Posted inकथा-कहानी

पड़ोसी की बदलती परिभाषा—गृहलक्ष्मी की लघु कहानी

Neighbour Story: एक समय था जब पड़ोसियों का दर्जा रक्त संबंधों से भी उॅचा था। लोगों का विश्वास था कि संकट के समय में सबसे पहले पड़ोसी ही काम आते है। फिर रिश्तेदार—नातेदार। हर कोई अच्छा पडोसी चाहता था। उससे बेहतर व्यवहार की उम्मीद करता था और निश्चिंत रहता था। एक कप चीनी हो या […]