नीबूं

पेट दर्द के लिए-नमक, अजवायन, जीरा, चीनी सब दो-दो ग्राम बारीक करके थोड़ा नींबू निचोड़कर खाने से दर्द को फायदा करता है। गर्म पानी से खायें।

कब्ज-दो नींबू का रस, सुबह शौच के बाद, पुनः शाम को 250 मि. ली. पानी के साथ पीने से कब्ज दूर होती है।

अजीर्ण-नींबू के रस में जायफल पीसकर चाटने से अजीर्ण में लाभ होता है अथवा भोजन से पूर्व नींबू अदरक और सैंधा नमक मिलाकर चबाकर खाने से अजीर्ण खत्म होता है। और भूख खुलकर लगती है।

दांत दर्द- थोड़ा लौंग पीसकर नींबू (निचोड़कर) मलने से दर्द ठीक होता है। खाने का सोड़ा मलने से भी दर्द ठीक होता है।

पेचिश- आधा पाव ताजा पानी में नींबू निचोड़कर दिन में तीन बार पियें, पेचिश को फायदा होता है।

सिर चकराना– पेट की गैस की वजह से सिर चकराता हो, दौर पड़ता हो तो एक प्याली गर्म पानी में नींबू निचोड़कर आठ दिन पिलाएं। सिर का चकराना जल्दी ठीक हो जाएगा।

सीने में जलन-250 ग्राम ठंडे पानी में नींबू निचोड़कर पीने से सीने की जलन और दिल घबराने में आराम देता है।

खूनी बवासीर-1 नींबू काटकर 4 ग्राम कत्था पीसकर नींबू पर छिड़क दें और रात को छत पर रखें, सुबह दोनों टुकड़ें चूस लें। खून बन्द करने के लिए एक बढ़िया दवा है। 5 दिन इस्तेमाल करें।

मोटापा दूर करना- 1 नींबू 250 ग्राम पानी में निचोड़कर निराहार मुंह पियें। गर्मियों में दो महीनें पीने से हल्का हो जाता है।

नुस्खा पेट के रोग– पेट में बाय, दर्द, कब्ज, भूख का न लगना इत्यादि  के लिए नीबूं के दो टुकडे करके, त्रिफला, अजवायन, काला नमक 50-50 ग्राम, काली मिर्च 1-1 तोला, घी ग्वार आधा किलो सबको कूटकर छानकर घी ग्वार के छोटे-छोटे टुकड़े करके मिट्टी के बर्तन में 15 दिन तक धूप में रखें, नमक सेंधा 30 ग्राम मिलायें । दवा तैयार हैं।