googlenews
kaise karein shivling ka abhishek

पुराणों और धर्मग्रंथों में इस बात का जिक्र है कि भगवान शिव को पूरे साल में अगर कोई महीना पसंद है तो वो है सावन का महीना। कहा जाता है कि इस महीने में ही माता पार्वती ने भगवान शिव की घोर तपस्या की थी, जिसके बाद भगवान शिव ने उन्हें दर्शन दिए थे। साथ ही साथ माता पार्वती की इच्छा को पूरी कर उन्हें अपनी जीवन संगिनी बनाया था। तब से भक्तों को विश्वास है कि इस पवित्र महीने में शिवजी की तपस्या और पूजा पाठ करने से भगवान शिव जल्दी प्रसन्न होते हैं और हमारी सभी मनोकामनाओं को पूरा करते हैं। इस महीने में हर शिवालय को अच्छी तरह से सजाया जाता है और साथ ही साथ भगवान शंकर का विशेष श्रंगार भी किया जाता है। मंदिरों में शिव भक्तों की लंबी लंबी कतारें और पूरा शिवालय बाबा भोलेनाथे के जयकारों से गुंजायमान हो जाते हैं। इस महीने में पड़ने वाले सभी सोमवारों की महिमा शिवरात्रि से कम नहीं होती। कहते हैं कि सावन महिने में पड़ने वाले किसी भी सोमवार को द्वादश ज्योतिर्लिंग के दर्शन करना अति मंगलमय होता है।

सावन में शिव भक्त कांवड़िया कांवड़ लेकर गंगा जल लेने जाते हैं और फिर बाबा भोलेनाथ पर अभिषेक करते हैं। ये यात्रा सावन के महीने में काफी रोचक और आनंददायक होती है। सावन के महीने की शुरुआत हो गई है और आज सावन का पहला सोमवार है, हिंदू धर्म में सावन का महीना भगवान शिव की कृपा पाने का महीना माना जाता है। सावन के महीने में शिव भक्त अपनी विशेष मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए सोमवार का व्रत रखते हैं। पुराणों में कहा गया है कि अन्य दिनों के अपेक्षा सावन के महीने में भगवान शिव की पूजा अर्चना करने से उसका कई गुना लाभ व्यक्ति को मिलता है। भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए उनके भक्त इस महीने शिवलिंग पर फूल और प्रसाद चढ़ाते हैं।

 

आइए जानते हैं कि किन 7 चीजों से शिवलिंग का अभिषेक करने पर भोलेबाबा प्रसन्न होते हैं।

दूध से अभिषेक

अगर आपके घर में हर समय कलह का वातावरण बना रहता है तो आपको शिवलिंग पर दूध चढ़ाना चाहिए। ऐसा करने से घर,ऑफिस का कलह शांत होने के अलावा मूर्ख व्यक्ति भी बुद्धिमान बन जाता है।

जल चढ़ाएं

शिवलिंग पर जल से अभिषेक करने से विभिन्न कामनाएं पूरी होती हैं। रोजाना शिवलिंग पर जल चढ़ाने से मन शांत रहता है और शिव जी जल्द प्रसन्न हो जाते हैं।

देसी घी से अभिषेक

यदि घर में कोई व्यक्ति अक्सर बीमार रहता है तो आपको भगवान महादेव के लिंग पर शुद्ध देसी घी का अभिषेक करना चाहिएण् ऐसा करने से रोग दूर होने के साथ आपके वंश का विस्तार भी होता है।

इत्र चढ़ाएं

अगर आप अपने शादीशुदा जीवन से खुश नहीं है तो भगवान शिव के लिंग पर इत्र से अभिषेक करें, ऐसा करने से आपके अपने पति के साथ संबंध मधुर बनेंगे।

शहद से करें अभिषेक

यदि घर में किसी व्यक्ति को गंभीर रोग है तो उसे शहद से शिवलिंग का अभिषेक करना चाहिए, ऐसा करने से स्वास्थ्य से जुड़ी बीमारियां दूर हो जाती हैं।

गन्ने के रस से अभिषेक

यदि आप अपने जीवन से बेहद दुखी हैं तो ऐसे में आप गन्ने के रस से शिवलिंग का अभिषेक करें, ऐसा करने से आपके घर में खुशियां लौट आएंगी।

गंगाजल चढ़ाएं

जो शिवभक्त मृत्यु के बाद मोक्ष प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें शिवलिंग पर गंगाजल से अभिषेक करना चाहिए।

इसके अलावा

  • शिवलिंग पर कच्चे चावल चढ़ाने से धन-संपत्ति की प्राप्ति होती है।
  • तिल चढ़ाने से समस्त पापों का नाश होता है।
  • शिवलिंग पर जौ चढ़ाने से लंबे समय से चली रही परेशानी दूर होती है।
  • शिवलिंग पर गेहूं चढ़ाने से सुयोग्य पुत्र की प्राप्ति होती है।
  • शिवलिंग पर जल चढ़ाने से परिवार के किसी सदस्य का तेज बुखार कम हो जाने की मान्यता है।
  • शिवलिंग पर दूध में चीनी मिलाकर चढ़ाने से बच्चों का मस्तिष्क तेज होता है।
  • शिवलिंग पर गन्ने का रस चढ़ाने से सभी सांसारिक सुखों की प्राप्ति होती है।
  • शिवलिंग पर गंगा जल चढ़ाने से मनुष्य को भौतिक सुखों के साथ-साथ मोक्ष की प्राप्ति भी होती है।
  • शिवलिंग पर शहद अर्पित करना करने से टीबी या मधुमेह की समस्या में राहत मिलती है।
  • शिवलिंग पर गाय के दूध से बना शुद्ध देसी घी चढ़ाने से शारीरिक दुर्बलता से मुक्ति मिलती है।
  • शिवलिंग पर आंकड़े के फूल चढ़ाने से सांसारिक बाधाओं से मुक्ति मिलती है और मोक्ष की प्राप्ति होती है।
  • शिवलिंग पर शमी के पेड़ के पत्तों को चढ़ाने से सभी तरह के दु:खों से मुक्ति प्राप्त होती है।

यह भी पढ़ें –सद्गुरु की खोज

धर्म -अध्यात्म सम्बन्धी यह आलेख आपको कैसा लगा ?  अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही  धर्म -अध्यात्म से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें-editor@grehlakshmi.com