Posted inउपन्यास

अभिशाप – राजवंश भाग-27

आनंद ने द्वार खोल दिया। सामने मनु खड़ी थी। मनु को देखकर उसके होंठों से चौंकने वाला स्वर निकला- ‘तुम!’ ‘भारती कहां है?’ ‘वह अपने घर है। उसकी छोटी बहन आरती ने आत्महत्या कर ली है। मैं भी वहीं से आ रहा हूं।’ मनु ने फिर कुछ न कहा और यों खड़ी रही-मानो कुछ भूल […]