Posted inकथा-कहानी

प्यारा घर-गृहलक्ष्मी की कहानियां

गृहलक्ष्मी की कहानियां: रितु कभी-कभी अपने मम्मा-पापा को घर बदलने के लिए कहती, “पापा, हम यहां क्यों रहते हैं? चलो, कहीं अच्छी जगह चलते हैं। इस गांव में तो कोई भी सुविधा नहीं है, न कोई ढंग की दुकान।” पापा की जगह अकसर मम्मा जवाब देते, ” बेटा, हमने बड़ी मेहनत से घर बनाया है। […]