googlenews
Yoga
Try This yoga to correct body posture

Yoga: बैड बॉडी पॉश्चर आज के समय में एक बेहद ही आम समस्या है। जब आप उठते-बैठते समय अपने बॉडी पॉश्चर का ध्यान नहीं रखते हैं तो इससे कमर दर्द से लेकर गर्दन में दर्द आदि की समस्या शुरू हो जाती है। कुछ लोगों का तो बैड बॉडी पॉश्चर के कारण झुककर ही चलना शुरू हो जाते हैं। आमतौर पर, यह समस्या उन लोगों में अधिक देखी जाती है, जो डेस्क जॉब में होते हैं, क्योंकि उन्हें लंबे समय तक अपनी सीट से चिपके रहना पड़ता है। ऐसे में उनका बॉडी पॉश्चर अक्सर गड़बड़ा जाता है।

इस स्थिति में अपने बॉडी पॉश्चर को करेक्ट करने के लिए ना केवल शरीर को लगातार मूव करते रहने की आवश्यकता होती है, बल्कि इसके लिए आप कुछ योगासनों का सहारा भी ले सकते हैं। यह योगासन आपकी बॉडी को अधिक फ्लेक्सिबल बनाते हैं, जिससे बॉडी पॉश्चर भी सही होता है। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे योगासनों के बारे में बता रहे हैं, जो बॉडी पॉश्चर को करेक्ट करने में आपकी मदद कर सकते हैं-

बॉडी पॉश्चर को करेक्ट करने के लिए करें बालासन

Yoga
Balasan

बालासन एक बेहद ही आसान योगासन है, जो बॉडी पॉश्चर को करेक्ट करने के साथ-साथ गर्दन, पीठ और मांसपेशियों के दर्द आदि से भी राहत दिलाता है। इतना ही नहीं, मानसिक तनाव को दूर करने के लिए भी इस आसन को प्रभावी माना गया है-

  • सबसे पहले मैट बिछाकर अपनी एड़ियों पर बैठ जाएं।
  • इस दौरान आपके कूल्हे एड़ी पर हों।
  • अब आगे की ओर झुकना शुरू करें और माथे को जमीन पर लगाएं।
  • ध्यान दें कि आगे की ओर झुकते हुए आपके हाथ भी आगे की ओर जाएंगे और यह आपके सिर से थोड़ा आगे होंगे।
  • कुछ देर तक आप इसी अवस्था में रूकें और श्वास सामान्य रूप से लें।
  • अब धीरे-धीरे पहले की स्थिति में लौट आएं।
  • आप यथाशक्ति इस आसन का अभ्यास कर सकते हैं।

बॉडी पॉश्चर को करेक्ट करने के लिए करें त्रिकोणासन

Yoga
Trikonasana

त्रिकोणासन एक ऐसी योग स्थिति है जो आपकी रीढ़, जांघों के अंदरूनी हिस्से, पेट और साइड की मसल्स को स्ट्रेच करती हैं और उसे मजबूती प्रदान करती है। इतना ही नहीं, पीठ दर्द के लिए भी इसे एक बेहतरीन आसन माना गया है। अपने बॉडी पॉश्चर को इंप्रूव करने के के लिए आप इस आसन का अभ्यास कर सकते हैं-

  • सबसे पहले पैरों को फैलाकर सीधे खड़े हो जाएं, इस दौरान पैरों के बीच करीब 3-4 फीट की दूरी होनी चाहिए।
  • अब अपने दोनों हाथों को भी फैलाएं।
  • अब बाईं तरफ झुकें और जमीन को टच करने का प्रयास करें। ध्यान दें कि इस दौरान दोनों हाथ एक सीध में होने चाहिए।
  • कुछ क्षण इस अवस्था में रूकें और फिर धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में लौट आएं।
  • अब दूसरी साइड से भी यही एक्सरसाइज करें।
  • इस तरह आप दोनों तरफ से इस एक्सरसाइज को करीबन 10-15 बार दोहराएं।

बॉडी पॉश्चर को करेक्ट करने के लिए करें धनुरासन

Yoga
Dhanurasana

धनुरासन एक ऐसा आसन है तो कमर दर्द से राहत दिलाने के साथ-साथ मसल्स और हड्डियों की फ्लेक्सिबिलिटी को बेहतर बनाता है, जिसके कारण आपके बॉडी पॉश्चर को बेहतर बनाने में मदद मिलती है। साथ ही साथ, यह वजन कम करने के साथ-साथ शरीर को टोन करने में भी मदद करता है-

  • इस आसन का अभ्यास करने के लिए सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं।
  • अब अपने घुटनों को हल्का मोड़ना शुरू करें और अपने हाथ से दोनों टखनों को पकड़ें।
  • अब धीरे-धीरे अपने सिर, छाती और जांघ को ऊपर की ओर उठाएं।
  • जितना संभव हो सके, आप पैरों को पकड़कर आगे की ओर शरीर को खींचने का प्रयास करें।
  • कुछ सेकंड्स के लिए इसी अवस्था में रूकें।
  • अंत में, धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में लौट आएं।
  • इस दौरान शरीर को झटका ना दें। साथ ही, पेट दर्द व सिर दर्द की समस्या है तो ऐसे में आप इस आसन का अभ्यास ना करें।

बॉडी पॉश्चर को करेक्ट करने के लिए करें उत्कटासन

Yoga
Utkatasana

यह आसन वास्तव में पीठ और पैरों की मांसपेशियों को मजबूत करता है। यह कंधों पर भी काम करता है, जिससे बैड पॉश्चर को करेक्ट करने में मदद मिलती है।

  • इस आसन का अभ्यास करने के लिए सबसे पहले योग मैट पर सीधे खड़े हो जाएं।
  • अब अपने दोनों पैरों को फैला लें ताकि दोनों पैरों के बीच हल्का गैप हो जाए।
  • दोनों हाथों को आगे की तरफ फैलाएं।
  • इस दौरान आपके दोनों हाथ सीधे रहें और कोहनियां मुड़ी हुई ना हों।
  • अब अपने घुटनों को धीरे-धीरे मोड़ें और बॉडी को इस कुर्सी की शेप में बैठ जाएं।
  • इस दौरान हाथ एकदम सीधे रहेंगे। कुछ देर तक इसी अवस्था में रूकें।
  • इसके बाद, सामान्य स्थिति में रूकें।

बॉडी पॉश्चर को करेक्ट करने के लिए करें नौकासन

Yoga
Navasana

नौकासन एक ऐसा आसन है, जो पेट की चर्बी व कमर दर्द को कम करने में मददगार है। साथ ही यह पीठ, पैर, कमर और पेट की मांसपेशियों के लिए भी बेहद अच्छा माना जाता है।

  • इस आसन का अभ्यास करने के लिए सबसे पहले पीठ के बल पर लेट जाएं।
  • अब अपने दोनों पैरों को एकसाथ आपस में मिलाएं।
  • अब, लंबी गहरी सांस लें और सांस को छोड़ते हुए अपने शरीर को हाथ, पैर, छाती व सिर आदि को उठाएं।
  • इस दौरान हाथ व पैरों को एकदम सीधे रखें।
  • नौकासन का अभ्यास करते समय आपके घुटने मुड़े हुए नहीं होने चाहिए।
  • पैरों को आप इतना उठाएं कि आपके पेट में कोई खिंचाव ना हो।
  • कुछ देर तक इसी अवस्था में रूके और फिर वापिस सामान्य स्थिति में लौट आएं।

Leave a comment