है कि आप अपने शरीर को आराम दें। अगर आप अपनी रोजाना की नींद 7 से 8 घंटे नहीं लेंगी तो आपकी बॉडी को आराम नहीं मिलेगा और वह डिटॉक्स का काम सही तरह से नहीं कर पाएगी। इस समय मेडिटेशन वाले एक्सरसाइज भी करने चाहिए, जिससे आपकी बॉडी सही तरह से डिटॉक्स हो जाए। 

खुद को ज्यादा परेशान नहीं 

थोड़ा- थोड़ा करके खाते रहना जरूरी

ये 9 दिन शांति पाने के लिए होते हैं। चूंकि आपकी बॉडी डिटॉक्स मोड में होती है, तो जरूरी है कि आप अपने शरीर को बहुत थकाए नहीं। हो सकता है कि किसी- किसी दिन आप सेलिब्रेशन के मूड में हों, लेकिन लंबे समय तक भूखे रहने की गलती बिल्कुल मत कीजिए। पूरे दिन कुछ न कुछ खाते रहिए ताकि आपकी बॉडी एनर्जी महसूस करती रहे। आखिर दुर्गा मां ने यह तो नहीं कहा कि खुद को कष्ट देकर मुझे याद करो! 

मोटापा बढ़ाने वाली डाइट कम से कम लें 

मखाना है बढ़िया

विभा बाजपेयी, हेड डायटीशियन, एशियन अस्पताल,  फरीदाबाद के अनुसार अगर किसी को डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, लो हीमोग्लोबिन जैसी समस्याएं हैं तो उन्हें नवरात्रि व्रत के समय अपनी डाइट में प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम और फाइबर आदि पोषक तत्त्वों को प्रचुर मात्रा में शामिल करना चाहिए। मोटापा बढ़ाने वाली डाइट कम से कम मात्रा में लेना चाहिए। अपने व्रत की डाइट में पनीर, दूध, मखाना, मूंगफली, फ्लेक्स सीड्स, रसीले फल, हरी सब्जियां, हरा सलाद, दही, सिंघाड़े का आटा, बादाम, अखरोट, किशमिश, चिया सीड्स जैसे फूड्स को शामिल करना चाहिए। इस समय विशेष तौर पर फ्राइड फूड्स के सेवन से बचना चाहिए। 

Leave a comment