फूड को कुक करने के लिए हम सभी कई तरह की तकनीक का सहारा लेती हैं। इन्हीं में से एक फूड को डीप फ्राई करना। यकीनन फूड को डीप फ्राई करना खाना पकाने के तरीकों में सबसे हेल्दी ऑप्शन नहीं है, लेकिन यह आपके खाने को बेहद डिलिशियस बनाता है। यही कारण है कि डीप फ्राई फूड को देखकर मुंह में पानी आ जाता है। अमूममन देखने में आता है कि हेल्थ कॉन्शियस लोग डीप फ्राई फूड खाना अवॉयड करते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि यह बहुत अधिक ग्रीसी व ऑयली होता है। हालांकि, वास्तविकता यह है कि कुकिंग ऑयल विशेष रूप से अस्वास्थ्यकर नहीं होते हैं। डीप-फ्राइड फूड केवल कभी चिकना व ग्रीसी होता है जब इसे अनुचित तरीके से पकाया गया हो। मसलन, अगर आप इसे कम तापमान पर पकाती हैं तो इससे खाने में ऑयल रह जाता है। वहीं अगर तापमान बहुत अधिक होता है, तो इससे फूड जल सकता है। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको डीप फ्राई फूड बनाते समय ध्यान रखी जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण टिप्स के बारे में बता रहे हैं-

तेल के चयन में ना करें गड़बड़ी

वैसे तो कई तरह के कुकिंग ऑयल मार्केट में अवेलेबल है और हर किसी का अपना एक अलग प्रभाव होता है। हालांकि, यहां आपको इस बात का जरूर ध्यान रखना चाहिए कि हर ऑयल डीप फ्राइंग के लिए सही नहीं होता। चूंकि, डीप फ्राई करते समय तापमान बहुत अधिक होता है और हर ऑयल इसके लिए नहीं बना होता है। डीप फ्राइंग के लिए राइस ब्रेन ऑयल काफी अच्छा माना जाता है,क्योकि यह लगभग 500 ° F के तलने के तापमान का सामना कर सकते हैं। यदि आप 400-450° F पर तल रहे हैं, तो आप मूंगफली का तेल, सूरजमुखी का तेल, सरसों का तेल या वनस्पति तेल का भी उपयोग कर सकते हैं।

तापमान पर रखें नजर

जिस तेल में आप अपने फूड को डीप फ्राई कर रहे हैं, उसे तापमान पर भी ध्यान रखना बेहद आवश्यक है। तेल का तापमान – 350 और 375 डिग्री फ़ारेनहाइट के बीच होना चाहिए। आप डीप फ्राई करने से पहले तापमान की जांच करने के लिए एक ऑयल थर्मामीटर का प्रयोग भी कर सकती हैं। अगर आप चाहें तो तेल के सही तापमान की जांच करने के लिए आप उसमें एक ब्रेड क्यूब डालकर देखें। यदि यह 60 सेकंड के भीतर भूरा हो जाता है, तो इसका अर्थ है कि आपके तेल का तापमान सही है।

एक समान टुकड़ों में काटे अपना फूड

यह भी एक छोटी सी मिसटेक है, जिस पर अक्सर महिलाएं ध्यान नहीं देतीं, लेकिन इस पर भी फोकस करना आवश्यक है। आप चाहे चिकन बना रहे हों या फिर, सब्जियों या मछली को डीप फ्राई कर रहे हों, आप सभी टुकड़ों को एकसमान रूप से काटें। आपके इस छोटे से स्टेप से खाना समान समय में समान रूप से पक जाएगा। बड़े टुकड़ों को फ्राई करने के लिए अधिक समय की आवश्यकता होगी।

कुछ देर के लिए करें होल्ड

अगर आप डीप फ्रायर में फूड को फ्राई कर रही हैं तो ऐसे में इसे तेल की सतह के ठीक नीचे लगभग पाँच सेकंड के लिए रखें, फिर इसे अपने चिमटे की मदद से छोड़ दें। यह इसे फ्रायर में अन्य खाद्य पदार्थों से चिपकने से रोकता है और आपके फ्राईड फूड को अधिक क्रिस्पी व टेस्टी बनाता है।

पानी से बचें

यह तो हम सभी जानती हैं कि पानी और तेल मिक्स नहीं होता है। इसलिए जब आप अपने फूड को डीप फ्राई कर रही हैं तो अपने हाथों व आसपास के एरिया को सूखा ही रखे। मसलन, अगर आपके हाथ गीले होंगे या फिर गलती से कड़ाही में पानी चला जाता है, तो इससे आपके जलने की संभवना काफी बढ़ जाती है। इसलिए, इस बात पर विशेष रूप से ध्यान दें कि आपके फ्राइंग एरिया के आसपास पानी आपको नुकसान ना पहुंचा पाए।

ओवरफिल न करें

भले ही आप गैस पर डीप फ्राइंग करें या फिर फ्रायर का इस्तेमाल करें। इस बात का ख्याल रखें कि आप इसे ओवरफिल ना करें। जहां कड़ाही में एक बार में अधिक फूड डालने से वह आपस में चिपकता है और फिर उसे सही तरह से कुक करने में समस्या होती है। साथ ही साथ खाना चिपकने से वह क्रिस्पी नहीं रहता। ठीक इसी तरह, फ्रायर में भी एक बार में बहुत अधिक खाना डालने से आपका खाना चिकना या गीला हो सकता है। वहां बहुत सारी चीज़ें एक साथ तेल के समग्र तापमान को भी प्रभावित करती हैं। जिससे आपके खाने का टेस्ट बिगड़ सकता है।

तलने से पहले नमक से परहेज करें

हर कुकिंग तकनीक में स्वाद को सुनिश्चित करने का अपना एक तरीका होता है। उदाहरण के तौर पर, ग्रिल पर खाना पकाते समय, हम आम तौर पर उन्हें कुछ नमक और काली मिर्च के साथ सीजन करते हैं। हालाँकि, आप डीप फ्राई करते समय ऐसा नहीं कर सकते। नमक तेल के स्मोक प्वाइंट को कम कर सकता है। इसके बजाय, भोजन को गर्म तेल से निकालने के तुरंत बाद उसमें नमक डालें – इससे नमक भोजन में चिपक जाएगा। आप चाहें तो इसके साथ अपनी पसंद के मसालों की सीजनिंग भी कर सकते हैं। जिसके कारण उसका टेस्ट बढ़ जाएगा।

यह भी पढ़ें- किचन में मौजूद इन चीजों की मदद से नेचुरली क्लीन करें अपना फेस

फूड संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही फूड से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें –editor@grehlakshmi.com